June 16, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

उत्तराखंड में 11 जून से फिर शुरू होगा बारिश का दौर, तब तक झेलो कुछ गर्मी, 12 जून से होगी प्रीमानसून की बारिश

1 min read
उत्तराखंड में इन दिनों पर्वतीय क्षेत्रों में बारिश का हल्का दौर चल रहा है। वहीं, मैदान तपने लगे हैं। उम्मीद की जा रही है कि 12 जून से प्रदेश में बारिश का दौर शुरू हो जाएगा।

उत्तराखंड में इन दिनों पर्वतीय क्षेत्रों में बारिश का हल्का दौर चल रहा है। वहीं, मैदान तपने लगे हैं। उम्मीद की जा रही है कि 12 जून से प्रदेश में बारिश का दौर शुरू हो जाएगा। इसे प्री मानसून की बारिश भी कहा जा सकता है। फिलहाल उत्तराखंड में मानसून के 15 जून से लेकर 20 जून तक पहुंचने की उम्मीद है।
राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक रोहित थपलियाल के मुताबिक पूर्वी उत्तर प्रदेश की तरफ मानसून बढ़ रहा है। ऐसे में उत्तराखंड तक मानसून के पहुंचने में अभी वक्त लगेगा। यहां 15 से 20 जून के बीच मानसून पहुंचने की उम्मीद है। फिलहाल अनुमान है कि मानसून से पहले की बारिश (प्री मानसून) का दौर 12 जून से शुरू हो सकता है।
उन्होंने बताया कि आज आठ जून और कल नौ जून को पूरे उत्तराखंड में मौसम शुष्क रहेगा। इसके बाद 10 जून को राज्य के कुमाऊं क्षेत्र में कहीं-कहीं हल्की से मध्यम वषाा गर्जन से साथ होने का अनुमान है। अन्य इलाकों में मौसम शुष्क रहेगा। 11 जून को उत्तराखंड में बारिश की दृष्टि से यलो अलर्ट है। इस दिन कुछ स्थानों में हल्की से मध्यम बारिश गर्जन के साथ हो सकती है। पर्वतीय क्षेत्र में गर्जन आकाशीय बिजली चमकने की संभावना है। 11 जून से बारिश बढ़ने का दौर शुरू हो जाएगा। 12 जून को भी हल्की से मध्यम बारिश कई स्थानों पर हो सकती है।
उन्होंने बताया कि 12 जून से अधिकांश स्थानों पर बारिश का दौर शुरू हो सकता है। इस दौरान हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। इन दिनों तापमान सामान्य के आसपास चल रहा है। मैदानी इलाकों मे अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेंटीग्रेड और पर्वतीय इलाकों में 29 डिग्री सेंटीग्रेड से कुछ कम चल रहा है। फिलहाल दो दिन बारिश की संभावना कम होने के कारण अधिकतम तापमान में दो से तीन डिग्री सेंटीग्रेट की बढ़ोत्तरी का अनुमान है।
गंगोत्री हाईवे बाधित, खोलने में जुटा बीआरओ
सात जून की सुबह से गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग सुनगर के पास भू-स्खलन से मलबा और भारी बोल्डर आने के कारण बाधित है। इस दौरान 20 मीटर सड़क पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो रखी है। ऐसे में बीआरओ ने 05 मशीन व 30 मजदूर सड़क को दुरुस्त करने के लिए लगाए हैं। जल्द इस सड़क के खुलने का अनुमान है। यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग, विकासनगर-बड़कोट राष्ट्रीय राजमार्ग मार्ग के साथ ही उत्तरकाशी जनपद के अन्तर्गत सभी ग्रामीण मोटर मार्ग यातायात के लिए सुचारु हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *