June 15, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

बाढ़ नियंत्रण के मुद्दे पर कांग्रेसियों ने किया सिंचाई विभाग के प्रमुख अभियंता का घिराव, 11 जून को पेट्रोल पंपों पर होगा प्रदर्शन

1 min read
बरसात से पहले देहरादून में एक बार फिर छोटी बिंदाल में आने वाली बाढ़ का मुद्दा आज फिर से गरमा गया।

बरसात से पहले देहरादून में एक बार फिर छोटी बिंदाल में आने वाली बाढ़ का मुद्दा आज फिर से गरमा गया। उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने प्रमुख अभियंता सिंचाई मुकेश मोहन के यमुना कालौनी दफ्तर अपने साथियों के साथ घिराव करने पहुंच गए। धस्माना ने प्रमुख अभियंता से इस बात पर गहरी नाराजगी व्यक्त की कि अभी तक बाढ़ से बचाव के कोई ठोस इंतजाम नहीं किए गए। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष छोटी बिंदाल ने जब चोरखाला, मित्रलोक कालौनी, शांतिविहार, टीचर्स कालौनी, राजीव कालौनी में भारी तबाही मचाई थी। स्थानीय जनता के साथ उन्होंने सिंचाई विभाग का घिराव किया था। तब उनके स्तर पर यह आश्वासन दिया गया था कि छोटी बिंदाल में पड़ने वाले तमाम नालों का पानी व कौलागड़ गढ़ी डाकरा, राजेन्द्र नगर, किशननगर तथा यमुना कालौनी के पानी का डिस्ट्रीब्यूशन प्लान बना कर बिंदाल में डालने की व्यवस्था की जाएगी।
उन्होंने कहा कि पूरा एक साल बीत जाने पर न तो कोई प्लान बनाया गया और ना ही बाढ़ सुरक्षा का कोई प्रबंध किया गया। दिखावे मात्र के लिए एक बॉटल नैक चौड़ा करने का काम किया जा रहा है। वो भी विवाद में पड़ा है और बरसात सर पे खड़ी है। प्रमुख अभियंता ने धस्माना को बताया कि छोटी बिंदाल के वाटर डिस्ट्रीब्यूशन का प्लान बना हुआ है, किंतु बजट अधिक होने के कारण उसे दो भागों में बांट कर एक भाग में काम शुरू करवा दिया है। दूसरे के प्रस्ताव को भी एक सप्ताह के भीतर शासन को भेज दिया जाएगा। धस्माना को उन्होंने आश्वासन दिया कि शीघ्र ही बॉटल नैक का काम भी पूरा कर लिया जाएगा। इस पर धस्माना ने कहा कि अगर एक सप्ताह में प्रस्ताव शासन को नहीं भेजा गया तो वे फिर घिराव अनशन व आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे। धस्माना के साथ कांग्रेस नेता महेश जोशी, सुलेमान व उदयवीर सिंह पंवार भी उपस्थित रहे।
पेट्रोल-डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों के खिलाफ 11 जून को होगा प्रदर्शन
उत्तराखंड कांग्रेस उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने बताया कि 11 जून, 2021 को देशभर के पेट्रोल पम्पों पर सांकेतिक धरना-प्रदर्शन कर पेट्रोल-डीजल की बढ़ी हुई कीमतें वापस लेने की मांग की जायेगी। उन्होंने कहा कि कि पूरा देश कोरोना महामारी के दूसरे दौर से लड़ रहा है। व्यापारियों के व्यापार चौपट हो चुके हैं। मजदूरों का रोजगार छिन चुका है, परन्तु भाजपा सरकार की ओर से पिछले पांच महीनों में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगभग 25-25 रूपये की वृद्धि कर तेल की कीमतों को 100 रूपये के पार कर दिया है। आम जरूरत की चीजों के दाम दुगने हो चुके हैं।
उन्होंने कहा कि मोदी सरकार संवेदनहीन हो चुकी है तथा भाजपा के राज में गरीब आदमी का जीना दूभर हो चुका है। आज उसे इस महामारी काल में दोहरे मोर्चे पर लडना पड़ रहा है। सूर्यकान्त धस्माना ने बताया कि उत्तराखंड प्रदेश में पेट्रोल-डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों एवं बढती मंहगाई के विरोध में दिनांक 11 जून, 2021 प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिह के आह्रवान पर प्रदेश के सभी जनपदों में कांग्रेसजनों की ओर से पेट्रोल पंपों पर सांकेतिक प्रदर्शन किया जायेगा।

1 thought on “बाढ़ नियंत्रण के मुद्दे पर कांग्रेसियों ने किया सिंचाई विभाग के प्रमुख अभियंता का घिराव, 11 जून को पेट्रोल पंपों पर होगा प्रदर्शन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *