October 24, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

अल्पसंख्यकों पर हो रहे हमलों के विरोध में विभिन्न दलों के लोगों ने सीएम से की मुलाकात, की कड़ी कार्रवाई की मांग

1 min read
उत्तराखंड में अल्पसंख्यकों पर हो रहे हमलों के विरोध में विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मुलाकात की। साथ ही दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की।

उत्तराखंड में अल्पसंख्यकों पर हो रहे हमलों के विरोध में विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मुलाकात की। साथ ही दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की। प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने किया। इस मौके पर सीएम ने नियमानुसार कार्रवाई का आश्वासन दिया।
गत मंगलवार देर रात प्रतिनिधिमंडल सीएम आवास पहुंचा और मुख्यमंत्री को ज्ञापन दिया। बताया कि जनपद टिहरी के भागीरथी पुरम में अल्पसंख्यकों के पुरानी मस्जिद पर हमले तथा मारपीट की घटना प्रकाश में आई। यहां पुलिस की भूमिका भी पीड़ितों को परेशान करने वाली रही। इसके साथ ही रुड़की में भी चर्च पर हमला किया गया। उन्होंने अल्पसंख्यकों की सुरक्षा की मांग करते हुए दोषियों को दंडित करने की मांग की। साथ ही पीड़ितों के खिलाफ मुकदमें वापस लेने की मांग की। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने न्यायोचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। प्रतिनिधिमंडल में सपा के प्रदेश अध्यक्ष डाक्टर एसएन सचान, सीपीएम के जिलासचिव राजेन्द्र पुरोहित, संजय पालीवाल याकूब सिध्दकी, डाक्टर योगेम्भर सिंह, यूकेडी के लताफत हुसैन सहित पीड़ित लोग शामिल थे ।
उधर, मसीह समुदाय के लोगों और क्रिश्चन सोलिडेरिटी सोसाइटी के पदाधिकारियों के प्रतिनिधिमंडल ने उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना के साथ राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मुलाकात की। इस मौके पर धस्माना ने मुख्यमंत्री को दो दिन पहले रुड़की के सोनाली पुरम में स्थित चर्च की महिला पास्टर साधना व प्रार्थना कर रहे बारह लोगों पर असमाजिक तत्वों की ओर से किए गए हमले की जानकारी दी।
उन्होंने बताया कि लगभग 150 से 200 की संख्या में लाठी डंडे व लोहे की रॉड लिए हमलावरों ने चर्च की संपत्ति को भारी नुकसान पहुंचाया। उन्होंने कहा कि घटना के दो तीन दिन पहले हमले की आशंका से चर्च के लोगों ने स्थानीय विधायक व संबंधित थाने को भी अवगत करवा दिया था। विधायक ने संबंधित थाने को आगाह करवा दिया था। उसके बावजूद हमला हो गया और नामजद रिपोर्ट लिखवाने के बावजूद कार्रवाई नहीं की गई। उल्टे पीड़ितों के विरुद्ध अब हमलावरों ने रिपोर्ट दर्ज करवा दी।

धस्माना ने मुख्यमंत्री धामी से कहा कि राजधानी में व राज्य के अन्य पर्वतीय जिलों में भी चर्च पर रह रहे लोगों पर हमलों की घटनाओं की सूचनाएं आए दिन मिलती रहती हैं, जो उत्तराखंड जैसे शांत राज्य के लिये शुभ नहीं है। धस्माना ने रूड़की मामले में दोषी हमलावरों के विरुध्द कड़ी कार्यवाही करने की मांग की व राज्य में जिला अधिकारियों व पुलिस प्रमुखों को ऐसे शरारती तत्वों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही के निर्देश देने की मांग की। मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने प्रतिनिधिमंडल को आश्वासन दिया कि अराजक तत्वों के खिलाफ वांछित कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि राज्य में किसी भी वर्ग को भयभीत होने की आवश्यकता नहीं है। प्रतिनिधिमंडल में एच एस राव, हेमंत बैसैक, पादरी विदुश भंडारी, पास्टर हेमंत गुरुंग, पास्टर मंजीत सिंह, पास्टर जुसोन जार्ज, पास्टर दीप राय, पास्टर जेपी सिंह, पास्टर इंदरजीत, पास्टर जार्ज ओमेन व अनुज दत्त शर्मा शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *