June 16, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

उत्तराखंड में अब बच्चे भी कोरोना की चपेट में, इस कोविड अस्पताल में बच्चों के होंगे बेड

1 min read
उत्तराखंड में कोरोना के कहर के बीच अब छोटे बच्चे भी संक्रमित होने लगे हैं। इनकी संख्या में निरंतर इजाफा हो रहा है। गत दिवस इसे लेकर सीएम तीरथ सिंह रावत ने भी चिंता व्यक्त की थी।

उत्तराखंड में कोरोना के कहर के बीच अब छोटे बच्चे भी संक्रमित होने लगे हैं। इनकी संख्या में निरंतर इजाफा हो रहा है। उत्तराखंड में एक से 14 मई के बीच कोरोना के कुल 97064 मामले सामने आए। इस दौरान 1618 बच्चे संक्रमित मिले। यह कुल संक्रमित का महज 1.6 फीसद है। ज्यादा बडी बात ये है कि बच्चों में मौत का प्रतिशत बेहद कम है और वह काफी जल्दी रिकवर हो जा रहे हैं। गत दिवस इसे लेकर सीएम तीरथ सिंह रावत ने भी चिंता व्यक्त की थी। स्वास्थ्य से जुड़े अधिकारियों की बैठक में मुख्य सचिव ने भी कोविड अस्पतालों में बच्चों की आवश्यकता के अनुरूप बेड की व्यवस्था पर भी जोर दिया।
स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के अनुसार, 16 अप्रैल से 30 अप्रैल के बीच में नौ और इससे कम उम्र के 1053 बच्चे संक्रमित हुए। मई माह में एक से 14 मई के बीच 1618 बच्चे भी इस महामारी में संक्रमित पाए गए। चिंता की बात ये है कि अभी बच्चों की कोरोनारोधी वैक्सीन भी नहीं आई है। इससे बच्चों को सिर्फ कोरोना के सुरक्षा नियमों के तहत ही संक्रमण से बचाना होगा। जैसे मास्क, शारीरिक दूरी और सैनिटाइजर से हाथों को बार बार धोना।
इससे पहले बीते गुरुवार को बाल अधिकार एवं संरक्षण आयोग की अध्‍यक्ष उषा नेगी ने कोरोना की तीसरी लहर से बच्‍चों के लिए की गई व्‍यवस्‍था को लेकर स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के अधिकारियों की बैठक ली थी। इसमें पाया गया कि चार जिलों में 102 बच्‍चे संक्रमित हुए। इनमें से कईयों का स्‍वास्‍थ्‍य में सुधार आया है। रुद्रप्रयाग में एक नवजात समेत दो से 13 वर्ष के बीच 44 बच्‍चे संक्रमित हुए। इसके अलावा हरिद्वार में 14, अल्‍मोड़ा में 4 और ऊधम सिंह नगर में 40 बच्‍चे संक्रमित हुए हैं। इस संबंध में आयोग की अध्‍यक्ष उषा नेगी ने भी बच्‍चों की सही देखभाल करने और समय समय पर आयोग को अपडेट उपलब्‍ध कराने के भी निर्देश दिए थे।
सीएम और मुख्य सचिव ने भी जताई चिंता
शनिवार को स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा था कि कि विशेषज्ञ, कोविड की तीसरी लहर की सम्भावना व्यक्त कर रहे हैं। हमें वर्तमान में कोविड की स्थिति का भी सामना करना है और कोविड की सम्भावित तीसरी लहर को लेकर अभी से पुख्ता तैयारियां भी करनी हैं। वहीं,  मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने कहा कि हम सभी को मिलकर काम करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि डीआरडीओ की ओर से बनाए जा रहे कोविड अस्पताल में कुछ बेड बच्चों के अनुरूप रखे जाएं।
उत्तराखंड में टूटा मौत का रिकॉर्ड
उत्तराखंड में एक बार फिर कोरोना से मौत का रिकॉर्ड टूट गया। शनिवार 15 मई की शाम को स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी रिपोर्ट में को 24 घंटे के भीतर सर्वाधिक 197 मौत दर्ज की गई। इससे पहले पिछले रविवार नौ मई को सर्वाधिक 180 लोगों की मौत हुई थी। लगातार दूसरे दिन नए संक्रमितों की संख्या भी घटी है। शनिवार को 5654 नए संक्रमित मिले। 4806 लोग स्वस्थ हुए। एक्टिव केस बढ़कर 80 हजार हो गए हैं। शुक्रवार 14 मई को 5775 नए संक्रमित मिले थे और 116 लोगों की मौत हुई थी। गुरुवार 13 मई को प्रदेश में 7127 नए संक्रमित मिले थे। वहीं, 122 लोगों की कोरोना से मौत हुई थी। वहीं, सात मई को सर्वाधिक 9642 नए कोरोना संक्रमित मिले थे।
अब तक प्रदेश में नए संक्रमितों के मामले में तीन बार आठ हजार का आंकड़ा एक दिन में पार हो चुका है। वहीं, पहली बार नौ हजार का आंकड़ा शुक्रवार सात मई को पार हुआ था। यदि टीकाकरण की बात की जाए तो शनिवार को 483 केंद्र में 33090 लोगों को कोरोना के टीके लगाए गए। साथ ही कंटेनमेंट जोन 471 हो गए हैं। यहां एक तरीके से पूर्ण लॉकडाउन है। उत्तराखंड में 18 मई तक कोविड कर्फ्यू लागू है। इसे अब एक सप्ताह तक और बढ़ाया जाएगा। साथ ही शादी की अनुमति के लिए दूल्हा दुल्हन सहित परिजनों को कोरोना निगेटिव रिपोर्ट देनी होगी। वहीं, हरिद्वार में कोरोना से मौत के आंकड़े छिपाने का भी खुलासा हुआ है।
एक्टिव केस की संख्या पहुंची 80 हजार
उत्तराखंड में कोरोना के एक्टिव केस अब 80000 हो गए हैं। अब तक कुल संक्रमितों की संख्या 283239 हो गई है। इनमें 193436 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। अब तक कुल 4623 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है। मौत का प्रतिशत 1.63 हो गया है। जो चिंताजनक है।
सर्वाधिक संक्रमित देहरादून में
शनिवार को भी देहरादून में सर्वाधिक 1423 संक्रमित मिले। नैनीताल में 1037, पौड़ी में 482, हरिद्वार में 464, उत्तरकाशी में 428, टिहरी में 405, उधमसिंह नगर में 384, अल्मोड़ा में 339, पिथौरागढ़ में 246, चमोली में 215, बागेश्वर में 138, रुद्रप्रयाग में 51, चंपावत में 42 नए संक्रमित मिले।
एक सप्ताह और बढ़ेगा कोरोना कर्फ्यू
कोरोना कर्फ्यू एक सप्ताह और 25 मई तक बढ़ने वाला है। इस फैसले पर सिद्धांत सहमति हो चुकी है। साथ ही शादी की अनुमति के लिए दूल्हा और दुल्हन सहित परिवार के सभी को आरटी-पीसीआर निगेटिव रिपोर्ट पेश करना जरूरी है। शासकीय प्रवक्ता सुबोध उनियाल ने कहा कि एक सप्ताह तक बढ़ाने से 22 मई के बाद नतीजे दिखने शुरू हो जाएंगे। मौजूदा हालत में कर्फ्यू बढ़ाना उचित। सीएम के साथ चर्चा हो चुकी है। शादियों में 20 लोगों की अनुमति है। फिलहाल इस संख्या को कम नहीं किया जाएगा। कर्फ्यू पर प्रतिबंध और रियायत को लेकर सरकार की बैठक में फैसला होगा।
ग्रामीण क्षेत्र में पृथक कमरा न हो तो सेंटर भेजें मरीज को
ग्रामीण क्षेत्र में संक्रमित के होम आइसोलेशन की घर पर पृथक कमरे की व्यवस्था न होने की स्थिति में कोविड केयर सेंटर में रखने के आदेश समस्त डीएम और सीएमओ को दिए हैं। स्वास्थ्य सचिव अमित सिंह नेगी ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है।
471 स्थानों पर लॉकडाउन
उत्तराखंड में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच 471 स्थानों पर कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। यहां लॉकडाउन की स्थिति है। ऐसे स्थानों में सामाजिक, धार्मिक, व्यापारिक गतिविधियां प्रतिबंधित हैं। वहीं, लोगों को घरों से बाहर निकलने की अनुमति नहीं है। एक परिवार के एक सदस्य को आवश्यक वस्तु के लिए मोबाइल वेन तक जाने की अनुमति है। इन क्षेत्र में देहरादून में 100, हरिद्वार में 35, नैनीताल में 55, पौड़ी में 16, उत्तरकाशी में 79, उधमसिंह नगर में 75, चंपावत में 34, चमोली में 8, टिहरी में 31, रुद्रप्रयाग में 9, पिथौरागढ़ में 9, अल्मोड़ा में 17, बागेश्वर में 3 कंटेनमेंट जोन हैं।
छिपा दिए मौत के आंकड़े
हरिद्वार के एक अस्पताल ने मौत के आंकड़े ही छिपा दिए। यहां पर बाबा बर्फानी नाम के निजी हॉस्पिटल ने 65 लोगों की मौत के मामले में जानकारियां छिपा दी। राज खुलने पर अस्पताल के साथ ही सीएमओ को नोटिस भेजा गया। राज्य कोविड कंट्रोल रूम में 24 घंटों के भीतर कोरोना संबंधित जानकारी देनी होती है। बाबा बर्फानी हॉस्पिटल में 25 अप्रैल से 12 मई तक उपचार के दौरान 65 कोरोना के मरीजों की मौत हुई थी, लेकिन अस्पताल प्रबंधन ने कंट्रोल रूम को इसकी जानकारी नहीं दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *