September 26, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

दीनदयाल बंधु

1 min read

अपड़ा-हाल अपड़ा हाल देखि, ज्यू-ज्यान खिजणूं च. कोच यो, जो मीं-भलु आदिम बोल़णूं च.. बचपना आंडि- बांडि, बुढापा तक चलीं,...

1 min read

एक-दिन बक्त फरि- कमयूं पैंसा, खरचण पोड़द. ये जीवन छैंद- वीं पैंसा, बरतण पोड़द. निलै- निखै जीवन, मस्स-मसिकि जांद, जंक-...

1 min read

रखड़ि त्युहार रखड़ि धागु-प्यार कु धागु, कच्चु न पड़णीं दे. जल्मभरा भै-भैंण्यूं प्यार, फल्णी-फुलणीं दे.. सालौं-साल मनाण हमन, प्रेम-प्यार-त्योहार, बाप-दादौं...

1 min read

चौकिदार हम एक-हैंका जिंदगी, चौकिदार छवां. भला- बुरा कामौं का, भागीदार छवां.. कबि-फुसल्याणा, कबि छुपांणा रंदवां, दुतर्फि मार कर्दवां, कत्गा...