May 23, 2022

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

उत्तराखंड में पूर्वानुमान हुआ फेल, शाम को बदल गई मौसम की रिपोर्ट, देहरादून में बारिश से राहत

1 min read
मौसम विभाग का मौसम का पूर्वानुमान भी सटीक साबित नहीं हो रहा है। जिस दिन मौसम विभाग कहता है कि मैदानों में बारिश होगी, उस दिन मैदानी क्षेत्र सूखे रह जाते हैं। बारिश न होने के पूर्वानुमान वाले दिन मैदानों में बारिश हो जाती है।

उत्तराखंड में मार्च और अप्रैल माह बारिश के लिहाज से मैदानी क्षेत्र में सूखे निकल गए। वहीं, पर्वतीय जिलों में कभी कभार बारिश जरूर हुई, लेकिन इसे राहत देने वाली बारिश नहीं कहा जा सकता है। ऐसे में कई बार प्रदेश का तापमान 41 डिग्री सेल्सियस से भी अधिक पहुंच गया। तब से ही मौसम विभाग का मौसम का पूर्वानुमान भी सटीक साबित नहीं हो रहा है। जिस दिन मौसम विभाग कहता है कि मैदानों में बारिश होगी, उस दिन मैदानी क्षेत्र सूखे रह जाते हैं। बारिश न होने के पूर्वानुमान वाले दिन मैदानों में बारिश हो जाती है।
इन दिनों उत्तराखंड के पर्वतीय जिलों में अमूमन हर दिन बारिश हो रही है। आज 12 मई को भी पर्वतीय जिलों में पिथौरागढ़ और बागेश्वर में कुछ स्थानों में हल्की से मध्यम बारिश गर्जन के साथ होने की संभावना जताई गई। मौसम विभाग की सुबह दस बजे और दोपहर एक बजे की रिपोर्ट में कहा गया कि आज कुमाऊं के बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिलों में यलो अलर्ट है। इन जिलों में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। वहीं, राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों में भी कहीं कहीं बहुत हल्की से हल्की बारिश हो सकती है। मैदानी क्षेत्र में मौसम शुष्क रहेगा।
देखें दिन की रिपोर्ट

रिपोर्ट के उलट दिखा मौसम
दोपहर की रिपोर्ट का पूर्वानुमान भी गलत साबित हुआ। दोपहर करीब दो बजे से देहरादून सहित अन्य मैदानी क्षेत्र में तेज हवाओं के साथ जोरदार बारिश हुई। ये सिलसिला शाम तक चला। हालांकि देहरादून में पिछले तीन दिन से बारिश हो रही है। इसके तापमान में इजाफा नहीं हो रहा है। हालांकि कुछ उमस जरूर है। बारिश से लोगों ने राहत महसूस की।
बारिश के बाद बदल गया पूर्वानुमान
दोपहर को हुई बारिश के बाद मौसम विभाग का भी पूर्वानुमान बदल गया। गुरुवार शाम पांच बजे की रिपोर्ट में कहा गया है कि पर्वतीय क्षेत्र के कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश गर्जन के साथ हो सकती है। मैदानी क्षेत्रों में भी कहीं कहीं बहुत हल्की से हल्की बारिश हो सकती है। साथ ही गर्जन के साथ ओलावृष्टि, आकाशीय बिजली चमकने, 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से तेज हवाएं चलने की चेतावनी दी गई है। जब तक ये रिपोर्ट आई, तब तक बारिश होने के बाद रुक भी गई। हालांकि बाद में रात आठ बजे से फिर से बारिश शुरू हो गई।
देखें शाम की रिपोर्ट

आगामी मौसम का पूर्वानुमान
राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक, उत्तराखंड में कल 13 मई से 16 मई तक मौसम शुष्क रहने की संभावना है। इस दौरान कहीं कहीं तेज और झोंकेदार सतही हवाएं चलने की संभावना जताई गई है। अब देखते हैं कि मौसम शुष्क होने के बाद लोगों को गर्मी झेलनी पड़ती है। या फिर कहीं से बादल आकर मौसम विभाग के पूर्वानुमान को चुनौती देते हैं। फिलहाल उत्तराखंड में सुबह और शाम के समय मौसम सुहावना बना हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page