June 16, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

भारत में कोरोना के नए संक्रमितों के साथ ही मौत का आंकड़ा हुआ कम, उत्तराखंड में टीकाकरण अभियान तोड़ रहा दम

1 min read
भारत में रविवार 23 मई को कोरोना के नए संक्रमितों का आंकड़ा फिर कम हुआ है। साथ ही एक दिन में मौत का आंकड़ा भी चार हजार से कम है।


भारत में रविवार 23 मई को कोरोना के नए संक्रमितों का आंकड़ा फिर कम हुआ है। साथ ही एक दिन में मौत का आंकड़ा भी चार हजार से कम है। लगातार दो दिन चार हजार से अधिक मौत होने के बाद फिर से इसकी संख्या कम हुई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से रविवार की सुबह जारी रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 24 घंटे के भीतर 240842 कोरोनावायरस के नए मामले मिले। वहीं, इस अवधि में 3741 लोगों की मौत हुई है। शनिवार 22 मई की सुबह कोरोना के संक्रमण के नए मामले 257299 दर्ज किए गए थे। इस दौरान 4194 लोगों की मौत कोरोना के कारण हुई थी।
देश में कोरोना संक्रमण के कुल मामले 26530132 से ऊपर पहुंच गए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक बीते 24 घंटे में 355102 लोग संक्रमण से उभरने में कामयाब रहे हैं। इसी प्रकार, अब तक 23425467 लोग वायरस से जंग जीत चुके हैं। पिछले 24 घंटे में संक्रमण के नए मामलों के मुकाबले ठीक होने वाले मरीजों की संख्या अधिक होने से एक्टिव मरीजों की संख्या में काफी कमी आई है। अब देश में एक्टिव केस 2805399 रह गए हैं।
टेस्टिंग की बात की जाए तो पिछले कुछ दिनों से रिकॉर्ड टेस्ट हो रहे हैं। बीते 24 घंटे में 2123782 कोरोना टेस्ट हुए हैं, जो कि एक दिन में टेस्टिंग का सबसे बड़ा आंकड़ा है। पॉजिटिविटी रेट यानी संक्रमण दर 11.34 प्रतिशत रह गई है।
कोरोना के खिलाफ देश में चल रहे वैक्सीनेशन अभियान पर गौर करें तो पिछले 24 घंटे में लोगों को वैक्सीन की 16,04,542 खुराकें दी गई हैं। अब तक कुल 19,50,04,184 डोज दी जा चुकी है।
उत्तराखंड में भी घट रहे हैं नए संक्रमित
उत्तराखंड में शनिवार का दिन कोरोना के लिहाज से कुछ राहत भरा रहा है। 22 मई की शाम स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में कोरोना के नए 2903 संक्रमित मिले। 64 लोगों की मौत हुई। राहत की बात ये भी है कि इस अवधि में 8164 लोग स्वस्थ हुए। अब प्रदेश में कोरोना के कुल एक्टिव केस साठ हजार से घटकर 57929 रह गए हैं। प्रदेश में टीकाकरण भी कम हो रहा है। पहले सामान्य दिनों के हिसाब से टीकाकरण आधा रह गया है। कंटेनमेंट जोन भी 531 से बढ़कर 541 हो गए हैं। उत्तराखंड में 25 मई की सुबह तक तक कोरोना कर्फ्यू है।
घट रही है टीकाकरण की संख्या
अब तक उत्तराखंड में नए संक्रमितों के मामले में तीन बार आठ हजार का आंकड़ा एक दिन में पार हो चुका है। वहीं, पहली बार नौ हजार का आंकड़ा शुक्रवार सात मई को पार हुआ था। यदि टीकाकरण की बात की जाए तो शनिवार को 238 केंद्र में 12957 लोगों को कोरोना के टीके लगाए गए। शुक्रवार को 231 केंद्र में 14860 लोगों को टीके, गुरुवार 20 मई को 295 केंद्रों में 15959 लोगों को कोरोना के टीके लगाए गए थे। ये संख्या पहले लगाए जा रहे टीकों की अपेक्षा आधी है। साथ ही कंटेनमेंट जोन 531 से बढ़कर 541 हो गए हैं। यहां एक तरीके से पूर्ण लॉकडाउन है।
सर्वाधिक संक्रमित देहरादून में मिले
उत्तराखंड में शनिवार को भी सर्वाधिक नए संक्रमित देहरादून में मिले। देहरादून में 610, नैनीताल में 256, हरिद्वार में 465, उधमसिंह नगर में 183, चमोली में 160, बागेश्वर में 40, रुद्रप्रयाग में 131, अल्मोड़ा में 221, पिथौरागढ़ में 112, पौड़ी में 297, टिहरी में 281, उत्तरकाशी में 58, चंपावत में 89 नए संक्रमित मिले।
मौत की दर 1.85 प्रतिशत
उत्तराखंड में अब कोरोना के कुल संक्रमितों की संख्या 310469 हो गई है। इनमें से 241430 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। अब तक प्रदेश में कुल 5734 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है। मौत की दर 1.85 हो गई है, जो कल शुक्रवार को 1.82 थी। चिंताजनक बात ये है कि मौत के मामले कई कई दिन बाद दर्ज हो रहे हैं। इससे साफ है कि पहले आंकड़े छिपाए गए थे। वहीं, रिकवरी 77.76 फीसद है।
पिछले सात दिन के आंकड़े
उत्तराखंड में शुक्रवार 21 मई को 3626 नए संक्रमित मिले थे और 70 लोगों की कोरोना से जान गई थी। गुरुवार 20 मई को 3658 नए संक्रमित, बुधवार 4492 नए संक्रमित, मंगलवार 18 को 4785, सोमवार 17 मई 3719 नए संक्रमित, रविवार 16 मई को 4496, शनिवार को 15 मई को 5654, नए संक्रमित मिले थे। वहीं, सात मई को सर्वाधिक 9642 नए कोरोना संक्रमित मिले थे। शनिवार 15 मई को सर्वाधिक 197 मौत दर्ज की गई थी।
541 स्थानों पर लॉकडाउन
उत्तराखंड में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच 541 स्थानों पर कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। संक्रमितों के लिहाज से ये संख्या घटती बढ़ती रहती है। यहां लॉकडाउन की स्थिति है। ऐसे स्थानों में सामाजिक, धार्मिक, व्यापारिक गतिविधियां प्रतिबंधित हैं। वहीं, लोगों को घरों से बाहर निकलने की अनुमति नहीं है। एक परिवार के एक सदस्य को आवश्यक वस्तु के लिए मोबाइल वेन तक जाने की अनुमति है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *