October 29, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

उत्तराखंड भाजपा में अचानक बदल दिया प्रदेश अध्यक्ष, पत्र से मची खलबली, अब होगी जांच

1 min read
उत्तराखंड भाजपा में भीतरखाने अलग ही पक रहा है। अनुशासन में रहने वाली पार्टी में कभी विधायकों के बीच, तो कभी पूर्व सीएम और कैबिनेट मंत्री के बीच विवाद सामने आ ही रहे थे कि अचानक भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष को बदलने का पत्र जारी हो गया।

उत्तराखंड भाजपा में भीतरखाने अलग ही पक रहा है। अनुशासन में रहने वाली पार्टी में कभी विधायकों के बीच, तो कभी पूर्व सीएम और कैबिनेट मंत्री के बीच विवाद सामने आ ही रहे थे कि अचानक भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष को बदलने का पत्र जारी हो गया। पत्र भी इतनी ही सफाई से तैयार किया कि उसे हर कोई सच मान ले। सोशल मीडिया में पत्र वायरल होते ही भाजपा में खलबली मच गई। बाद में प्रदेश अध्यक्ष ने मीडिया को दिए बयान में कहा कि पत्र फर्जी है। ऐसा कुछ भी नहीं है। इस मामले की जांच कराई जाएगी। उधर, इस मामले में भाजपा के प्रदेश सोशल मीडिया प्रभारी शेखर वर्मा ने देहरादून के एसएसपी को पत्र लिखकर कड़ी कार्रवाई की मांग की है।
हाल ही में चर्चा थी कि भाजपा उत्तराखंड में जातीय समीकरण बैठाने के लिए प्रदेश अध्यक्ष बदल सकती है। सीएम पुष्कर सिंह धामी कुमाऊं के मैदानी क्षेत्र से हैं। ऐसे में गढ़वाल को प्रतिनिधित्व न मिलने से कार्यकर्ताओं में नाराजगी भी देखी गई। इस बीच चर्चा चली थी कि भाजपा में प्रदेश अध्यक्ष बदले जा रहे हैं। काग्रेंस की तर्ज पर तीन प्रदेश अध्यक्ष बनाए जा सकते हैं। इससे मैदानी, कुमाऊं और गढ़वाल तीनों को ही प्रतिनिधित्व मिल सकेगा। पर ऐसा हुआ नहीं।
अब सियासी गलियारों में मंगलवार शाम उस वक्त खासी हलचल मच गई, जब भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक को बदलने संबंधी एक पत्र इंटरनेट मीडिया में वायरल हो गया। इसमें देहरादून के धर्मपुर क्षेत्र से विधायक विनोद चमोली की प्रदेश अध्यक्ष पद पर नियुक्ति होना बताया गया। पहले प्रदेश अध्यक्ष बदलने को लेकर हुई चर्चा में विनोद चमोली का नाम भी लिया जा रहा था। ऐसे में लोगों का पत्र को लेकर विश्वास करना स्वाभाविक था। हालांकि, बाद में प्रदेश भाजपा की ओर से साफ किया गया कि यह पत्र फर्जी है और ऐसा कुछ नहीं हुआ है। पार्टी स्तर से इस मामले की जांच कराई जा रही है।
इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुआ यह पत्र भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव एवं मुख्यालय प्रभारी अरुण सिंह की ओर से जारी होना दर्शाया गया। पत्र में बताया गया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने धर्मपुर विधायक विनोद चमोली को भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया है। इसके बाद तो सियासी गलियारों में चर्चाओं का बाजार गरम हो गया। प्रदेश सरकार व संगठन में पूर्व में अचानक हुए बदलाव और भाजपा की ओर से गुजरात में किए गए बदलाव से इसे जोड़कर देखा जाने लगा। ये भी चर्चा रही कि हाल में जिस तरह से भाजपा विधायकों व नेताओं के बीच विवाद की बातें सार्वजनिक तौर पर उभरी, उसके दृष्टिगत राष्ट्रीय नेतृत्व ने यह कदम उठाया है।

भाजपा प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मदन कौशिक का कहना है कि यदि ऐसा कुछ होता तो राष्ट्रीय नेतृत्व उनसे एक बार तो जरूर बात करता। साथ ही उन्होंने कहा कि यह किसी की शरारत भी हो सकती है। वहीं, भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने पत्र को पूरी तरह से फर्जी और भ्रामक बताया। कहा कि पार्टी स्तर से प्रकरण की जांच कराई जा रही है और जो भी इसमें संलिप्त पाया जाएगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
वहीं, धर्मपुर विधायक विनोद चमोली का कहना है कि ऐसे पत्र के संबंध में उन्हें भी जानकारी मिली। इस पर उन्होंने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, संगठन मंत्री से भी वार्ता की। साथ ही सीएम से बात कर इस मामले की जांच की मांग की। कहा कि ऐसी हरकत एक गंभीर अपराध है। इसके दोषी को सजा मिलनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *