July 4, 2022

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

बिहार में नीतीश कुमार ने सहयोगी बीजेपी को किया दरकिनार, जातिगत जनगणना को लेकर कर दी घोषणा, विधायकों को फरमान

1 min read
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और बीजेपी के बीच दूरियां भी बढ़ने लगी हैं। अबकी बार उन्होंने सहयोगी बीजेपी को दरकिनार करते हुए जातिगत जनगणना को लेकर नई घोषणा कर दी।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और बीजेपी के बीच दूरियां भी बढ़ने लगी हैं। अबकी बार उन्होंने सहयोगी बीजेपी को दरकिनार करते हुए जातिगत जनगणना को लेकर नई घोषणा कर दी। नीतीश ने सोमवार को कहा है कि उनकी सरकार जल्द ही सभी दलों की राय लेने के बाद जातिगत जनगणना पर काम शुरू करेगी। जाति आधारित जनगणना पर सर्वदलीय बैठक 27 मई को होने की संभावना है।
समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि जातिगत जनगणना को लेकर सभी के विचार जानने के मकसद से हम एक सर्वदलीय बैठक बुलाएंगे। इसके बाद वह प्रस्ताव राज्य कैबिनेट के सामने पेश किया जाएगा। हमने यह बैठक 27 मई को आयोजित करने को लेकर कुछ पार्टियों से बात की है, लेकिन फिलहाल कुछ पार्टियों के जवाब का इंतज़ार है। अंतिम निर्णय हो जाने के बाद प्रस्ताव कैबिनेट के पास जाएगा, और फिर हम काम शुरू कर देंगे। नीतीश कुमार ने कहा कि हमने प्रत्येक पार्टी से बात शुरू कर दी है। सभी सहमत नहीं हैं। हमें उनके जवाब की प्रतीक्षा है।
विधायकों को जारी किया फरमान
बिहार की सियासत में अगले 72 घंटे बहुत अहम है। इस वक्त सबकी नजर नीतीश कुमार के हर कदम पर टिकी हुई है। एक तरफ राज्यसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी बढ़ी हुई है, वहीं नीतीश और तेजस्वी के बीच नजदीकियों को लेकर अटकलों का बाजार गर्म है। खबरों की माने तो नीतीश कुमार ने अपने सभी विधायकों को पटना में रहने का निर्देश दिया है। बताया जा रहा है कि जेडीयू के सभी विधायक अगले 72 घंटे तक पटना में ही रहेंगे। वे राजधानी को छोड़कर बाहर नहीं जा सकते हैं। हालांकि जेडीयू का कोई भी विधायक इसे खुल कर कबूल नहीं कर रहे हैं। पटना में चर्चाओं का बाजार गर्म है।
श्रवण कुमार ने जारी किया बयान
इन सबके बीच बिहार सरकार के मंत्री और जेडीयू के मुख्य सचेतक श्रवण कुमार ने बयान जारी कर कहा है कि इस तरह का निर्देश किसी भी विधायक को नहीं दिया गया है। जो भी खबरें चल रही है वह बेबुनियाद है। उन्होंने कहा कि राज्यसभा चुनाव के लिए विधायकों ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पहले ही अधिकृत कर दिया है, ऐसे में इस तरह का निर्देश जारी करने का कोई मतलब नहीं है। जेडीयू के मुख्य सचेतक श्रवण कुमार के बयान पर भी सवाल उठ रहा है कि जब निर्देश जारी ही नहीं किया गया तो सफाई देने की जरूरत ही क्यों पड़ी। सभी जानते हैं कि सियासत में जो दिखता है वो होता नहीं, जो होता है उसे बताया नहीं जाता।
नीतीश जा रहे हैं नालंदा
खबर ये भी है कि मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नालंदा जा रहे हैं। इसके लिए प्रशासनिक तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। इसके लिए विभागीय लेटर भी जारी कर दिया गया है। हालांकि नीतीश कुमार का नालंदा में किन जगहों पर दौरा होगा, इसका डिटेल कार्यक्रम समाने नहीं आया है, लेकिन माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री वहां गंगा जल परियोजना की स्थिति जानेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page