May 16, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

भारत में फिर बढ़े कोरोना के नए केस, 3780 रिकॉर्ड मौत, उत्तराखंड के हालात चिंताजनक, दोबारा नहीं होगा आरटी-पीसीआर

1 min read
भारत में कोरोना के नए संक्रमितों में तीन दिन कमी के बाद फिर से नए संक्रमितों की संख्या बढ़ गई। बुधवार पांच मई की सुबह स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटे के भीतर 382315 नए मामले दर्ज किए गए। वहीं, 3780 लोगों की कोरोना से जान चली गई।


भारत में कोरोना के नए संक्रमितों में तीन दिन कमी के बाद फिर से नए संक्रमितों की संख्या बढ़ गई। बुधवार पांच मई की सुबह स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटे के भीतर 382315 नए मामले दर्ज किए गए। वहीं, 3780 लोगों की कोरोना से जान चली गई। इससे पहले मंगलवार चार मई को देश में संक्रमण के 3,57,229 नए मामले दर्ज किए गए थे। वहीं इस अवधि में 3449 लोगों की मौत हुई थी। बुधवार लगातार 14 वां दिन है, जब कोरोना संक्रमण के मामले 3 लाख से ज्यादा आए हैं।
आइसीएमआर की नई एडवाइजरी जारी
कोरोना जांच को लेकर इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने मंगलवार को नई एडवाइजरी जारी की है। इस एडवाइजरी के अनुसार, लैब का दबाव कम करने के लिए आरटी-पीसीआर जांच को कम-से-कम करने और रैपिड एंटीजन जांच को बढ़ाने की बात कही गई है।
ICMR ने एडवाइजरी में कहा कि देश में कोरोना संक्रमण की जांच करने वाली प्रयोगशालाएं काफी दबाव में काम कर रही हैं। ऐसे में बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए जांच के लक्ष्‍य को पूरा करने में कठिनाई हो रही है, क्‍योंकि प्रयोगशालाओं का कुछ स्‍टाफ संक्रमित भी है।
ICMR के ये हैं प्रमुख सुझाव
-जिन लोगों को एक बार आरटीपीसीआर या रैपिड एंटीजन टेस्‍ट (RAT) की जांच में संक्रमण पाया गया था, उनका दूसरी बार आरटीपीसीआर जांच नहीं होना चाहिए।
-अस्‍पतालों में कोरोना संक्रमण से ठीक होने के बाद डिस्चार्ज के समय मरीजों का टेस्‍ट करने की आवश्‍यकता नहीं है।
-लैबों में दबाव कम करने के लिए अंतरराज्यीय यात्रा करने वाले स्‍वस्‍थ लोगों के आरटीपीसीआर टेस्‍ट की पूरी तरह से अनिवार्यता को हटाया जाए।
-फ्लू या कोरोना वायरस के लक्षण वाले लोगों को गैर जरूरी यात्रा और अंतरराज्‍यीय यात्रा करने से किसी भी हाल में बचना चाहिए. इससे संक्रमण कम फैलेगा।
-यात्रा के दौरान कोरोना के सभी गैर लक्षणी लोगों को कोविड गाइडलाइंस का पालन करना होगा।
राज्‍यों को आरटीपीसीआर टेस्‍ट को मोबाइल सिस्‍टम के जरिये बढ़ावा देने को प्रोत्‍साहित किया जा रहा है।
रैपिड एंटीजन टेस्‍ट को बताया फायदेमंद
ICMR ने नई एडवाइजरी में कहा कि कोरोना टेस्‍ट के लिए जून 2020 में रैपिड एंटीजन टेस्‍ट को अपनाया गया था। वर्तमान में यह टेस्ट कंटेनमेंट जोन और कुछ हेल्‍थ सेंटर पर ही सीमित है। इस टेस्‍ट का फायदा यह है कि इससे 15 से 20 मिनट में ही कोरोना वायरस का पता चल जाता है। ऐसे में मरीज को शीघ्र स्वस्थ होने में भी काफी मदद मिलती है।
रैपिड टेस्‍ट से संबंधित ये हैं सुझाव
-सभी सरकारी और निजी हेल्‍थकेयर फैसिलिटी में रैपिड एंटीजन टेस्‍ट को अनिवार्य करना चाहिए।
-शहरों, कस्‍बों, गांवों में लोगों की बड़े स्‍तर पर जांच के लिए RAT बूथ लगना चाहिए.
शहरों, गांवों में यह RAT बूथ कई स्‍थानों पर लगना चाहिए। इनमें स्‍कूल-कॉलेज, कम्‍युनिटी सेंटर, खाली स्‍थानों शामिल होने चाहिए।
-24 घंटे और सातों दिन ये बूथ काम करें।
-स्‍थानीय प्रशासन अपने स्‍तर पर ड्राइव थ्रू बूथ शुरू कर सकता है।
उत्तराखंड में बना एक दिन के संक्रमितों का नया रिकॉर्ड
उत्तराखंड में कोरोना का कहर जारी है। मंगलवार चार मई की शाम को स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 7028 नए कोरोना के संक्रमित मिले। ये अब तक का प्रदेश में सर्वाधिक आंकड़ा है। इससे पहले 28 अप्रैल को सर्वाधिक 6954 नए संक्रमित मिले थे। प्रदेश में 85 लोगों की कोरोना से मौत हुई। इससे पहले सर्वाधिक 128 लोगों की मौत सोमवार तीन मई को हुई थी। वहीं, मंगलवार को 5696 लोग कोरोना को मात देकर स्वस्थ हुए हैं। इसी माह अप्रैल में एक दिन में नए संक्रमितों के मामले में ये लगातार 10वीं बार है कि जब एक दिन में पांच हजार से ज्यादा संक्रमित मिले। वहीं, तीन बार छह हजार, और एक बार सात हजार का आंकड़ा एक दिन में पार हो चुका है। मंगलवार को 229 केंद्र में 25403 लोगों को कोरोना के टीके लगाए गए। ये संख्या कम है। पहले हर दिन रोजाना तीस से चालीस हजार लोगों को टीके लगाए जा रहे थे। एक दिन तो ये आंकड़ा एक लाख के पार भी पहुंचा था। प्रदेश के कई शहरों में छह मई तक कर्फ्यू है। साथ ही प्रदेश भर में 279 कंटेनमेंट जोन हैं। बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड के सीएम को फोन कर उत्तराखंड के हालात की जानकारी ली।
कुल संक्रमित दो लाख के पार
उत्तराखंड में अब कुल संक्रमितों की संख्या दो लाख के पार हो गई। मंगलवार को कुल संक्रमितों की संख्या 204051 हो गई। इनमें से 140184 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। वहीं अब तक उत्तराखंड में कुल 3015 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है। यही नहीं, मंगलवार को कुल 45213 लोगों के कोरोना टेस्ट के लिए सैंपल लिए गए।
सर्वाधिक संक्रमित देहरादून में
मंगलवार को भी देहरादून में सर्वाधिक 2789 संक्रमित मिले। उधमसिंह नगर में 833, नैनीताल में 819, हरिद्वार में 657, पौड़ी गढ़वाल में 513, पिथौरागढ़ मे 231, बागेश्वर में 215, टिहरी गढ़वाल में 200, अल्मोड़ा में 170, चंपावत में 163, उत्तरकाशी में 153, चमोली में 150, रुद्रप्रयाग में 135 नए संक्रमित मिले।
यदि आप कोरोना पॉजिटिव हैं तो करें ये उपाय
आप कोरोना पोजटिव हैं घबराएं नहीं, निम्नानुसार दवाईओं का नियमित सेवन करें-
1-Tab Ivermectin 12 mg- एक गोली रोज सुबह शाम खाने के बाद तीन दिन तक।
2-Tab Azithromycin 500mg- एक गोली रोज सुबह खाने के बाद 3 दिन तक।
3-Tab Doxi 100mg- एक गोली रोज सुबह शाम खाने के बाद 7 दिन तक
4-Tab Paracetamol 650mg- एक गोली जब भी बुखार आए।
5-Tab Limcee500 (Ascorbic Acid 500)- दिन में तीन बार खाने से पहले 10 दिन तक।
6-Tab Zinconia (Elemental Zinc 50mg) -सुबह शाम खाने से पहले 10 दिन तक।
7-Calcirol Sachet (Cholicalciferol 6000IU)- दूध के साथ हफ्ते में एक बार एक महीने तक, उसके बाद महीने में एक बार।
विशेष सलाह
1 -प्रतिदिन 3 से 4 लीटर गुनगुना पानी पीयें।
2- दिन में तीन बार भाप लें।
3- आठ घंटे सोयें।
4- प्रीतिदिन हल्का व्यायाम करें अथवा टहलें।
5- ऑक्सीजन मॉनिटर करें
विशेष – जब बुखार 5 दिन बाद भी रहे एवं ऑक्सीजन लेवल 95 फीसद से कम हो और सांस लेने में तकलीफ हो तो तुरंत डॉक्टर की सलाह के बाद ही steroid लें।
लिंक- http://www.esanjeevaniopd.in/Register
Regards: Uttarakhand Health and Family Welfare Society.
279 स्थानों पर लॉकडाउन
कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच 279 स्थानों पर कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। यहां लॉकडाउन की स्थिति है। ऐसे स्थानों में सामाजिक, धार्मिक, व्यापारिक गतिविधियां प्रतिबंधित हैं। वहीं, लोगों को घरों से बाहर निकलने की अनुमति नहीं है। एक परिवार के एक सदस्य को आवश्यक वस्तु के लिए मोबाइल वेन तक जाने की अनुमति है। इन क्षेत्र में देहरादून में 64, हरिद्वार में 11, नैनीताल में 43, पौड़ी में 14, उत्तरकाशी में 60, उधमसिंह नगर में 49, चंपावत में 20, चमोली में तीन, टिहरी में 9, रुद्रप्रयाग में 3, पिथौरागढ़ में एक, अल्मोड़ा में 2 कंटेनमेंट जोन है।
कई शहरों में छह मई की सुबह तक कोरोना कर्फ्यू
देहरादून में देहरादून, मसूरी, विकासनगर, हरर्बटपुर, मसूरी, डोईवालाऔर ऋषिकेश, नैनीताल में हल्द्वानी, रामनगर और लालकुआं, पौड़ी में कोटद्वार, स्वर्गाश्रम व लक्ष्मणझूला, टिहरी के कई कस्बों, उधमसिंह नगर, चंपावत, हरिद्वार आदि में तीन मई की सुबह तक कर्फ्यू था। अब इसकी अवधि बढ़ाकर छह मई की सुबह कर दी गई है। यहां आवश्यक वस्तुओं की दुकानें खुलेंगी। अन्य स्थानों पर हर शाम सात बजे से सुबह पांच बजे तक नाइट कर्फ्यू है। कर्फ्यू में दुकान दोपहर के 12 बजे तक ही खुलेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *