June 15, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

पूर्व मंत्री यशवंत सिन्हा का हमला, विदेश मे भेजे ज्यादा वैक्सीन, उत्तराखंड में 44 वर्ष से अधिक का टीकाकरण बंद, तब तक बजाओ ताली

1 min read
भारत में जिस तेजी से टीकाकरण अभियान शुरू किया गया था, अब वैक्सीन की कमी के चलते दम तोड़ने लगा है। उत्तराखंड में तो 45 साल से लेकर इससे अधिक आयु वर्ग का टीकाकरण ठप हो गया है।


भारत में जिस तेजी से टीकाकरण अभियान शुरू किया गया था, अब वैक्सीन की कमी के चलते दम तोड़ने लगा है। उत्तराखंड में तो 45 साल से लेकर इससे अधिक आयु वर्ग का टीकाकरण ठप हो गया है। सरकार को वैक्सीन का इंतजार है। वहीं, पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने भी वैक्सीन को विदेश में भेजने के मामले में केंद्र सरकार को घेरा है। इससे पहले कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी नेता इस मामले को लेकर पीएम मोदी की आलोचना कर रहे हैं। वहीं, उत्तराखंड में भी केंद्रों पर ताले लटक गए हैं। जब तक वैक्सीन आती है, तब तक कोरोना भगाने के लिए ताली ही बजा लो।
44 साल के अधिक वालों के केंद्र में ताले
18 साल से लेकर टीकाकरण की बात की जाए तो भारत सरकार ने इसे राज्यों के हवाले कर दिया है। केंद्र की तरफ से वैक्सीन मिलनी बंद हो गई है। राज्यों से कहा गया है कि ई टैंडरिंग के जरिये खुद की वैक्सीन खरीदें। ऐसे में सभी राज्य वैक्सीन के जुगाड़ में परेशान हैं। वहीं, एक मई से 18 साल से लेकर 44 साल का टीका शुरू किया गया तो 45 साल से लेकर इससे अधिक आयु वालों का टीकाकरण अभियान दम तोड़ने लगा है। सोमवार 17 मई को उत्तराखंड में भी 44 साल से अधिक वालों के टीकाकरण केंद्र में ताले लग गए हैं।
कई नेता कर रहे हैं आलोचना
पूर्व केंद्रीय मंत्री और तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हाने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर विदेशों में वैक्सीन निर्यात करने पर निशाना साधा। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र में एक चर्चा में भारतीय प्रतिनिधि के भाषण का एक वीडियो क्लिप ट्विटर पर साझा किया। इस क्लिप को सरकार की “वैक्सीन कूटनीति” के रूप में जाना जाता है। पिछले दिनों पीएम मोदी के खिलाफ पोस्टर चिपकाने और उनकी आलोचना करने पर दिल्ली पुलिस द्वारा 17 लोगों की गिरफ्तारी के बाद कई विपक्षी नेताओं ने इससे जुड़े कई अपमानजनक ट्वीट्स किए हैं, जो टीके की कमी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करता है। पीएम की आलोचना करने वालों में कांग्रेस के राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और तृणमूल कांग्रेस के मोहुआ मोइत्रा भी शामिल हैं।
यशवंत सिन्हा ने किया हमला
यशवंत सिन्हा ने अपने ट्वीट में लिखा है कि-10 सेकंड का एक वीडियो मोदी को एक्सपोज करता है। @UN में भारत के प्रतिनिधि ने संयुक्त राष्ट्र को सूचित किया कि भारत ने अपने लोगों को टीका लगाने की तुलना में विदेशों में अधिक टीके भेजे। मोदी अब वास्तव में एक विश्व नेता हैं भले भारतीय नरक में जाएं।
यूएनजीए की बैठक की है वीडयो क्लिप
यह वीडियो क्लिप मार्च में आयोजित यूएनजीए की अनौपचारिक बैठक में “india at UN, NY” के ट्विटर हैंडल से किए गए एक ट्वीट से ली गई है। भारत कोविड-19 टीकों के लिए समान वैश्विक पहुंच पर राजनीतिक घोषणा के आरंभकर्ताओं में से एक पक्ष के रूप में इस बैठक में भाग ले रहा था।
नागराज नायडू का है क्लिप
वीडियो क्लिप में-भारतीय प्रतिनिधि नागराज नायडू, जो भारत के राजदूत और संयुक्त राष्ट्र में उप स्थायी प्रतिनिधि हैं। वह वैक्सीन के क्षेत्र में भारत के योगदान के बारे में बोलते हुए दिखाई दे रहे हैं। क्लिप में उन्हें यह कहते हुए देखा जा सकता है कि- वैज्ञानिक समुदाय टीकों के आने के बाद-अब हम कोविड 19 टीकों की उपलब्धता, पहुंच, सामर्थ्य और वितरण सुनिश्चित करने के लिए सामना कर रहे हैं।
भारत में टीके लगाने से ज्यादा की विदेशों में आपूर्ति
क्लिप में नायडू ने वैक्सीन की उपलब्धता में समानता की आवश्यकता पर जोर देते हुए कहा कि अगर ऐसा नहीं किया गया तो इससे गरीब देशों पर गहरा असर पड़ेगा। उन्होंने कहा-भारत अगले छह महीनों में न केवल अपने स्वयं के 300 मिलियन फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं का टीकाकरण करेगा, बल्कि इस प्रक्रिया में 70 से अधिक देशों को भी टीकों की आपूर्ति की है। वास्तव में आज की स्थिति में हमने अपने लोगों को वैक्सीन देने की तुलना में विश्व स्तर पर अधिक टीकों की आपूर्ति की है।
उत्तराखंड में 44 साल से अधिक का टीकाकरण बंद
उत्तराखंड में 44 साल से अधिक लोगों के लिए वैक्सीन समाप्त हो चुकी है। अब प्रदेश को केंद्र का इंतजार है। उत्तराखंड में 45 साल से लेकर अधिक उम्र वालों के लिए एक अप्रैल से टीकाकरण शुरू किया गया था। शुरूआत में स्वास्थ्य विभाग ने इसके लिए राज्य में 720 टीकाकरण केंद्र बनाए थे। अब स्थिति ये है कि रविवार 16 मई को पूरे उत्तराखंड में 282 केंद्र में 18421 को टीके लगाए गए। इनमें 18 साल से 44 साल और 44 साल से अधिक वालों में 17281, हैल्थ केयर वर्कर्स में 84 व फ्रंटलाइन वर्कर्स में 1056 लोगों को कोरोना के टीके लगाए गए। वहीं, अब तक उत्तराखंड में कुल 1940279 टीके की डोज दी गई है। इनमें दोनों डोज 680066 लोगों को लगाई जा चुकी है। इनमें 18 व इससे अधिक को अब तक कुल 22167 डोज दी गई।
अब केंद्र सरकार से वैक्सीन नहीं मिलने के चलते उत्तराखंड में 45 से लेकर इससे अधिक उम्र वालों की वैक्सीन खत्म हो गई है। वैक्सीन की नई खेप दो-तीन दिन के भीतर आने की भी उम्मीद कम ही है। ऐसे में 44 साल से अधिक उम्र वालों का राज्य में वैक्सीनेशन ठप रहेगा। बताया जा रहा है कि जो कुछ वैक्सीन बची थी, वो रविवार को खत्म हो गई। राज्य की तरफ से केंद्र को वैक्सीन की डिमांड भेजी जा चुकी है। वैक्सीन 20 मई से पहले पहुंचने की उम्मीद है।

1 thought on “पूर्व मंत्री यशवंत सिन्हा का हमला, विदेश मे भेजे ज्यादा वैक्सीन, उत्तराखंड में 44 वर्ष से अधिक का टीकाकरण बंद, तब तक बजाओ ताली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *