June 15, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

डीएम के बाद अब महिला एडीएम ने मारा युवक को थप्पड़, वीडियो हो रहा वायरल

1 min read
पहले छत्तीसगढ़ के डीएम ने किशोर को थप्पड़ मारा तो वीडियो वायरल होने पर सीम ने उन्हें जिले से हटा दिया। अब मध्यप्रदेश से भी एक महिला अधिकारी का वीडियो वायरल हो रहा है।


इन प्रशासनिक अधिकारियों को क्या हो गया है। जो बात कानूनी तरीके से करनी चाहिए, उसी कानून को वे हाथ में ले रहे हैं। उन्हें किसी को थप्पड़ मारने का अधिकार किसने दिया। पहले छत्तीसगढ़ के डीएम ने किशोर को थप्पड़ मारा तो वीडियो वायरल होने पर सीम ने उन्हें जिले से हटा दिया। अब मध्यप्रदेश से भी एक महिला अधिकारी का वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें वह भी लॉकडाउन के दौरान दुकान में मौजूद युवक को थप्पड़ जड़ती नजर आती हैं। वहीं, एक पुलिस कर्मी भी युवक के हाथ में बेंत मारते हुए दिख रहा है।
मध्य प्रदेश के शाजापुर में एक महिला आधिकारी ने कोरोना कर्फ्यू के दौरान खुली दुकान में मौजूद एक युवक को थप्पड़ मार दिया। यह घटना दो दिन पुरानी है, जिसका वीडियो सामने आया है। मध्य प्रदेश के मालवा क्षेत्र के शाजापुर की अपर कलेक्टर मंजूषा विक्रांत राय का थप्पड़ मारने का वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है।
दो दिन पहले कोरोना कर्फ्यू के दौरान एक जूते की दुकान में मौजूद युवक पर एडीएम का गुस्सा सातवें आसमान में पहुंच गया। वीडियो में महिला अधिकारी के साथ कई पुलिसवाले भी हैं, जो पूछताछ कर रहे हैं और दुकान बंद करवा रहे हैं। इसी दौरान अधिकारी लड़के को एक थप्पड़ जड़ती हैं। एडीएम राय कोराना कर्फ्यू को लागू करवाने शहर में अपनी टीम के साथ घूम रही थीं। इसी दौरान वह जूते की दुकान पर पहुंची और जो युवक नजर आया, उस पर बरस पड़ीं। युवक ने कहा कि यह दुकान उसकी घर में है। इसी पर उन्होंने थप्पड़ मार दिया। अपर कलेक्टर बोलीं कि जब घर मीरकला में है तो झूठ क्यों बोल रहा है। इसके बाद प्रशासन ने इस दुकान को सील कर दिया था, जिस युवक को अपर कलेक्टर ने थप्पड़ मारा वो इसकी ही दुकान बताई जा रही है। जिसे वो ओर उसके पिता चलाते हैं। घटना के बाद अपर कलेक्टर का पक्ष इस मामले में सामने नहीं आ पाया है।
बता दें कि छत्तीसगढ़ में भी सरगुजा संभाग के सूरजपुर जिले के कलेक्टर रणवीर शर्मा ने लॉकडाउन के दौरान दवाई लेने निकले एक युवक को थप्पड़ मारा था। साथ ही पुलिस कर्मियों ने उसे डंडे भी मारे। सोशल मीडिया पर इस घटना का वीडियो वायरल होने पर खूब आलोचना हुई थी और अधिकारी के खिलाफ एक्शन लेने की मांग उठी थी। मामला बढ़ा तो अधिकारी ने माफी मांगी। साथ ही छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उन्हें पद से हटाने के निर्देश दिए और उस युवक और उसके परिवार से खुद माफी मांगी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *