May 16, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

Lat-Saap

1 min read

"लाट-साप" मैं होता,किसी देश का राजा।ठाठ बाठ से रहता।।दिनभर की,चिलचिली धूप में।क्यों कर भागा फिरता।। होती रानी संग पटरानी,बाग बगीचे...