May 12, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

विभावनी भोर

1 min read 2

विभावनी भोर गोधूलि सी आज हुई भोर,आसमान में छाये बादल।घुमड़ -घुमड़ घनघोर,बरस रहा है अमृत जल। अंधकार मिटा कर,नन्हीं नन्हीं...