May 16, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

उत्तराखंड में पर्वतीय जिलों में भारी बारिश, रुद्रप्रयाग में बादल फटा, उत्तरकाशी में तीन मवेशी बहे, सात मई तक ओरेंज अलर्ट

1 min read
उत्तराखंड में मैदानी इलाके जहां गर्मी से तप रहे हैं, वहीं, कई पर्वतीय जिलों में भारी बारिश हो रही है। रुद्रप्रयाग जिले में भारी बारिश के दौरान बादल फटने की सूचना है।


उत्तराखंड में मैदानी इलाके जहां गर्मी से तप रहे हैं, वहीं, कई पर्वतीय जिलों में भारी बारिश हो रही है। रुद्रप्रयाग जिले में भारी बारिश के दौरान बादल फटने की सूचना है। इससे आवासीय भवनों में पानी घुस गया। हालांकि किसी जानमाल के नुकसान की सूचना नहीं है। वहीं, उत्तरकाशी में भी नाले में पानी बढ़ने से तीन मवेशी बह गए। खेतों को नुकसान पहुंचा है।
उत्तराखंड में बारिश-बर्फबारी और ओलावृष्टि का दौर जारी है। रुद्रप्रयाग जिले के नकोट में बादल फटने की खबर है। बताया जा रहा है कि कई लोगों के आवासीय भवनों में पानी घुसा है। जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदन सिंह रजवार ने बताया कि किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना की कोई सूचना नहीं मिली है।

वहीं, दूसरी ओर उत्तरकाशी जिले के चिन्यालीसौड़ के कुमराणा और बल्डोगी गांव में अतिवृष्टि होने से भारी नुकसान हुआ है। अतिवृष्टि के दौरान नाले में उफान से ग्रामीणों के घरों की दीवार, आंगन, गोशाला बह गए हैं। तीन पशुओं के बहने की सूचना है। एसडीआरएफ और पुलिस की टीम मौके के लिए रवाना हो गई है। ग्रामीणों ने किसी तरह अपने घरों से दूर भागकर जान बचाई। मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक सात मई तक बारिश का दौर जारी रहेगा। इसके लिए कई स्थानों पर यलो और ओरेंज अलर्ट जारी किया गया है। मैदानी इलाकों में झोंकेदार हवा चल सकती है।


उत्तराखंड में पिछले चार दिनों से मौसम का मिजाज बदला हुआ है। पर्वतीय क्षेत्रों में बादलों का डेरा है। हालांकि, ज्यादातर इलाकों में सुबह धूप खिलने के बाद शाम को मौसम बदल जा रहा है। रविवार को भी दोपहर बाद ज्यादातर इलाकों में बादल छा गए और चोटियों पर हिमपात हुआ। चमोली में देर शाम कई जगह ओले गिरे। जबकि, निचले इलाकों में बूंदाबांदी हुई।
उत्तरकाशी ,जनपद के तहसील चिन्यालीसौड़ में आज सोमवार शाम को अधिक बारिश होने से ग्राम कुमराडा में बरसाती नाले में अधिक वर्षा होने के कारण गांव के निकट नाले का पानी बढ़ गया है। इस कारण गांव में हुआ ग्रामीणों के खेतों में पानी चला गया है। पानी अधिक होने के कारण तीन मवशियो की बहने की सूचना है। उक्त स्थान पर पुलिस राजस्व टीम व को मोके ले लिए रवाना कर दिया गया।
उधर, कुमाऊं में अल्मोड़ा, चंपावत, नैनीताल व बागेश्वर में मौसम सामान्य बना रहा। ऊधमसिंह नगर में बादल छाए रहे। पिथौरागढ़ में उच्च हिमालयी क्षेत्र में भारी ओलावृष्टि हुई।
7 मई तक के मौसम का हाल
राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक रोहित थपलियाल के मुताबिक चार मई को उत्तराखंड में यलो अलर्ट है। पर्वतीय क्षेत्रों में हल्की से मध्यम बारिश होगी। मैदानी क्षेत्र में कहीं कहीं बहुत हल्की से हल्की बारिश गर्जन के साथ होगी। देहरादून, टिहरी, नैनीताल, अल्मोड़ा, चंपावत, बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिलों में गर्जन के साथ आकाशीय बिजली चमकने और ओवावृष्टि की भी संभावना है। मैदानी क्षेत्र में भी हल्की से हल्की बारिश हो सकती है।
पांच मई को राज्य के देहरादून, हरिद्वार, टिहरी, नैनीताल, पौड़ी, अल्मोड़ा, चंपावत, बागेश्वर, पिथौरागढ़, उधमसिंह नगर में ओरेंज अलर्ट है। कहीं कहीं अतिवृष्टि के साथ आकाशीय बिजली चमकने की संभावना है। उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग में यलो अलर्ट जारी किया गया है। कहीं कहीं गर्जन के साथ आकाशीय बिजली चमकने और मैदानी इलाकों में तीस से चालीस किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवा चलने की भी संभावना है।
छह मई को भी इसी तरह का मौसम बना रहेगा। सात मई को राज्य के अनेक स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश गर्जन के साथ हो सकती है। इस दिन के लिए यलो अलर्ट जारी किया गया है। कहीं कहीं गर्जन के साथ आकाशीय बिजली चमकने की भी संभावना है।

1 thought on “उत्तराखंड में पर्वतीय जिलों में भारी बारिश, रुद्रप्रयाग में बादल फटा, उत्तरकाशी में तीन मवेशी बहे, सात मई तक ओरेंज अलर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *