September 26, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

उत्तराखंड में कोरोना कर्फ्यू एक सप्ताह बढ़ाने की तैयारी, सौ फीसद क्षमता से खुलेंगे दफ्तर, सबसे बड़ा सवाल-क्या वाकई में लागू है कर्फ्यू

1 min read
उत्तराखंड में भले ही कोरोना के नए संक्रमित 50 से नीचे मिल रहे हों, एक्टिव केस घट रहे हों, लेकिन सरकार अभी कर्फ्यू के मामले में ढिलाई नहीं देना चाहती है।

उत्तराखंड में भले ही कोरोना के नए संक्रमित 50 से नीचे मिल रहे हों, एक्टिव केस घट रहे हों, लेकिन सरकार अभी कर्फ्यू के मामले में ढिलाई नहीं देना चाहती है। ऐसे में सरकार की ओर से 27 जुलाई की सुबह छह बजे समाप्त हो रही कर्फ्यू की अवधि को एक सप्ताह और बढ़ाने की तैयारी चल रही है। अब कोरोना कर्फ्यू को तीन अगस्त की सुबह छह बजे तक बढ़ाने की योजना है।
सड़कों पर दिखते हैं सामान्य दिनों की भांति लोग
वैसे तो उत्तराखंड की सड़कों, बाजारों को देखते हुए कोई ये नहीं कह सकता है कि यहां कोविड-19 कर्फ्यू है। या फिर नियम सख्त हैं। सामान्य दिनों की तरह की कर्फ्यूकाल में नजर आता है। चाहे वो सुबह हो या शाम को हो। हर बार सरकार की ओर से कहा जाता है कि रात को सख्ती की जाएगी। अब ऐसे में सवाल उठता है कि रात को सड़कों में भीड़ राज्य के किस शहर में होती है।
नेता भी मचा रहे भीड़
उत्तराखंड में तो पर्वतीय और ग्रामीण इलाकों में रात आठ बजे के बाद वैसे भी सड़कों में सन्नाटा होता है। दिन भर सड़कों पर भीड़ मचा लो, मास्क न पहनों, सभी दलों के नेताओं और सरकार के मंत्रियों की ऐसी फोटो किसी भी दिन देखी जा सकती है। राजनीतिक कार्यक्रम हो रहे हैं। भीड़ मच रही है। वहीं, कोरोना गाइडलाइन में नियम हैं कि राजनीतिक, सांस्कृतिक आदि गतिविधियां प्रतिबंधित हैं। वहीं, सीएम विभिन्न जिलों में जाकर रोड शो कर रहे हैं। सरकार लोकार्पण व शिलान्यास में तो दूसरे दलों के लोग धरने व प्रदर्शन में व्यस्त हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या नियम सिर्फ भारत सरकार को या हाईकोर्ट को दिखाने के लिए बनाए जा रहे हैं।
वर्तमान रियायत के साथ बढ़ेगा कर्फ्यू
कोरोना संक्रमण के मामलों में भले ही कमी आई हो, मगर कोविड की संभावित तीसरी लहर ने आशंकित भी किया हुआ है। हालांकि नए संक्रमितों की संख्या काफी कम है। शनिवार को भी प्रदेश में 33 नए संक्रमित मिले, लेकिन इससे एक दिन पहले शुक्रवार को 11 संक्रमित मिले थे। यानी कोरोना संक्रमितों की संख्या में भी उतार चढ़ाव है। इसे देखते हुए सरकार प्रदेश में लागू कोविड कर्फ्यू को वर्तमान रियायत के साथ एक हफ्ते आगे बढ़ाने की तैयारी में है। इस दौरान रात्रि में आवाजाही को लेकर अब सख्ती बरतने की तैयारी है। साथ ही सरकारी कार्यालयों को सौ फीसद क्षमता के साथ खोलने पर भी विचार किया जा सकता है।
ये भी दी गई है राहत, क्या ज्यादा तो नहीं
प्रदेश में वर्तमान में लागू कर्फ्यू की मियाद 27 जुलाई की सुबह छह बजे खत्म हो रही है। हालांकि, कोविड के मामलों में कमी आने पर सरकार ने बाजारों के खुलने का समय पिछले सप्ताह ही सुबह आठ बजे तक रात नौ बजे तक कर दिया गया था। अब देखो की पहले बाजार सुबह नौ या दस बजे से खुलते थे और रात नौ बजे बंद होते थे। कोरोना कर्फ्यू में तो बाजार खुले रहने की अवधि भी बढ़ा दी गई है। इसके अलावा दूसरे राज्यों से आने वालों को भी राहत दी है। जिन व्यक्तियों ने 15 दिन पहले कोविड वैक्सीन की दोनों डोज ले ली हैं, उन्हें राज्य में प्रवेश की छूट दी गई है। इसके अलावा अन्य कई रियायतें भी कर्फ्यू में दी गई हैं।
अब कर्फ्यू को एक हफ्ते आगे बढ़ाने की तैयारी है। सूत्रों ने बताया कि इस दौरान रात्रि में आवाजाही को लेकर सख्त कदम उठाए जा सकते हैं। (वैसे भी रात को कितने लोग घरों से बाहर निकलते हैं, जो निकलेगा ज्यादातर आवश्यक कार्य वाले हो सकते हैं)। इसके साथ ही सरकारी कार्यालयों को पूरी क्षमता के साथ खोलने के संबंध में भी विचार किया जा सकता है। वर्तमान में आवश्यक सेवाओं को छोड़कर अन्य कार्यालय 50 फीसद क्षमता के साथ खुल रहे हैं। सूत्रों ने बताया कि आज रविवार या सोमवार को होने वाली उच्च स्तरीय बैठक में इस बारे में निर्णय लिया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *