Loksaakshya Social

Social menu is not set. You need to create menu and assign it to Social Menu on Menu Settings.

Social menu is not set. You need to create menu and assign it to Social Menu on Menu Settings.

August 9, 2022

जी टीवी के एंकर, सांसद सहित कई के खिलाफ मुकदमा, राहुल गांधी के बयान को लेकर ऐसे फैलाया झूठ

1 min read
कमाल के चैनल हैं। जो कुछ भी कर सकते हैं। एक बार कर दिया और फिर माफी मांग लो। इनकी करनी से जो एक बार झूठ का प्रचार हो जाता है, उससे सवाल उठता है कि क्या माफी ही समाधान है। हास्य कवि सुरेंद्र शर्मा की मौत का समाचार एक चैनल ने चला दिया।

कमाल के चैनल हैं। जो कुछ भी कर सकते हैं। एक बार कर दिया और फिर माफी मांग लो। इनकी करनी से जो एक बार झूठ का प्रचार हो जाता है, उससे सवाल उठता है कि क्या माफी ही समाधान है। हास्य कवि सुरेंद्र शर्मा की मौत का समाचार एक चैनल ने चला दिया। इस पर सुरेंद्र शर्मा को वीडियो जारी कर खुद के जिंदा होने का सबूत पेश किया गया। वहीं, अब देखिए कि एक विशेष दल के प्रचार प्रसार को लेकर इन चैनलों में इतना उत्साह दिखा कि राहुल गांधी के किसी परिपेक्ष्य में दिए गए बयान को उदयपुर की घटना से जोड़ दिया। टीवी में बहस चला दी।
दरअसल हुआ यूं कि शुक्रवार को राहुल गांधी अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड पहुंचे हुए थे, जहां उन्होंने अपने कार्यालय का दौरा किया। इस कार्यालय में माकपा की छात्र इकाई एसएफआई के कार्यकर्ताओं की ओर से हाल में बफर जोन के मुद्दे पर तोड़फोड़ की गई थी। हमलावरों को लेकर पूछे जाने पर राहुल गांधी ने एसएफआई कार्यकर्ताओं के इस कृत्य को ‘गैर जिम्मेदाराना’ करार दिया।
उन्होंने साफ किया कि हिंसा कभी भी समस्याओं का समाधान नहीं करती है और उनके मन में उनके (तोड़फोड़ करने वालों के) प्रति कोई क्रोध या शत्रुता नहीं है। उन्होंने कहा कि देश में आप सर्वत्र जो विचार देखते हैं वह यह है कि हिंसा से समस्याएं हल हो जाएंगी। लेकिन हिंसा कभी समस्याओं का हल नहीं करती है। ऐसा करना अच्छी बात नहीं है। उन्होंने गैर-जिम्मेदाराना ढंग से काम किया। लेकिन मेरे मन में उनके प्रति कोई गुस्सा या शत्रुता का भाव नहीं है। इस दौरान उन्होंने हमलावरों के लिए कहा कि मैं उन्हें बच्चा समझता हूं। जिन लड़कों ने उनके ऑफिस में तोड़-फोड़ की वो बच्चे हैं। ये अच्छा नहीं है, लड़कों ने गैर-जिम्मेदाराना हरकत की है।
इनके खिलाफ मुकदमा दर्ज
कांग्रेस नेता राहुल गांधी के वायनाड वाले बयान को उदयपुर की घटना से जोड़कर पेश किए जाने के मामले में ज़ी टीवी के एंकर रोहित रंजन, बीजेपी के सांसद और राष्ट्रीय प्रवक्ता राज्यवर्धन राठौड़, सेना के मेजर सुरेन्द्र पूनिया और उत्तर प्रदेश के विधायक कमलेश सैनी समेत कई अन्य व्यक्तियों के खिलाफ शनिवार रात मामला दर्ज किया गया है। जयपुर के बनीपार्क थाने में कांग्रेस नेता राम सिंह ने भारतीय दंड संहिता की धारा 504, 505, 153ए, 295ए, 120बी आईपीसी तथा आईटी एक्ट 2000 की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज करवाया गया है।
बयान को गलत तरीके से प्रसारित किया
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा चैनल की आलोचना करने के कुछ घंटों के बाद मामला दर्ज कराया गया। शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि एंकर रोहित रंजन ने अपने शो डीएनए में राहुल गांधी के एक बयान को गलत तरीके से प्रसारित किया। राहुल गांधी ने अपने निर्वाचन क्षेत्र केरल के वायनाड के कार्यालय में तोड़फोड़ के संदर्भ में बयान दिया था, जबकि इसे उदयपुर की घटना से जोड़ा गया। उदयपुर में एक दर्जी की दो लोगों ने मंगलवार को चाकू से हमला कर नृशंस हत्या कर दी थी।
उन्होंने कहा कि मीडिया समूह द्वाराल ऐसी हरकत सांसद राज्यवर्धन राठौड़, सेना के मेजर सुरेन्द्र पूनियां, कमलेश सैनी के साथ एक साजिश के तहत किया गया था। उन्होंने राजनीतिक लाभ लेने और लोगों की भावनाओं को भड़काने के लिए क्लिप को ट्विटर पर साझा किया था। इससे पहले दिन में मुख्यमंत्री ने गलत रिपोर्ट प्रसारण करने के लिए चैनल की आलोचना करते हुए कहा था कि चैनल ने राहुल गांधी की वायनाड की घटना के बयान को गलत तरीके से उदयपुर की घटना से जोड़ा।
राहुल ने कही थी ये बात
सीएम गहलोत ने कहा कि राहुल गांधी ने उनके वायनाड स्थित ऑफिस में हुई तोड़फोड़ के आरोपियों के बारे में कहा था कि वे बच्चे हैं, उन्हें माफ कर देना चाहिये, लेकिन ज़ी टीवी ने चला दिया कि उदयपुर में जिन्होंने कत्ल किया है उनके बारे में राहुल गांधी कह रहे हैं कि बच्चे हैं। इनको माफ कर देना चाहिए।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.