July 25, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

साहित्य जगत

1 min read

स्वतन्त्रता सेनानी, अमर शहीद श्रीदेव सुमन नभ में हैं सेसी किरणें, तम धरा का जो मिटा लेती हैं। मानव में...

रात भर मुझको सोचना छोड़ो। दिन में ख्वाबों को देखना छोड़ो।। दूर ही दूर होते जाओगे। दरमियां कुछ तो फासला...