Loksaakshya Social

Social menu is not set. You need to create menu and assign it to Social Menu on Menu Settings.

Social menu is not set. You need to create menu and assign it to Social Menu on Menu Settings.

December 1, 2022

बीजेपी के नेताओं की सीबीआइ जांच की मांग को लेकर यूकेडी चलाएगी अभियान, नेता करेंगे प्रदेश भ्रमण

1 min read

उत्तराखंड क्रांति दल प्रदेश के विभिन्न मुद्दों को जल्द जनजागरण अभियान चलाएगा। साथ ही जनता से संवाद किया जाएगा और बीजेपी के नेताओं की सीबीआइ जांच कराने की मांग उठाई जाएगी। इसके लिए प्रदेश भर में यूकेडी नेता भ्रमण करेंगे। ये बात आज उक्रांद के पूर्व अध्यक्ष एवं वर्तमान संरक्षक त्रिवेंद्र सिंह पंवार ने केंद्रीय कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में कही। (खबर जारी, अगले पैरे में देखिए)

उन्होंने कहा कि राज्य के हालत अत्यंत चिंताजनक बने हुए हैं। राज्य में अंकिता हत्याकांड एवं भर्ती घोटाले में बड़े रसूखदारों को सरकार बचा रही है। इसी कारण सरकार सीबीआइ जांच कराने के लिए सरकार पीछे हट रही है। हम उत्तराखंड के व्यापारियों और जनता का आभार व्यक्त करते हैं कि उन्होंने उत्तराखंड क्रांति दल के आह्वान पर अपने प्रतिष्ठानों को बंद रखा। बंद पूर्णता सफल रहा और भविष्य में उक्रांद सभी वर्गों से संवाद कर व्यापक कार्यक्रम करने जा रहा है। (खबर जारी, अगले पैरे में देखिए)

उन्होंने बताया कि इसके लिए जल्द ही पार्टी की बैठक बुलाई जाएगी और उसमें भविष्य की रणनीति तय की जाएगी। राज्य में बढ़ती बेरोजगारी और राज्य की बिगड़ती कानून व्यवस्था एवं भारतीय जनता पार्टी के नेताओं की सीबीआइ जांच की मांग को लेकर एक जनजागरूकता अभियान संपूर्ण प्रदेश में चलाया जाएगा। इसके लिए दल के नेता प्रदेशभर का भ्रमण करेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य में राष्ट्रीय पार्टियों ने उत्तराखंड को लूट का उपनिवेश बना कर रख दिया है। (खबर जारी, अगले पैरे में देखिए)

अंकिता हत्याकांड पर दल के वरिष्ठ नेता एवं निवर्तमान कार्यकारी अध्यक्ष सुरेंद्र कुकरेती ने कहा कि हम हर हाल में अंकिता को न्याय दिलाएंगे। उत्तराखंड में इस प्रकार की घटनाओं की पुनरावृति ना हो, इसके लिए उक्रांद ऐसे लोगों को चिह्नित करेगा, जो यहां पर अनैतिक कार्य कर उत्तराखंड को बदनाम कर रहे हैं। यह घटना उत्तराखंड के माथे पर कलंक है। हम पुलिस को भी सुझाव देते हैं कि केवल सत्ता के दबाव में काम नहीं करना चाहिए। काबिल आइपीएस अधिकारियों को स्वतंत्र रूप से काम करके इस घटना की पूर्ण सच्चाई की चार्ट शीट न्यायालय और जनता के सामने रखनी चाहिए। (खबर जारी, अगले पैरे में देखिए)

उन्होंने कहा कि यदि उत्तराखंड के पुलिस अधिकारी इस मामले में लीपापोती करते हैं तो उनको उत्तराखंड की जनता के गुस्से का खामियाजा भुगतना पड़ेगा। प्रेसवार्ता में जयप्रकाश उपाध्याय, प्रमिला रावत, लताफत हुसैन, रेखा मिंया, केन्द्रपाल तोपवाल, विजय बौड़ाई, किरण रावत, शोभन सिंह सजवान, शिवप्रसाद सेमवाल आदि उपस्थित रहे।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.