October 24, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

उत्तराखंड सहित पंजाब, नागालैंड, तमिलनाडु के राज्यपाल नियुक्त, लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह को उत्तराखंड की जिम्मेदारी

1 min read
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बृहस्पतिवार शाम कई प्रदेशों में नए राज्यपालों की नियुक्ति कर दी। बेबी रानी मौर्य के इस्तीफे के बाद बृहस्पतिवार को लेफ्टिनेंट जनरल (सेनि) गुरमीत सिंह उत्तराखंड का नया राज्यपाल बनाया गया है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बृहस्पतिवार शाम कई प्रदेशों में नए राज्यपालों की नियुक्ति कर दी। बेबी रानी मौर्य के इस्तीफे के बाद बृहस्पतिवार को लेफ्टिनेंट जनरल (सेनि) गुरमीत सिंह उत्तराखंड का नया राज्यपाल बनाया गया है। वह उत्तराखंड के आठवें राज्यपाल हैं। इसके साथ ही वहीं तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित को पंजाब का राज्यपाल बनाया गया है। नागालैंड के राज्यपाल आरएन रवि को तमिलनाडु का राज्यपाल बनाया गया है। उधर असम के राज्यपाल जगदीश मुखी को नागालैंड का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मदन कौशिक ने गुरमीत सिंह को राज्यपाल बनाए जाने पर बधाई दी है। रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह डेप्‍युटी चीफ ऑफ आर्मी स्‍टाफ भी रह चुके हैं। उन्‍होंने दो विश्‍वविद्यालयों से एमफिल की डिग्री ली है।
बेबी रानी मौर्य ने आठ सितंबर को दिया था इस्तीफा
गौरतलब है कि बेबी रानी मौर्य ने 8 सितंबर को अपना इस्तीफा राष्ट्रपति को सौंप दिया था। इसके बाद से ही नए राज्यपाल के नाम को लेकर चर्चाएं हो रही थीं। 28 अगस्त 2018 को बेबी रानी मौर्य ने उत्तराखंड के राज्यपाल की जिम्मेदारी संभाली थी। 3 साल से अधिक का वक्त गुजारने के बाद राज्यपाल बेबी रानी मौर्य अपने पद से इस्तीफा दिया।
सैनिकों के साथ सिखों को लुभाने की कोशिश
2022 में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। उत्तराखंड सैनिक बाहुल्य प्रदेश है। ऐसे में पूर्व सैनिकों को लुभाने की कोशिश की गई।  सेना के पूर्व वरिष्ठ अधिकारी को उत्तराखंड का राज्यपाल बना कर एक संदेश देने की कोशिश की गई है। उत्तराखंड के बिपिन रावत सीडीएस के तौर पर काम कर रहे हैं। इस तरह से उत्तराखंड को एक नए राज्यपाल को राजनीतिक तौर पर काफी महत्वपूर्ण नजरिए से देखा जा रहा है। वहीं मुख्य सचिव भी सिख हैं। अब राज्यपाल भी सिख को बनाकर सिख समुदाय को भी आगामी चुनाव में साधने की कोशिश की गई है।
फरवरी 2016 में सेना से रिटायर्ड हुए थे जनरल स‍िंह
कई पदकों से सम्मानिक अधिकारी, लेफ्टिनेंट जनरल सिंह लगभग चार दशकों की सेवा के बाद फरवरी 2016 में सेना से रिटायर्ड हुए थे। लेफ्टिनेंट जनरल सिंह ने सेना में अपनी सेवा के दौरान सेना के उप प्रमुख, सहायक जनरल और कश्मीर में नियंत्रण रेखा की निगरानी करने वाली 15वीं कोर के कोर कमांडर के पद पर काम किया। वह सैन्य संचालनों के अतिरिक्त महानिदेशक के रूप में चीन से जुड़े परिचालन और सैन्य रणनीतिक मुद्दों को भी संभाल रहे थे। लेफ्टिनेंट जनरल सिंह सेना में रहने के दौरान, एक दशक से अधिक समय तक कई विशेषज्ञ समूहों, संयुक्त कार्य समूहों, वार्षिक संवादों और चीन अध्ययन समूह की बैठकों का हिस्सा रहे।
सात बार चीन का दौरा कर चुके हैं जनरल स‍िंह
लेफ्टिनेंट जनरल सिंह ने महत्वपूर्ण सैन्य कूटनीतिक और सीमा या वास्तविक नियंत्रण रेखा की बैठकों के लिए सात बार चीन का दौरा किया। डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कोर्स और नेशनल डिफेंस कॉलेज से स्नातक, लेफ्टिनेंट जनरल सिंह ने चेन्नई और इंदौर विश्वविद्यालयों से दो एम.फिल किए हैं। इस नयी नियुक्ति के अलावा, राष्ट्रपति ने कुछ राज्यों के राज्यपालों के फेरबदल का भी आदेश दिया, जिसमें बनवारीलाल पुरोहित को तमिलनाडु से पंजाब ट्रांसफर किया जाना शामिल है। वह पहले पंजाब का अतिरिक्त प्रभार संभाल रहे थे।
यूपी चुनाव लड़ सकती हैं बेबी रानी
दरअसल राज्‍यपाल के तौर पर तीन साल पूरे करने के बाद बेबी रानी मौर्य ने इस्‍तीफा दे दिया था। इस्‍तीफा देने से पहले उन्‍होंने दिल्‍ली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी। अटकलें लगाई जा रही हैं कि बेबी रानी मौर्य अगले साल होने वाले यूपी चुनाव में उतर सकती हैं। वह 1995 से 2000 तक आगरा की पहली मेयर भी रह चुकी हैं।
उत्तराखंड में अब तक रहे राज्यपाल
सुरजीत सिंह बरनाला-    09 नवंबर 2000- 07 जनवरी 2003
सुदर्शन अग्रवाल-           08 जनवरी 2003- 28 अक्तूबर 2007
बनवारी लाल जोशी-       29 अक्तूबर 2007- 05 अगस्त 2009
मार्गरेट अल्वा-               06 अगस्त 2009 – 14 मई 2012
अज़ीज़ कुरैशी-              15 मई 2012    –  08 जनवरी 2015
कृष्ण कांत पॉल-            08 जनवरी 2015- 25 अगस्त 2018
बेबी रानी मौर्य-              26 अगस्त 2018- 08 सितंबर 2021

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *