October 24, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

सीएम धामी ने पत्थरों से हटाए पर्दे, की 14 घोषणाएं, दैनिक जागरण के सहयोग से कोरोना योद्धाओं को किया सम्मानित

1 min read
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मसूरी विधानसभा क्षेत्र की 70 करोड़ रूपये की योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। इस मौके पर उन्होंने 14 घोषणाएं भी की। वहीं, उन्होंने दैनिक जागरण की ओर से आयोजित कार्यक्रम में कोरोना योद्धाओं को सम्मानित किया।

विधानसभा चुनाव निकट आ रहे हैं, तो चुनाव आयोग की अधिसूचना से पहले पत्थरों से पर्दे हटाने का सिलसिला उत्तराखंड में तेज हो गया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मसूरी विधानसभा क्षेत्र की 70 करोड़ रूपये की योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। इस मौके पर उन्होंने 14 घोषणाएं भी की। साथ ही कहा कि आगामी 10 सालो में उत्तराखंड को हर क्षेत्र में अग्रणी राज्य बनाया जायेगा। वहीं, उन्होंने दैनिक जागरण की ओर से आयोजित कार्यक्रम में कोरोना योद्धाओं को सम्मानित किया। देहरादून में बहल चौक से सर्वे ऑफ इंडिया तक जन आशीर्वाद रैली में भी प्रतिभाग किया।


मसूरी विधानसभा क्षेत्र की मुख्यमंत्री की घोषणाएं
सर्वे ऑफ इण्डिया परिसर में आयोजित कार्यक्रम में सीएम ने मसूरी विधानसभा के लिए 14 घोषणाएं की। मुख्यमंत्री ने कहा कि वार्ड 05 धोरणखास, वार्ड 07 जाखन, वार्ड 08 सालावाला, वार्ड 09 आर्यनगर, वार्ड 10 डोभालवाला, वार्ड 11 विजय कालोनी सहित बिलासपुर काडली, जैतनवाला एवं मंसदावाला में सड़कों का पुनर्निर्माण एवं सुधारीकरण किया जाऐगा। विजय कालोनी, पथरिया पीर, नीलकण्ठ विहार, इंदिरा कालोनी चुक्खुवाला क्षेत्र में सीवर लाईन निर्माण का कार्य किया जायेगा। सिगली. हल्दूवाला (संतला देवी), भितरली एवं मसंदावाला में झील का निर्माण किया जायेगा। वार्ड 08 सालावाला में न्यू कैंट रोड़ से सालावाला की ओर जाने वाले मार्ग पर पुल निर्माण किया जायेगा। ग्राम पंचायत रिखोली के सोलाह गांव में विद्युतीकरण का कार्य किया जाऐगा। सरोना न्याय पंचायत क्षेत्र के अर्न्तगत 05 किमी आन्तरिक सीसी सड़कों एवं पुश्तों का निर्माण किया जायेगा। ग्राम पंचायत चामासारी में पशु सेवा केन्द्र बनाया जायेगा।

ग्राम पंचायत चामासारी के तल्यानीगाड गांव हेतु राजपुर टोल से सिमयाना तक 04 किमी सड़क का निर्माण किया जायेगा। ग्राम पंचायत सेरागांव के अर्न्तगत सिलकोटी में पुल निर्माण किया जाएगा। ग्राम पंचायत सरोना के छोटी छमरोली से डोमकोट तक 04 किमी सड़क निर्माण किया जायेगा। ग्राम पंचायत सिल्ला के अर्न्तगत शेरा- सिल्ला- डबराना गढ़-बुरासखण्डा तक 10 किमी सड़क निर्माण किया जायेगा। ग्राम पंचायत सिल्ला के शेरा, भूमिसरो काडद, काणीगाड आदि क्षेत्रों में बाढ़ सुरक्षा कार्य किया जायेगा। सहस्त्रधारा नहर के भूमिगत भाग में आरसीसी पाईप बिछाने का कार्य किया जायेगा। जिला पंचायत चन्द्रोटी में 5 किमी आन्तरिक सड़कों एवं पुश्तों का निर्माण किया जायेगा।

