June 16, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

हे भगवान, ये कैसा शैतान, इस्तेमाल की गई सामग्री से ही कर रहा था कोरोना सैंपलिंग, चाइनिज 69 ऑक्सीमीटर के साथ एक दबोचा

1 min read
देहरादून में एक ऐसे चिकित्सक को पुलिस ने गिरफ्तार किया, जिसके पास आरटी-पीसीआर सैंपल लेने का कोई लाइसेंस नहीं था। उसके पास जो उपकरण बरामद किए गए, उनमें कुछ ऐसे उपकरण थे, जो इस्तेमाल किए हुए थे।

कोरोनाकाल में कुछ लोग आपदा को ही अवसर में बदल रहे हैं। लोगों की मजबूरी का फायदा उठा रहे हैं। कुछ चिकित्सा संबंधी उपकरणों को महंगे दामों में बेच रहे हैं, तो कुछ बगैर अनुमति के ही लोगों के कोरोना सैंपल लेकर मुंहमांगी रकम वसूल रहे हैं। देहरादून में एक ऐसे चिकित्सक को पुलिस ने गिरफ्तार किया, जिसके पास आरटी-पीसीआर सैंपल लेने का कोई लाइसेंस नहीं था। उसके पास जो उपकरण बरामद किए गए, उनमें कुछ ऐसे उपकरण थे, जो इस्तेमाल किए हुए थे। यानी वो अब तक ना जाने कितनों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ कर चुका था।
उत्तराखंड की राजधानी सेलाकुई पुलिस ने एंटीजन और रैपिड टैस्ट करने के आरोप में एक क्लीनिक संचालक चिकित्सक को गिरफ्तार किया। पुलिस के मुताबिक सेलाकुई मे मेन बाजार चकराता रोड बैलून होटल के पास सरस्वती क्लीनिक संचालक चिकित्सक ललित कुमार बगैर किसी लाइसेंस के अवैध तरीके से लोगो के कोरोना की जांच के लिए सैंपल ले रहा था।
इसकी सूचना पर क्लीनिक में छापा मारा गया। जहां कोरोना टेस्ट करने के उपकरण बरामद किए गए। इनमे कुछ नये व कुछ इस्तेमाल हो चुके उपकरण थे। इस पर सरस्वती क्लीनिक संचालक डॉ. ललित कुमार को बिना अनुमति के कोरोना महामारी संक्रमण के एंटीजन व रैपिड टैस्ट कर लोगो का जीवन खतरे मे डालने पर पर गिरफ्तार किया गया। उक्त चिकित्सक मूल रूप से मंझोल जबरदस्तपुर थाना झबरेडा हरिद्वार निवासी है। उसके पास से 24 कोरोना एंटीजन किट, 25 नमूना सुरक्षित करने वाली किट, 3 सैम्पल रनिंग बफर, इस्तमाल हो चुके छह रैपर कोरोना एंटीजन किट बरामद किए गए।
चाइनीज कंपनी के 69 ऑक्सीमीटर के साथ एक गिरफ्तार
चाईनीज कम्पनी के ऑक्सीमीटर को इंडियन मार्का बताकर महंगे दामों में बेचने के मामले में पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया। उसके पास से 69 ऑक्सीमीटर बरामद किए गए। मामला देहरादून में विकासनगर थाना क्षेत्र का है।
पुलिस टीम ने एक्टिवा सवार रेसकोर्स चन्दर नगर निवासी कुलदीप सडाना को विकासनगर रोड हरर्बटपुर के पास से गिरफ्तार किया। वह चाइनिज कंपनी के ऑक्सीमीटर को इंडिया मार्का के बताकर लोगों को बेचने का काम कर रहा था। उसके पास से 39500 रुपये भी बरामद किए गए।
पूछताछ में उसने पुलिस को बताया कि वह कोविड महामारी के चलते मास्क की सप्लाई किया करता है। ऑक्सीमीटर की मांग बाजार में ढ़ने के कारण वह ऑक्सीमीटर भी कमीशन पर बेचने लगा था। ज्यादा मुनाफा कमाने के चक्कर में देहरादून स्थित धामावाला मस्जिद के सामने पवन पटाके वालो से सस्ते चाईनीज ऑक्सीमीटर लाकर पछवादून की केमिस्ट की दुकानों में सप्लाई कर रहा था। एक ऑक्सीमीटर को वह दो हजार रुपये में बेच रहा था। बरामद रुपये ऑक्सीमीटर बेच कर कमाए गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *