May 16, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

कोरोना पर पूर्व सीएम हरीश रावत बोले- सरकार के कदम हिचकिचाहट भरे, उठाने चाहिए कठोर कदम

1 min read
उत्तराखंड में कोरोना के बढ़ते कहर के बीच उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सीएम से कहा कि हिचकिटाहट छोड़ो और कठोर कदम उठाओ।

उत्तराखंड में कोरोना के बढ़ते कहर के बीच उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सीएम से कहा कि हिचकिटाहट छोड़ो और कठोर कदम उठाओ। उत्तराखंड की चिंताजनक स्थिति है। लोगों का जीवन बचाना प्रशासक का दायित्व है। हम आपके साथ हैं।
सोशल मीडिया में डाली गई पोस्ट में कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत ने लिखा कि- माननीय तीरथ सिंह जी आज राज्य में संक्रमण (कोरोना संक्रमितों की संख्या) 7000 का आंकड़ा पार कर गया है। देहरादून में 2800 का आंकड़ा पार कर गया है। जो अभी तक उठाए गये कदम हैं वो हिचकिचाहट भरे हैं। इसलिए उनका असर नहीं दिखाई दे रहा है। अपने सलाहकर मंडल से बातचीत करिये और कठोर से कठोर निर्णय लेने में भी संकोच न करिये। प्रशासक का पहला दायित्व अपने लोगों के जीवन को बचाना है। इस प्रयास में हम आपके साथ खड़े दिखाई देंगे।
ये भी दी सलाह
इससे पहले एक और पोस्ट के जरिये हरीश रावत ने लिखा कि- माननीय मुख्यमंत्री जी हल्द्वानी से मेरे पास अभी 2 ऐसे केस की सूचना आयी है, जो सुशीला तिवारी हॉस्पिटल के आईसीयू में भर्ती हैं। उन्हें क्रिटिकल मेडिकल केयर की जरूरत है। पिछले दिनों एक प्लाज्मा चढ़ाये गये नौजवान की मौत हो गई। क्योंकि उनको जो क्रिटिकल केयर की आवश्यकता थी, वो क्रिटिकल केयर फैसिलिटीज सुशीला तिवारी में उपलब्ध नहीं बताई जा रही हैं। वहां डॉक्टर्स बहुत कठिन प्रयास कर रहे हैं, मगर बिना आवश्यक सुविधाओं के उनकी क्षमता बाधित हो जा रही है।
उन्होंने आगे लिखा कि- सुशीला तिवारी हॉस्पिटल पर काफी लोड है और उस हिसाब से हॉस्पिटल में सुविधाएं कम हैं। अब हो यह रहा है कि हल्द्वानी में इस तरीके की अग्रिम सुविधाओं के न होने पर सारा बोझ एम्स ऋषिकेश या देहरादून के 1-2 मेडिकल कॉलेजेज पर आ जा रहा है। यहां पहले से ही पश्चिमी उत्तर प्रदेश सहारनपुर आदि का दबाव भी है। हमारी भी त्रुटि है कि संक्रमण के पहले दौर में भी यह कमियां सामने आई थी, लेकिन हम उन कमियों को दूर करने के लिए सरकार पर दबाव नहीं बना पाये।
हरीश रावत ने कहा कि- मेरा, मुख्यमंत्री जी आपसे व स्वास्थ्य सचिव से अनुरोध है कि जो सुविधाएं सुशीला तिवारी में अपग्रेड की जा सकती हैं या नई स्थापित की जा सकती हैं, उस पर अभी से काम प्रारंभ करें। ताकि जिस तीसरी कोरोना लहर की बात लोग कर रहे हैं, हम उसका सामना दूसरी लहर की तुलना में ज्यादा बेहतर ढंग से कर सकें। हल्द्वानी में चिकित्सा सुविधाओं का स्तर व विस्तार, दोनों अविलंब प्रार्थनीय हैं। भगवान हमारी मदद करें।

1 thought on “कोरोना पर पूर्व सीएम हरीश रावत बोले- सरकार के कदम हिचकिचाहट भरे, उठाने चाहिए कठोर कदम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *