June 15, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

आयुर्वेदिक बेरोजगार डिप्लोमा फार्मासिस्टों को मिले शीघ्र नियुक्ति: डॉ. डीसी पसबोला

1 min read
उत्तराखंड राज्य के बेरोजगार आयुर्वेदिक फार्मेसिस्टों ने प्रदेश के मुख्यमंत्री को ज्ञापन प्रेषित कर कोरोना काल में सम्बन्धित विभाग में नौकरी दिलाने की मांग की है।

उत्तराखंड राज्य के बेरोजगार आयुर्वेदिक फार्मेसिस्टों ने प्रदेश के मुख्यमंत्री को ज्ञापन प्रेषित कर कोरोना काल में सम्बन्धित विभाग में नौकरी दिलाने की मांग की है। बेरोजगार आयुर्वेदिक फार्मेसिस्टों ने कहा कि यदि सरकार उन्हें रोजगार देने का निर्णय लेती है, तो राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं से जूझ रहे ग्रामीणों को चिकित्सा सेवा का लाभ मिलने के साथ ही कोरोना महामारी में स्वास्थ्य कर्मियों कमी से भी निजात मिलेगी।
राजकीय आयुर्वेदिक एवं यूनानी चिकित्सा सेवा संघ उत्तराखंड के प्रदेश मीडिया प्रभारी डॉ. डीसी पसबोला ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश के बेरोजगार आयुर्वेदिक फार्मेसिस्टों ने प्रदेश के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत एवं आयुष मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत को ज्ञापन प्रेषित किया है। इसमें मुख्यमंत्री एवं आयुष मंत्री से राज्य के विभिन्न राजकीय आयुर्वेदिक एवं एलौपैथिक चिकित्सालयों में रिक्त पदों पर शीघ्र नियुक्ति देने की मांग की गयी है।
इसके अलावा आयुर्वेद विश्वविद्यालय, नगर निगम, भारतीय सेना के चिकित्सालयों एवं‌ नगर पंचायत स्तर पर भी रोजगार देने की मांग की गयी है। इसके अलावा एलोपैथिक फार्मासिस्टों की तरह लाइसेंस देने की भी मांग की गयी है। राज्य में हजारों पंजीकृत आयुर्वेदिक फार्मासिस्ट बेरोजगार हैं। राजकीय आयुर्वेदिक संघ के प्रान्तीय उपाध्यक्ष डॉ. अजय चमोला ने भी बेरोजगार आयुर्वेदिक फार्मेसिस्टों की सभी मांगों का समर्थन किया है।
डॉ. पसबोला ने बताया कि राज्य में दो दर्जन से ज्यादा कालेज है, जहां से निकलकर हर साल सैंकड़ों बेरोजगार आयुर्वेदिक फार्मेसिस्टों की संख्या में इजाफा ही होता जा रहा है। इन बेरोजगारों को रोजगार देने के मामले में राज्य सरकार का रवैया हमेशा से सौतेला ही रहा है। यहां तक कि राज्य में उनकी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। अब उनके सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है और उनकी आर्थिक स्थिति भी चरमरा गई है, ऊपर से कोरोना महामारी ने कोढ़ में खाज का काम किया है। ज्ञापन पर गीता धौलाखण्डी, ज्योति, ममता नयाल, हरेंद्र कुमार, सूरज, प्रदीप, लक्ष्मण, वैशाली, तन्नू , सुनीता, रोहित, दीक्षा, पूजा आदि फार्मासिस्टों के हस्ताक्षर हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *