Loksaakshya Social

Social menu is not set. You need to create menu and assign it to Social Menu on Menu Settings.

Social menu is not set. You need to create menu and assign it to Social Menu on Menu Settings.

September 30, 2022

श्रीकृष्ण जन्माष्टमीः पुलिस लाइन में सांस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम, जानिए कृष्ण के 108 नाम, मंदिरों में सजावट, आलोक मलासी और संगीता ढौंडियाल की आवाज में सुनें भजन

1 min read

भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव दो दिन मनाया जा रहा है। कई स्कूलों के साथ ही अधिकांश मंदिरों में कल ही जन्माष्टमी मना ली गई। देर रात तक श्रीकृष्ण का जन्म होने से सांस्सृतिक कार्यक्रम आयोजित किए गए। देहरादून स्थित पुलिस लाइन में रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों ने समा बांध दिया। मोहल्लों के मंदिरों में भी विशेष तरह की सजावट की गई। इसके साथ ही छोटे बच्चों की राधा और कृष्ण के रूप में झांकिया सजाई गई। इस बार जहां कई लोगों ने कल व्रत रखा तो वहीं आज भी कई लोग व्रत रख रहे हैं। सरकार की ओर से सार्वजनिक अवकाश आज 19 अगस्त का घोषित किया गया है। (खबर जारी, अगले पैरे में देखिए)

 

पुलिस लाइन देहरादून में राज्यपाल और सीएम धामी ने किया प्रतिभाग
गुरुवार को पुलिस लाइन, देहरादून में आयोजित श्रीकृष्ण जन्माष्टमी उत्सव कार्यक्रम में राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल (से.नि) गुरमीत सिंह ने बतौर मुख्य अतिथि एवं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बतौर विशिष्ट अतिथि प्रतिभाग किया। कार्यक्रम के दौरान कलाकारों द्वारा भगवान कृष्ण और राधा पर आधारित गीतों को प्रस्तुत किया गया जिसने पूरे वातावरण को भक्तिमय कर दिया। इस मौके पर छोटे बच्चों ने कृष्ण और राधा पर आधारित नृत्य प्रस्तुत किए। (खबर जारी, अगले पैरे में देखिए)

 

कलाकारों को किया सम्मानित
कार्यक्रम की शुरुआत में राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने लोक कलाकारों को स्मृति चिह्न तथा शॉल भेंट कर लोक कला के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए उन्हें सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के दौरान पुलिस महानिदेशक उत्तराखंड अशोक कुमार ने राज्यपाल तथा मुख्यमंत्री को रुद्राक्ष का पौधा भेंट कर उनका आभार व्यक्त किया गया। इस दौरान राज्यपाल ने कहा कि श्रीकृष्ण जन्मोत्सव हमारे लिए सदैव एक उत्साह, आनंद, प्रेरणा और उमंग लेकर आता है। भगवान श्रीकृष्ण का जीवन चरित्र, व्यक्तित्व और उनके उपदेश हमें अलौकिक मार्ग दिखाते हैं। उन्होंने कहा की पुलिस प्रशासन का यह एकमात्र त्यौहार होता है जिसे काफी बेहतर तरीके से मनाया जा रहा है। पुलिस प्रशासन 24 घंटे जनता की सेवा में तत्पर रहती है और आज उनके के लिए यह त्योहार महत्वपूर्ण होता है। (खबर जारी, अगले पैरे में देखिए)

 

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कृष्ण जन्माष्टमी की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि भगवान श्री कृष्ण का प्रत्येक अवतार मनुष्य को जीवन जीने कि नई सीख देता है। भगवान श्री कृष्ण की प्रेरणा मनुष्य को सफल एवं समृद्धि बनाती है। उन्होंने कहा जब-जब धर्म की हानि हुई भगवान श्री कृष्ण ने विभिन्न अवतारों में धर्म एवं संसार की रक्षा की है। (खबर जारी, अगले पैरे में देखिए)

 

सांस्कृतिक कार्यक्रमों ने मोहा मन
कार्यक्रम का शुभारंभ मधुकर कला मंच देहरादून के कलाकारों द्वारा गणेश जी की वंदना से किया गया। कार्यक्रम के दौरान देहरादून के एसएसपी दिलीप सिंह कुँवर ने श्याम तेरी बंसी पुकारे राधा नाम भजन गाकर उपस्थित दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया गया। इस दौरान प्रियंका महर, (लोक गायिका), श्री किशन महिपाल ( लोक गायक), व अन्य कलाकारों द्वारा विभिन्न रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम उपस्थित दर्शकों का मनोरंजन किया। (खबर जारी, अगले पैरे में देखिए)

 

ये रहे उपस्थित
कार्यक्रम में प्रथम महिला गुरमीत कौर, पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’, कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद्र अग्रवाल, कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी, राज्यसभा सांसद नरेश बंसल, मेयर सुनील उनियाल गामा, मेयर ऋषिकेश अनिता ममगाई , विधायक खजान दास, विधायक मुन्ना सिंह चौहान, विधायक सविता कपूर, विधायक खजान दास, श्रीमती गीता धामी, डीजीपी अशोक कुमार एवं अन्य लोग मौजूद रहे। (खबर जारी, अगले पैरे में देखिए)

 

आलोक मलासी और संगीता ढोंडियाल की आवाज में सुनिए शानदार भजन
भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव के मौके पर उत्तराखंड के जाने माने कलाकार आलोक मलासी और संगीता ढौंडियाल की आवाज में कृष्ण जन्माष्टमी भजन सुनिए। ‘गोपी बल्लभम’ भजन के मुख्य कलाकारों में एसपी ममगाईं, गोविंद थपलियाल, चंद्रकांता मलासी हैं। इस गीत को यू ट्वयूब में 18 अगस्त को रिलीज किया गया है। देखें वीडियो-

पृथ्वीनाथ महादेव मंदिर में भव्य कार्यक्रम आयोजित
जन्माष्टमी के शुभ अवसर पर सहारनपुर चौक स्तिथ पृथ्वीनाथ महादेव मंदिर में भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस पुनीत अवसर पर मंदिर के सेवादारों ने अनेक जीवांत झांकियां बनाई। इसमें कई मनमोहक दृश्य प्रस्तुत किए गए। इसका श्रद्धालुओ की भारी भीड़ ने दर्शन कर धर्म लाभ उठाया।

इस अवसर पर विशेष रूप से उपस्तिथित अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष 1008 महाराज रविंद्र पुरी भी स्वयं उपस्थित रहे। इस अवसर पर उत्तराखंड पिछड़ा वर्ग आयोग के पूर्व अध्यक्ष अशोक वर्मा, आंदोलनकारी मंच के जिला अध्यक्ष प्रदीप कुकरेती, महादेव मंदिर के सेवादल के प्रमुख सेवादार संजय गर्ग और अन्य लोगों ने प्रसाद वितरण कार्यक्रम में हिस्सा लिया। साथ ही महाराज से आशीर्वाद प्राप्त किया। (खबर जारी, अगले पैरे में देखिए)

 

भगवान श्रीकृष्ण के हैं 108 नाम
इस बार जन्माष्टमी का पर्व 18 को मनाया गया और कई लोग आज 19 अगस्त को भी मना रहे हैं। इस दिन भगवान कृष्ण के बाल रूप की पूजा की जाती है। कहा जाता है कि इस दिन भगवान कृष्ण के सभी नामों का जाप करने से भक्तों की हर कामना पूरी होती। उनके कष्ट मिट जाते हैं। भक्तों के हर सपने पूरे होते हैं। जो दंपत्ति संतान चाहते हैं। उन्हें जन्माष्टमी व्रत के दिन कृष्ण के नामों का जाप करना चाहिए। उत्तम फल मिलता है। यहां हम भगवान श्रीकृष्ण के 108 नाम बता रहे हैं।
श्री कृष्ण के 108 नाम
कृष्ण
वासुदेव
वसुदेवात्मज
सनातन
कमलनाथ
यशोदावत्सल
लीलामानुष विग्रह
सङ्खाम्बुजा युदायुजाय
पुण्य
हरि
चतुर्भुजात्त चक्रासिगदा
श्रीवत्स कौस्तुभधराय
देवाकीनन्दन
श्रीशाय
पूतना जीवित हर
यमुनावेगा संहार
बलभद्र प्रियनुज
नन्दगोप प्रियात्मज
नवनीतनटन
नन्दव्रज जनानन्दिन
सच्चिदानन्दविग्रह
नवनीत विलिप्ताङ्ग
शकटासुर भञ्जन
मुचुकुन्द प्रसादक
अनन्त
त्रिभङ्गी
मधुराकृत
शुकवागमृताब्दीन्दवे
षोडशस्त्री सहस्रेश
योगीपति
वत्सवाटि चराय
गोविन्द
धेनुकासुरभञ्जनाय
तृणी-कृत-तृणावर्ताय
यमलार्जुन भञ्जन
उत्तलोत्तालभेत्रे
तमाल श्यामल कृता
गोप गोपीश्वर
यदूद्वहाय
कोटिसूर्य समप्रभा
इलापति
गोवर्थनाचलोद्धर्त्रे
यादवेंद्र
योगी
निरञ्जन
पीतवससे
पारिजातापहारकाय
परंज्योतिष
गोपाल
सर्वपालकाय
मथुरानाथ
वनमालिने
कामजनक
कञ्जलोचनाय
मधुघ्ने
अजाय
द्वारकानायक
बलि
बृन्दावनान्त सञ्चारिणे
कुब्जा कृष्णाम्बरधराय
स्यमन्तकमणेर्हर्त्रे
नरनारयणात्मकाय
तुलसीदाम भूषनाय
मायिने
परमपुरुष
मुष्टिकासुर चाणूर मल्लयुद्ध विशारदाय
संसारवैरी
कृष्णाव्यसन कर्शक
मुरारी
नाराकान्तक
अनादि ब्रह्मचारिक
कंसारिर
शिशुपालशिरश्छेत्त
दुर्यॊधनकुलान्तकृत
विश्वरूपप्रदर्शक
विदुराक्रूर वरद
सत्यवाचॆ
सत्य सङ्कल्प
सत्यभामारता
जयी
सुभद्रा पूर्वज
विष्णु
भीष्ममुक्ति प्रदायक
जगद्गुरू
जगन्नाथ
वॆणुनाद विशारद
वृषभासुर विध्वंसि
बाणासुर करान्तकृत
युधिष्ठिर प्रतिष्ठात्रे
बर्हिबर्हावतंसक
पार्थसारथी
अव्यक्त
गीतामृत महोदधी
कालीयफणिमाणिक्य रञ्जित श्रीपदाम्बुज
दामॊदर
परब्रह्म
दानवॆन्द्र विनाशक
नारायण
यज्ञभोक्त
पुण्य श्लॊक
जलक्रीडा समासक्त गॊपीवस्त्रापहाराक
पन्नगाशन वाहन
सर्वग्रहरुपी
वॆदवॆद्या
दयानिधि
परात्पराय
तीर्थकरा
सर्वभूतात्मका

Leave a Reply

Your email address will not be published.