June 16, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

आखिरकार बाबा रामदेव को समझ आई ये बात, जितना बोलोगे तो उतना बढ़ेगा विवाद, अब मौन योग से करेंगे समाप्त

1 min read
ब शायद बाबा रामदेव को समझ आ गया है कि वह जितना बोलेंगे-विवाद उतना ही बढ़ेगा। ऐसे में बाबा रामदेव ने विवाद को समाप्त करने के लिए मौन योग की बात कही है।

एलोपैथ और आयुर्वेद के बीच छिड़े विवाद को अब योग गुरु बाबा रामदेव समाप्त करना चाहते हैं। इसे लेकर उनके हर दिन नया बयान आ जाता है। कई बार उनके ही बयान विवाद को और हवा दे जाते हैं। इसी विवाद के चलते एक जून को आइएमए से जुड़े चिकित्सकों ने काली पट्टी बांह में बांधकर काम किया था। अब शायद बाबा रामदेव को समझ आ गया है कि वह जितना बोलेंगे-विवाद उतना ही बढ़ेगा। ऐसे में बाबा रामदेव ने विवाद को समाप्त करने के लिए मौन योग की बात कही है।
योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा कि अब वह इस विवाद को खत्म करना चाहते हैं। इसके लिए वह ‘मौन योग’ करेंगे। उनका कहना है कि अब यही एक रास्ता रह गया है। साथ ही उन्होंने दोहराया कि उनकी लड़ाई ड्रग माफिया के खिलाफ है, जो जारी रहेगी। उधर चिकित्सकों का कहना है कि हमारा विरोध बाबा रामदेव और उनकी दवाओं से नहीं है। हमारा विरोध बाबा की ओर से एलोपैथी पद्धति का मजाक उड़ाने पर है।
बाबा रामदेव ने कहा कि एलोपैथी और एलोपैथिक चिकित्सकों से उनका कोई विवाद नहीं है, वह उनका सम्मान करते हैं। जिन बातों पर एलोपैथिक चिकित्सकों को आपत्ति थी, वह उन्हें पूर्व में ही बिना शर्त वापस ले चुके हैं, यही नहीं खेद भी जता चुके हैं। फिर भी विवाद है तो इसे समाप्त करने को मौन योग ही अब एकमात्र उपाय रह गया है।
योग गुरु के अनुसार इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आइएमए) के साथ भी उनका कोई विवाद नहीं है। उनकी लड़ाई उन ड्रग और मेडिकल माफिया के खिलाफ है जो दो रुपये की दवा दो हजार रुपये में बेचते हैं। यही वजह है कि एलोपैथी इलाज आम आदमी की पहुंच से दूर होता जा रहा है।
आरोप लगाया कि समूचा सिस्टम इनके अनुसार चलता है। यही लोग दवा और अन्य सहायक सामग्री के दाम तय करते हैं। बहुराष्ट्रीय कंपनियां भी इस खेल में शामिल हैं। उन्होंने इसके विरोध में आवाज उठाई तो सब ने मिलकर उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया। कहा कि यह लड़ाई किसी दबाव में बंद नहीं होगी, क्योंकि इससे 130 करोड़ भारतवासियों का हित जुड़ा हुआ है।
योग के साथ बिजनेस गुरु भी
योग गुरु ने कहा कि उन्होंने ड्रग माफिया के खिलाफ आवाज उठाई तो वह मेरा धंधा बंद कराने पर तुल गए। कहा कि, मैं किसी को भी पतंजलि प्रोडक्ट खरीदने के लिए विवश नहीं करता। आयुर्वेद के नुस्खों से घरेलू उपचार के उपाय भी बताता हूं। ताकि, लोग घर पर रहकर खुद को निरोग रख पाएं। उनका कहना था कि मैं अर्थ (धन)को परमार्थ के लिए प्रयोग करता हूं। इसी लिए योग के साथ ही बिजनेस गुरु भी हूं।
पढ़ें: योग गुरु बाबा रामदेव का एलान, खत्म करना चाहते हैं विवाद, मेरी उम्र अभी सिर्फ 25 साल

1 thought on “आखिरकार बाबा रामदेव को समझ आई ये बात, जितना बोलोगे तो उतना बढ़ेगा विवाद, अब मौन योग से करेंगे समाप्त

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *