Loksaakshya Social

Social menu is not set. You need to create menu and assign it to Social Menu on Menu Settings.

Social menu is not set. You need to create menu and assign it to Social Menu on Menu Settings.

October 3, 2022

सावन के अंतिम सोमवार को राजस्थान के खाटू श्यामजी मंदिर में भगदड़, तीन लोगों की मौत

सावन के अंतिम सोमवार को जहां शिवालयों में सुबह से ही जलाभिषेक के लिए लोगों की भीड़ उमड़ रही है। वहीं, राजस्थान के सीकर जिले में एक दुखद खबर आई। सीकर जिले में स्थित खाटू श्यामजी मंदिर में भगदड़ मचने के कारण तीन लोगों की मौत हो गई है। इस हादसे में दो लोग घायल बताए जा रहे हैं। मंदिर में आज सुबह 5 बजे के करीब एक मासिक मेले के दौरान ये भगदड़ मची। घायलों को जयपुर के अस्पताल में रेफर कर दिया गया है। मौके पर पुलिस मौजूद है और हालातों को काबू करने में लगी हुई है। (खबर जारी, अगले पैरे में देखिए)

खाटू श्यामजी मंदिर राजस्थान के सबसे महत्वपूर्ण तीर्थ स्थलों में से एक माना जाता है और हर साल लाखों की संख्या में लोग इस मंदिर में आते हैं। ये मंदिर बेहद ही सुंदर है और यहां पूजा के लिए एक बड़ा हॉल है, जिसे जगमोहन के नाम से जाना जाता है। आज चंद्र कैलेंडर का 11वां दिन खाटू श्याम जी के दर्शन के लिए शुभ माना जाता है, जिन्हें भगवान कृष्ण का अवतार माना जाता है। (खबर जारी, अगले पैरे में देखिए)

पुलिस के अनुसार सुबह करीब पांच बजे मंदिर के प्रवेश द्वार पर भगदड़ मच गई। मंदिर के बाहर फाटक खुलने का इंतजार करने के लिए भारी भीड़ जमा थी। जैसे ही गेट खुला और अंदर आने की कोशिश में एक महिला कथित तौर पर बेहोश हो गई और गिर गई। इसके कारण उसके पीछे के अन्य लोग भी गिर गए। इस हादसे में तीन महिलाओं की जान चली गई और दो घायल हैं। सीकर के पुलिस एसपी कुंवर राष्ट्रदीप ने एनडीटीवी को बताया कि स्थिति नियंत्रण में है और भीड़ को नियंत्रित किया जा रहा है। (खबर जारी, अगले पैरे में देखिए)

वहीं इस हादसे पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने दुख जताया है। अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि भगदड़ में कई श्रद्धालुओं की मृत्यु हृदय विदारक है। ईश्वर दिवंगत आत्माओं को शांति प्रदान करें। शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं। घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की प्रार्थना है। सभी श्रद्धालुओं से विनम्र आग्रह है कि संयम बनाए रखें। प्रशासन त्वरित गति से राहत अभियान चलाएं। श्रद्धालू स्थिति को नियंत्रित करने में प्रशासन का सहयोग करें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.