June 14, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

आफत की बारिशः मुंबई में इमारत गिरने से 11 की मौत, उत्तराखंड में कई सड़कें बंद, 12 जून को भारी बारिश की चेतावनी

1 min read
मुंबई में इमारत गिरने से 11 लोगों की मौत हो गई, वहीं, सात अन्य लोग घायल हैं। उत्तराखंड में भी गुरुवार से बारिश का दौर शुरू हो चुका है।

दक्षिण-पश्चिम मानसून बुधवार को मुंबई पहुंच गया था और उत्तर की ओर बढ़ रहा है। मानसून की बारिश से मुंबई भीगने लगा है। कई इलाकों में जलभराव की समस्या पैदा हो गई है। मुंबई में इमारत गिरने से 11 लोगों की मौत हो गई, वहीं, सात अन्य लोग घायल हैं। उत्तराखंड में भी गुरुवार से बारिश का दौर शुरू हो चुका है। गढ़वाल मंडल में देहरादून सहित कई इलाकों में झमाझम बारिश हो रही है। वहीं, कुमाऊं में भी बारिश का दौर शुरू हो चुका है। बारिश के साथ आफत भी आ रही है। देहरादून सहित कुमाऊं में कई सड़कें मलबा आने से बंद हो चुकी हैं। मौसम विभाग ने 12 जून को भारी बारिश का ओरेंज अलर्ट जारी किया है।
मुंबई में बारिश
मुंबई शहर के कई इलाकों में भारी बारिश हो रही है। सुबह से जारी बारिश के कारण सड़कों पर घुटनों तक पानी जमा हो गया है। इस बीच आइएमडी मुंबई ने बताया है कि सैटेलाइट ऑब्जर्वेशन के मुताबिक मुंबई शहर और उपनगरों में अगले 3-4 घंटों के दौरान 2-3 सेमी प्रति घंटा के हिसाब से बारिश की आशंका है। मौसम विभाग ने मुंबई के अलावा ठाणे, पालघर और रायगढ़ जिलों में 10 जून के लिए भी बारिश का रेड अलर्ट जारी किया है।
मालवणी में गिरी इमारत
मुंबई के लिए बुधवार का दिन मायूसी भरा रहा। एक तरफ जहां दिनभर मूसलाधार बारिश के चलते परेशानी का सामना करना पड़ा। वहीं देर रात करीब 11 बजे मलाड के मालवणी इलाके में एक 4 मंजिला इमारत अचानक ढह गई। हादसे में 11 लोगों की मौत हो गई, जबकि 18 अन्य गंभीर रूप से घायल बताए जा रहे हैं।

हादसे के वक्त इमारत में मौजूद से 20 से ज्यादा लोग
जानकारी के मुताबिक हादसे के वक्त 20 से ज्यादा लोग बिल्डिंग में मौजूद थे। घटना के बाद पहुंची फायर ब्रिगेड और पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से मलबे में फंसे लोगों को बाहर निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया।
अब तक 15 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला गया
मुंबई में जोन 11 के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) विशाल ठाकुर ने बताया कि अब तक 15 लोगों सुरक्षित बाहर निकाला गया है, जिनमें 5 बच्चों समेत महिलाएं भी शामिल हैं। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मलबे में और लोगों के फंसे होने की आशंका है, जिन्हें बचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है।
समुद्र में लहर उठने की संभावना
मुंबई में भारी बारिश के बीच समुद्र में हाईटाइड आ सकती है। इस दौरान 4 से 5 मीटर तक लहरें उठने की संभावना है। इस दौरान अगर भारी बारिश जारी रही तो शहर के निचले इलाके पानी में डूब सकते हैं। इससे कोरोना काल में मुंबई की मुसीबतें और बढ़ जाएंगी।
उत्तराखंड में शुरू हुआ बारिश का दौर
उत्तराखंड में पिछले दो दिन से भारी गर्मी से लोग बेहाल हैं। मैदानी इलाकों में पंखे और कूलर भी राहत नहीं दे पा रहे हैं। कूलर और पंखे की हवा से भी उमस भरी गर्मी का एहसास हो रहा है। इतना जरूर है कि गुरुवार 10 जून की सुबह से ही हल्की बारिश के चलते गर्मी से हल्की राहत मिली है। मौसम विभाग के मुताबिक आज राज्य के उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग एवं कुमाऊं क्षेत्र के जिलों में कहीं कहीं हल्की से मध्यम बारिश का दौर जारी रहने की संभावना है। यही नहीं, चमोली, उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिलों में कहीं कहीं गर्जन के साथ बिजली चमकने और बारिश की तेज बौछार की भी संभावना है। मौसम ने आज व कल का यलो अलर्ट जारी किया है।

उत्तराखंड में मलबा आने से सड़कें हुई बंद
देहरादून के मालदेवता में सड़क पर काफी मलबा आ गया। जिससे कई क्षेत्रों का सड़क मार्ग से संपर्क कट गया है। कुमाऊं में टनकपुर तवाघाट हाइवे तीन स्थान चुपकोट बैंड, कनालीछीना के पास दो स्थानों पर बन्द हो गया था। घाट पिथौरागढ़ के बीच चुपकोट के पास मार्ग खोल दिया है। कनालीछीना के पास मार्ग बंद है। टनकपुर तवाघाट मार्ग चम्पावत में धौन के पास और अल्मोड़ा घाट मार्ग मकडाउ के पास बन्द होने से जिले का मैदानी क्षेत्रों से संपर्क भंग। कैलास मानसरोवर यात्रा मार्ग शांतिवन के पास बंद है।
चंपावत में गुरुवार सुबह से हो रही झमाझम बारिश से एनएच सहित आंतरिक सड़कें बंद हो गई है। जिले में एनएच करीब नौ स्थानों पर बंद है वहीं धौंन, स्वाला, विश्राम घाट और भारतोली के पास मलबा हटाने का काम शुरू। सड़कों पर लगातार बोल्डर गिर रहे हैं। ऐसे में हाइवे पर आवागमन पूरी तरह से ठप है।
आगामी मौसम का हाल
उत्तराखंड में राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक रोहित थपलियाल के मुताबिक 11 जून को कुमाऊं और गढ़वाल के कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। ननीताल और चंपावत में भारी बारिश की संभावना है। साथ ही मैदानी इलाकों में 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं भी चल सकती हैं।
12 जून को उत्तराखंड के अधिकांश स्थानों में हल्की से मध्यम बारिश गर्जन से साथ हो सकती है। पौड़ी, पिथौरागढ़, नैनीताल, चंपावत,अल्मोड़ा, उधमसिंह नगर, देहरादूनऔर टिहरी जिले में कहीं-कहीं भारी बारिश की संभावना है। इस दिन इन इलाकों के लिए ओरेंज अलर्ट जारी किया गया है। पर्वतीय क्षेत्र में कहीं-कहीं गर्जन के साथ आकाशीय बिजली चमकने की भी संभावना है। साथ ही तेज बौछार से बारिश हो सकती है। मैदानी इलाकों में तेज सतही हवाएं 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती है।
13 जून का यलो अलर्ट जारी किया गया है। इस दिन की बारिश मानसून से पहले की प्री मानसून बारिश हो सकती है। अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। उत्तराखंड के देहरादून , नैनीताल और चंपावत जिले में कहीं कहीं भारी बारिश हो सकती है। पर्वतीय इलाकों में गर्जन से साथ बिजली चमक सकती है। मैदानी इलाकों में 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *