May 12, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

गढ़वाली गजल

1 min read

कोरोना से उपजी परिस्थितियों को लेकर इस गजल-बगत कनु यु सगत आई, की रचना उत्तराखंड के मदन ढुकलान ने की।...

1 min read

ब्यो-काजा लग्न गुम- सुम हुयूं सरग, न बरखणूं- अखरणूं च, चौदिसौं बुजिना लग्यां, न सरकणूं-फरकणूं च.. दिनम चुड़ापटी घाम, ब्यखुनिदां...

1 min read

लेखणु-पढ़णु लेखि- पैड़िक - मनखि, उतीरण-ह्वे जांद. सीखि-सीखी, काम-काजा परवीण-ह्वे जांद.. पढ़णा-लेखड़ा कि बल, क्वी उमर नि हूंदि. पुस्तैनी हुनर...