October 29, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

उत्तराखंड में 21 सितंबर से खोले जाएंगे पहली से पांचवी तक के स्कूल, बड़ी कक्षाओं में गिनती भर के आ रहे हैं बच्चे

1 min read
उत्तराखंड में छठी से 12वीं तक के बच्चों के लिए स्कूल खोलने के बाद अब पहली से पांचवी तक के स्कूल खोलने की तैयारी शुरू हो गई है। तय किया गया है कि उत्तराखंड में 21 सितंबर से प्राथमिक विद्यालय खुलेंगे।

उत्तराखंड में छठी से 12वीं तक के बच्चों के लिए स्कूल खोलने के बाद अब पहली से पांचवी तक के स्कूल खोलने की तैयारी शुरू हो गई है। तय किया गया है कि उत्तराखंड में 21 सितंबर से प्राथमिक विद्यालय खुलेंगे। कोरोना काल मे ऐसा पहली बार हो रहा है कि जब पहली से लेकर पांचवी तक के स्कूल खुलेंगे। पिछले साल मार्च माह से बंद हुए पांचवीं तक के स्कूल कोरोना संक्रमण के चलते लंबे समय से स्कूल बंद चल रहे थे।
उत्तराखंड सरकार ने दो अगस्त से नौवीं से 12वीं, जबकि 16 अगस्त से छठी से आठवीं कक्षाओं को शुरू कर चुकी है। हालांकि निजी स्कूलों में ज्यादातर बच्चों ने आनलाइन क्लास का विकल्प ही चुना है। ऐसे में स्कूलों में गिनती भर के बच्चे ही पहुंच रहे हैं। अभी अभिभावक बच्चों को स्कूल भेजने से कतरा रहे हैं। निजी स्कूलों में छठी से लेकर 12वीं तक के बच्चे आ नहीं रहे। स्कूल प्रबंधन भी फीस पूरी नहीं ले पा रहा है। वहीं, प्रबंधन घाटे को पूरा करने के लिए शिक्षकों के वेतन में कटौती कर रहा है। ऐसा देहरादून सहित बड़े शहरों के अधिकांश निजी स्कूलों में हो रहा है।
अब पांचवी तक के स्कूल खोले जा रहे हैं। स्कूल में कोरोना वायरस से बचाव के लिए जारी गई गाइडलाइन का सख्ती से पालन करने के भी आदेश जारी किए गए। बिना मास्क व थर्मल स्क्रीनिंग के किसी भी छात्र, शिक्षक और कर्मचारी को स्कूल में प्रवेश नहीं दिया जाना है। स्कूल में स्कूलों में साफ-सफाई का ध्यान रखने के साथ सैनिटाइजर की व्यवस्था अनिवार्य रूप से की जा रही है। वहीं, छात्रों के बीच आवश्यक शारीरिक दूरी का पूरा ध्यान रखने के भी निर्देश दिए गए थे। अब सरकार ने राज्य में प्राथमिक विद्यालय को खोलने को लेकर भी फैसला ले लिया है। इसके तहत 21 सितंबर से एक से पांचवी तक के स्कूल खोल दिए जाएंगे।
बताया जा रहा है कि पांचवी तक के बच्चों के लिए स्कूल खोलने को लेकर शित्रा मंत्री अरविंद पांडे ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मुलाकात की। इस पर सीएम ने सैद्धांतिक सहमति दे दी है। इसके बाद शिक्षा मंत्री ने शिक्षा सचिव को 21 सितंबर से सभी निजी और सरकारी स्कूलों में पांचवी तक की आफलाइन पढ़ाई के लिए स्कूल खोलने के निर्देश जारी किए। पांचवी तक के स्कूल खोलना इसलिए भी जरूरी समझा जा रहा है कि ग्रामीण और दूरदराज के क्षेत्र में बच्चों के लिए आनलाइन क्लास में शामिल होने के लिए मोबाइल और नेटवर्क जैसी सुविधा तक नहीं है। ऐसे में बच्चे शिक्षा से वंचित होते जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *