July 4, 2022

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

चारधाम में यात्रियों की बढ़ती संख्या के साथ हार्ट अटैक से मरने वालों का बन रहा है रिकॉर्ड

1 min read
उत्तराखंड में चारधाम यात्रा जोरों पर है। यात्रियों की बढ़ती संख्या का रिकॉर्ड भी बन रहा है। साथ ही हार्ट अटैक से मरने वालों की संख्या में बढ़ोत्तरी हो रही है।

उत्तराखंड में चारधाम यात्रा जोरों पर है। यात्रियों की बढ़ती संख्या का रिकॉर्ड भी बन रहा है। साथ ही हार्ट अटैक से मरने वालों की संख्या में बढ़ोत्तरी हो रही है। कारण ये है कि ये चारधाम अत्यधिक ऊंचाई पर हैं। जहां ऑक्सीजन की कमी रहती है। वहीं, बूढ़े लोगों के साथ ही लोग बच्चों को भी इन धामों में ले जा रहे हैं। ऑक्सीजन की कमी से बूढ़े और किसी बीमारी से ग्रसित लोगों का हृदय जवाब दे रहा है। ऐसे में चारों धाम में यात्रा शुरू होने से अब तक 180 लोग हृदय गति रुकने से मर चुके हैं।
अब तक 2158223 श्रद्धालु कर चुके हैं दर्शन
चारधाम में इस बार यात्रियों की संख्या का रिकॉर्ड बन रहा है। इस बार चारधाम में अब तक कुल 2158223 श्रद्धालु पहुंच चुके हैं। श्री बदरीनाथ धाम में कपाट खुलने की तिथि 8 मई से 17 जून की शाम तक 755158 श्रद्धालु दर्शन कर चुके हैं। वहीं, श्री केदारनाथ धाम में कपाट खुलने की तिथि 6 मई से 17 जून की शाम तक 725995 यात्री दर्शन कर चुके हैं। इनमें हेलीकॉप्टर से धाम पहुंचने वालों में 73412 तीर्थयात्री भी शामिल हैं।
गंगोत्री धाम में कपाट खुलने की तिथि 3 मई से 17 जून तक 384194 श्रद्धालु, यमुनोत्री धाम में कपाट खुलने की तिथि 3 मई से 17 जून तक 292916 श्रद्धालु दर्शन कर चुके हैं। चारधाम पहुंचे संपूर्ण तीर्थयात्रियों की संख्या 2158223 है। वहीं, श्री हेमकुंड साहिब व लोकपाल तीर्थ पहुंचे तीर्थयात्रियों की संख्या कपाट खुलने की तिथि 22 मई से 17 जून तक 105364 है।
अब तक 180 की मौत
चारों धाम में अब तक कुल 180 तीर्थ यात्रियों की मौत हो चुकी है। इनमें अधिकांश की हृदयगति रुकने से मौत हुई है। यमुनोत्री में 38, गंगोत्री में 10, केदारनाथ में 84, बदरीनाथ में 42, ऋषिकेश में छह यात्रियों की मौत हो चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page