Loksaakshya Social

Social menu is not set. You need to create menu and assign it to Social Menu on Menu Settings.

Social menu is not set. You need to create menu and assign it to Social Menu on Menu Settings.

August 9, 2022

आपका बिल जमा नहीं हुआ, रात को कट जाएगी बिजली, ऐसे मैसेज हो जाइए सावधान, हो जाओगे ठगी के शिकार

1 min read
प्रिय उपभोक्ता। आज रात साढ़े नौ बजे बिजली ऑफिक की ओर से आपकी बिजली कटने जा रही है। कारण ये है कि आपने मासिक बिल अपडेट नहीं है। कृपया जल्दी इस नंबर 8536848548 बिजली अधिकारी से संपर्क करें।

प्रिय उपभोक्ता। आज रात साढ़े नौ बजे बिजली ऑफिक की ओर से आपकी बिजली कटने जा रही है। कारण ये है कि आपने मासिक बिल अपडेट नहीं है। कृपया जल्दी इस नंबर 8536848548 बिजली अधिकारी से संपर्क करें। ये व्हाट्सएप मैसेज आज सोमवार 27 जून को मेरे मोबाइल पर पर आया। इसे भेजने वाले का मोबाइल नंबर 7576040807 है। ऐसा ही एक संदेश इसके करीब एक माह बाद मोबाइल नंबर 9827708945 से आया। समाचार बनने के बाद अब जागरूक उभोक्ता भी मुझे ऐसे मैसेज सेंड कर रहे हैं। इसी तरह का एक अन्य मैसेज एक और उपभोक्ता को आया। उसे भेजने वाले का मोबाइल नंबर-9883956469 था। बाकी भीतर संदेश उसी तरह का था, जो मुझे भेजा गया था। यानि कि ऐसे मैसेज कई नंबरों से लोगों को भेजे जा रहे हैं। ये तो बस एक उदाहरण है। ऐसे मैसेज लोगों के मोबाइल पर टैक्स्ट मैसेज के जरिये भी भिन्न भिन्न नंबरों पर आ रहे हैं। साथ ही उपभोक्ताओं की टेंशन भी बढ़ रही है। ऐसे संदेश से आप सावधान हो जाइए। गलती से भी कहीं, इन नंबरों पर आप संपर्क कर समस्या का निदान कराने का प्रयास करेंगे तो हो सकता है ये फ्राड लोग आपके अकाउंट में सेंधमारी कर देंगे। नहीं तो आपको अपनी बातों से इतना डरा देंगे कि आप इनके झांसे में आ जाओगे और अच्छी खासी रकम गवां बैठोगे। ऐसे में आपको ऐसे किसी भी मैसेज पर जल्दी से विश्वास करने की बजाय पड़ताल करनी चाहिए। साथ ही काम की इस खबर को पढ़ लिया जाए। फिर आप ऐसे मैसेज मिलने पर आगे सचेत रहोगे।
बिजली काटने को लेकर नियम
यदि किसी उपभोक्ता ने समय पर बिजली का बिल नहीं चुकाया तो एक निश्चित अवधि के बाद उसकी बिजली काट दी जाती है। इससे पहले ऊर्जा निगम की ओर से मैसेज उपभोक्ता को दिया जाता है। ऊर्जा निगम की ओर से भेजे जाने वाले मैसेज में बिल नंबर, उपभोक्ता नंबर, बिल की राशि, बिल जमा करने की अंतिम तिथि आदि अंकित रहती है। साथ ही ऐसे संदेश में ना किसी अधिकारी के फोन का नंबर ही लिखा होता है और ना ही किसी का नाम। ऐसे में आप आसानी से फर्जी और असली संदेश की पहचान कर सकते हो।

ऐसे कटती है बिजली
उत्तराखंड ऊर्जा निगम के जीएम (एच आर) अमित कुमार के मुताबिक, बिजली कनेक्शन काटने के फर्जी मैसेज लोगों को मिलने की कई शिकायतें आ चुकी हैं। उपभोक्ताओं को ऐसे किसी भी मैसेज से झांसे में नहीं आना चाहिए। उन्होंने कहा कि बगैर नोटिस के बिजली नहीं काटी जाती है। यदि निश्चित अवधि तक कोई बिल का भुगतान नहीं करता है तो उसे नोटिस दिया जाता है। नोटिस में भी पूरे बिल की डिटेल होती है। साथ ही जब कनेक्शन काटा जाता है तो लाइनमैन घर जाता है। पहले वह उपभोक्ता से बिल दिखाने को कहता है कि उसने भुगतान किया है या नहीं। यदि बिल का भुगतान नहीं किया गया है, तब ही बिजली काटने का प्रावधान है।

फर्जी मैसेज की पहचान
फर्जी मैसेज भेजने वालों की पहचान आप आसानी से कर सकते हैं। क्योंकि ये मैसेज सिर्फ हवाई होते हैं। इसमें ना तो उपभोक्ता का नाम होता है। ना ही उपभोक्ता नंबर, बिल संख्या, बिल तारीख, बिल की अवधि, बिल की राशि आदि का ही जिक्र नहीं होता है। ना ही ये जिक्र होता है कि उक्त बिल किस जिले, राज्य, शहर, डिविजन से संबंधित है।
उत्तराखंड पुलिस से अनुरोध
लोकसाक्ष्य की ओर से उत्तराखंड पुलिस से भी अनुरोध है कि ऐसे फर्जी संदेश में अंकुश लगाने के लिए कुछ एक साइबर ठगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। यदि कुछएक पर कार्रवाई होती है तो लोगों को ठगने से बचाया जा सकेगा। साथ ही लोगों को ऊर्जा निगम और पुलिस की तरफ से जागरूक करने का अभियान भी चलाया जाना चाहिए। आखिर में यही कहा जा सकता है। समाचार पढ़िए। जानकार बनिए और खुद को ठगने से बचाइए। साथ ही दूसरों को जागरूक करिए।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.