इन योजनाओं का किया लोकार्पण एवं शिलान्यास
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जिन महत्वपूर्ण योजनाओं का लोकार्पण किया उनमें 05 करोड़ रूपये की लागत के देहरादून-किमाड़ी-लम्बीधार-होलोक कम्पनी गार्डन मोटर मार्ग में 30 एम.एम.बी.सी. द्वारा सतह सुधार का कार्य, 04 करोड़ 71 लाख की रूपये की लागत के देहरादून-मसूरी राज्यमार्ग संख्या-01 में दिलाराम चौक से कुठालगेट तक बी.सी द्वारा मार्ग का सतह सुधार का कार्य, 04 करोड़ 54 लाख रूपये की लागत के राजपुर से कुठालगेट मोटर मार्ग में 30 एम.एम.बी.सी. द्वारा सतह सुधार का कार्य, हाथीबड़कला-मालसी मोटर मार्ग तथा स्नोव्यू -झड़ीपानी बार्लोगंज मसूरी मोटर मार्ग में 30 एम.एम.बी.सी. द्वारा सतह सुधार का कार्य शामिल है। मुख्यमंत्री ने जिन महत्वपूर्ण योजनाओं का शिलान्यास किया उनमें 05 करोड़ 22 लाख रूपये की अनुमानित लागत के सहस्त्रधारा-चामासारी मोटर मार्ग का डामरीकरण का कार्य, 04 करोड़ 89 लाख की अनुमानित लागत के कालीदास रोड, पुनर्गठन सीवरेज योजना का कार्य, 03 करोड़ 23 लाख की अनुमानित लागत के मसूरी विधानसभा अन्तर्गत सड़कों का निर्माण कार्य एवं 02 करोड़ 25 लाख रूपये की अनुमानित लागत के अनारवाला पेयजल योजना का सुदृढ़ीकरण का कार्य शामिल है।
पीएम नरेन्द्र मोदी के पदचिह्न पर चलकर हो रहे हैं विकास कार्य
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पदचिह्नों पर चलकर राज्य में विकास कार्यों को तेजी से आगे बढ़ाया जा रहा है। प्रधानमंत्री का उत्तराखण्ड के प्रति विशेष लगाव है। उन्होंने कहा कि जब मैं प्रधानमंत्री से मिलने दिल्ली गया तो मुझे मिलने के लिए मात्र 15 मिनट का समय मिला था, लेकिन उन्होंने 1घण्टे 40 मिनट तक उत्तराखण्ड से जुड़े अनेक पहलुओं पर बातचीत की। उन्होंने कहा कि राज्य को हरसंभव मदद दी जायेगी। केन्द्र सरकार की विभिन्न योजनाओं को आगे बढ़ाने के साथ ही राज्य में भी अनेक जन कल्याणकारी योजनाएं चलाई जा रही है। हमारा लक्ष्य है कि समाज के अंतिम पंक्ति तक खड़े लोगों को सरकार की योजनाओं का लाभ मिले।
रोजगार और स्वरोजगार पर सरकार का विशेष ध्यान
मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी राष्ट्र के विकास में युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। युवाओं को प्रदेश में रोजगार एवं स्वरोजगार के पर्याप्त अवसर मिले, इसके लिए राज्य सरकार प्रयासरत है। राज्य में रिक्त पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू की गई है। ये भर्ती प्रक्रिया जल्द पूर्ण की जाएगी। स्वरोजगार पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास सरकार का मूलमंत्र है। जन समस्याओं के त्वरित समाधान के लिए अधिकारियों को प्रत्येक कार्यदिवस में प्रातः 10 से 12 बजे तक जन समस्याओं को सुनकर उनका समाधान करने के निर्देश दिए गए हैं। कार्यों के सरलीकरण, समाधान निस्तारण एवं उनकी संतुष्टि भी हो, इस पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं को जिलों में शिविरों के माध्यम से आम जनमानस तक पहुंचाया जा रहा है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि प्रदेश को अगले 10 सालों में विभिन्न क्षेत्रों में शिक्षा, चिकित्सा, पर्यटन, कनेक्टिविटी जैसे क्षेत्रों में अग्रणी राज्य बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड की भूमि हमारे वीर सैनिकों एवं राज्य आन्दोलनकारियों की भूमि है, इनके सपनों के अनुरूप राज्य का विकास हो, इस दिशा में राज्य सरकार द्वारा विशेष प्रयास किये जा रहे हैं।
सर्वांगीण विकास के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्धः सैनिक कल्याण मंत्री
सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में प्रदेश प्रगति के पथ पर अग्रसर है। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड देवभूमि के साथ वीरभूमि भी है। देश की रक्षा के लिए हमारे जवानों ने हमेशा अपना सर्वस्व दिया है। युद्ध में किसी भी सैनिक या अर्द्धसैन्य बलों के जवानों की वीरगति होने पर राज्य सरकार द्वारा उनके एक आश्रित को उनकी शैक्षिक योग्यता के आधार पर राज्याधीन सेवाओं में नौकरी दी जा रही है। सैनिकों के कल्याण के राज्य सरकार प्रतिबद्ध है। इस अवसर पर राज्यसभा सांसद नरेश बंसल एवं अन्य जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

मुख्यमंत्री ने किया कोरोना योद्धाओं को सम्मानित
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रविवार को राजपुर रोड स्थित होटल में दैनिक जागरण की ओर से आयोजित सम्मान समारोह में कोरोना योद्धाओं को प्रशस्ति पत्र एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी के इस असाधारण समय में, सेवा परमो धर्मः की भावना के साथ, अपने जीवन की परवाह किए बिना हमारे डॉक्टर्स, नर्सेज, पैरामेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस कर्मी, सफाई कर्मचारी, पुलिसकर्मी, सेवाकर्मी, स्वयं सेवी संस्थाओं ने चौबीसों घंटे लगातार काम करने से पीछे नहीं हटे। कोरोना योद्धाओं ने एक योद्धा की तरह साहस, आत्मविश्वास एवं धैर्य के साथ जन सेवा को अपना ध्येय बनाया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले साल कोविड महामारी ने हमें सचेत अवश्य कर दिया था, लेकिन तब किसी को भी यह एहसास नहीं था कि महामारी की दूसरी लहर कितनी घातक हो सकती है। हमारे पास उस समय इस महामारी पर नियंत्रण के लिए कोई रास्ता नही था, न कोई वैक्सीन उपलब्ध थी, न कोई दवा, लेकिन प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की दूरदर्शिता और अभूतपूर्व प्रयासों के कारण आवश्यक दवा एवं उपकरण तथा वैक्सीन की आपूर्ति उपलब्धता बहुत कम समय के अन्तराल में हो पायी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड महामारी के दौर में हमारे स्वास्थ्य कर्मियों, पुलिस कर्मियों समाज सेवा से जुड़े लोगों ने एकजुटता का परिचय देते हुए इस पर बखूबी नियंत्रण किया। कोविड महामारी के दौरान सूचनाओं को मीडिया, जन प्रतिनिधियों एवं राष्ट्रीय स्तर पर प्रसारित करने के लिए राज्य कोविड कंट्रोल रूम की भूमिका अत्यंत सराहनीय रही। कोरोना काल में सरकार को सभी का भरपूर जन सहयोग मिला। कोरोना योद्धाओं का योगदान वास्तव में अविस्मरणीय है, जो हमेशा याद किया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना की रफ्तार मंद पड़ी है, लेकिन ये महामारी अभी खत्म नहीं हुई है। इसलिए हमें कोविड गाइड लाइन का पालन करते हुए इस चुनौती का सामना करना है। राज्य सरकार ने कोरोना काल में स्वास्थ्य के क्षेत्र में सराहनीय कार्य करने वालों के लिये सीमित संसाधनों के बावजूद प्रदेश में कोविड-19 से प्रभावित पर्यटन, परिवहन, संस्कृति क्षेत्र से जुड़े लोगों के लिए लगभग 200 करोड़ का तथा चिकित्सा क्षेत्र के लिए 205 करोड़ का पैकेज स्वीकृत किया है। पिथौरागढ़ व रूद्रपुर मेडिकल कॉलेज के लिये 70-70 करोड़ की धनराशि प्रदान की गई है।

उन्होंने कहा कि 31 दिसम्बर 2021 तक प्रदेश में सौ प्रतिशत वैक्सीनेशन कर दिया जाएगा। कोरोना की संभावित तीसरी लहर का सामना करने की पूरी तैयारी की गई है। बच्चों के लिए माइक्रो न्यूट्रिएंट की व्यवस्था की गई है। सभी सीएचसी, पीएचसी, सब सेंटर में जरूरी दवाईया एवं उपकरण आदि उपलब्ध कराये गये हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के संक्रमण से जान माल का कम से कम नुकसान हो इसके लिये इस वर्ष कांवड़ यात्रा प्रतिबंधित की गई। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे अच्छे कार्यों को भगवान भी देखते हैं। कोरोना के दौर में मन व प्राण प्रण से जन सेवा करने वालों के परोपकार के कार्यों से वे निश्चित रूप से पुण्य के भागी बने हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि अपने लिये तो हर कोई करता है किन्तु दूसरों के लिये निस्वार्थ भाव से किया जाने वाला कार्य निश्चित रूप से परमार्थ का कार्य है।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने जिन चिकित्सकों, स्वास्थ्य व पुलिस कर्मियों, समाज सेवियों को सम्मानित किया उनमें कुलपति एचएनबी चिकित्सा शिक्षा विश्वविद्यालय डॉ. हेम चन्द्र पाण्डे, प्रधानाचार्य दून मेडिकल कॉलेज डॉ. आशुतोष सयाना, डॉ. केसी पंत, डॉ. एनएस बिष्ट, डॉ. दिनेश चौहान, डॉ. अनुराग अग्रवाल, डॉ. कैलाश जोशी, डॉ. आरके सिंह, अशोक विंडलास, आनंद शुक्ला, हरीश सूरी, डॉ. अब्दुल रहीम, थानाध्यक्ष दिगंबर सिंह नेगी, धर्मेन्द्र रौतेला, राकेश शाह के साथ ही रेडियोलॉजिस्ट मनीष पंत, महेन्द्र भंडारी, स्टाफ नर्स अनुराधा, प्रियंका, एडवोकेट शिवानी सिंह, हरभजन सिंह, हरीश कटारिया, अजय सीकरी, रमा गोयल, लोक पंचायत जौनसार के प्रतिनिधि आदि प्रमुख थे। एस मौके पर दैनिक जागरण के महाप्रबंधक अनुराग गुप्ता, राज्य संपादक कुशल कोठियाल मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *