June 14, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

जनाजे में उमड़ी हजारों की भीड़, कोरोना के नियम हुए तार-तार, मूकदर्शक देखता रहा प्रशासन

1 min read
उत्तर प्रदेश के बदायूं में दरगाह आलिया कादरिया के सज्जादा नशीन काजी-ए-जिला शेख अब्दुल हमीद मोहम्मद सालिमुल कादरी के जनाजे में मुरीदों की इस कदर भीड़ उमड़ी कि सामाजिक दूरी तो अलग मास्क के नियम भी टूट गए।

रविवार को तड़के उत्तर प्रदेश के बदायूं में दरगाह आलिया कादरिया के सज्जादा नशीन काजी-ए-जिला शेख अब्दुल हमीद मोहम्मद सालिमुल कादरी के जनाजे में मुरीदों की इस कदर भीड़ उमड़ी कि सामाजिक दूरी तो अलग मास्क के नियम भी टूट गए। पुलिस और जिला प्रशासन कुछ नहीं कर सका। जब सोशल मीडिया पर भीड़ का वीडियो वायरल हुआ तो सदर कोतवाली पुलिस ने अज्ञात भीड़ के खिलाफ कोविड-19 और कर्फ्यू उल्लंघन के आरोप में एफआईआर दर्ज कर ली है।
दरगाह आलिया कादरिया के सज्जादा नशीन काजी-ए-जिला शेख अब्दुल हमीद मोहम्मद सालिमुल कादरी का पूरा जिला मुरीद था। रविवार तड़के जब लोगों को उनके जाने की खबर मिली तो लोग गम में डूब गए। उनके इंतकाल का समाचार जिले में आग की तरह फैल गया था। इससे जिलेभर से हजारों की संख्या में लोग उनके घर पर पहुंचना शुरू हो गए। सुबह नौ बजे तक भीड़ इतनी ज्यादा हो गई कि लोगों को अंदाजा लगाना मुश्किल हो गया कि कितने लोग हैं। इतनी भीड़ का अंदाजा प्रशासन और पुलिस को भी नहीं था।
भीड़ में न तो शारीरिक दूरी का ही ध्यान रखा गया और कई लोग तो बगैर मास्क के ही नजर आए। सभी चाहने वाले उनके आखिरी दर्शन करना चाहते थे। इससे उनके बीच धक्कामुक्की तक हो गई। उनकी अंतिम यात्रा के दौरान हजारों की संख्या में लोग पीछे चल रहे थे। उनके जनाजे को कांधा देने वालों की कमी नहीं थी। पूरी सड़क फुल हो गई।
कब्रिस्तान तक में पैर रखने की जगह नहीं थी। ये भीड़ देखकर पुलिस प्रशासन कुछ नहीं कर सका, लेकिन रविवार रात सदर कोतवाली पुलिस ने अज्ञात भीड़ के खिलाफ धारा 188, 269 और 270 के तहत मामला दर्ज कर लिया। इंस्पेक्टर देवेंद्र कुमार धामा ने बताया कि अज्ञात भीड़ के खिलाफ एफआईआर लिख ली गई है। आगे की कार्रवाई उच्चाधिकारियों के आदेश पर कराई जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *