May 12, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

उत्तराखंडः कांग्रेस के साथ ही भाजपाइयों ने भी कहा, स्वास्थ्य सेवाओं का बुरा हाल, कहने का तरीका अलग, टीका महोत्सव फ्लाप, फोटो शूट जारी

1 min read
स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर विपक्ष कांग्रेस सरकार को घेरती नजर आ रही है। वहीं, भाजपाई भी मान रहे हैं कि स्वास्थ्य सेवाओं का बुरा हाल है।


उत्तराखंड में स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गई है। व्यवस्थाओं का अस्पतालों में टोटा है। कोरोना का टीका भी कम हो रहा है। चिकित्सकों की कमी है। इसे लेकर विपक्ष कांग्रेस सरकार को घेरती नजर आ रही है। वहीं, भाजपाई भी मान रहे हैं कि स्वास्थ्य सेवाओं का बुरा हाल है। विपक्ष जहां बुरे हाल को लेकर सड़क पर है, वहीं भाजपाई सीएम से भेंट कर सुधार की मांग कर रहे हैं। यदि ऐसा न होता तो अपनी ही सरकार से मांग करने की फोटो और प्रेस नोट को जारी करने की आखिरकार सत्ताधारी भाजपाइयों को जरूरत ही क्यों पड़ी। ये तो उनका रूटीन का काम होना चाहिए था। एक ही बात को कहने का दोनों के तरीके में अंतर है। वहीं, 11 अप्रैल से 14 अप्रैल तक टीका महोत्सव तो फ्लाप हो गया। अब भाजपाई टीकाकरण केंद्र में जाकर फोटो शूट अभियान में लगे हैं। ये अलग बात है कि टीकाकरण के दौरान कक्ष में नेताओं के घुसने से टीकाकरण का कार्य भी प्रभावित हो रहा है।
कांग्रेस का कहना है कि राजधानी देहरादून में कोरोनेशन अस्पताल के बाद सबसे बड़े राजकीय चकित्सालय प्रेमनगर में इलाज करवाने आने वाले लोगों का दबाव अत्याधिक ज्यादा है और व्यवस्थाओं का भारी टोटा है। कोरोना काल में कोविड का वैक्सीन लगाने वाले लोगों की भीड़ ज्यादा है, लेकिन टीके कम है। इसके कारण बड़ी संख्या में लोगों को निराश हो कर बिना टीका लगाए वापस जाना पड़ रहा है।
आज लोगों की शिकायत पर उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना दोपहर प्रेमनगर हॉस्पिटल पहुंचे। उनके आने की खबर पर क्षेत्रीय कांग्रेस नेता जितेंद्र तनेजा, सुमित खन्ना, वीरेश शर्मा, सरोज भाटिया, संगीता शाशन ,सविता कपूर, रविन्द्र सिंह रैना व वीरेंद्र सिंह बिष्ट भी हॉस्पिटल पहुंच गए। धस्माना ने हॉस्पिटल पहुंचते ही सबसे पहले कोविड टीकाकरण वार्ड में जा कर वहां उपस्थित टीका लगाने आये लोगों से बातचीत की। लोगों ने धस्माना को बताया कि पंजीकरण के बाद भी उनको टीका नहीं लगाया जा रहा है और दूसरे दिन आने को बोल रहे हैं।
इसके पश्चात धस्माना टीके के लिए पंजीकरण के काउंटर पर पहुंचे व पंजीकरण के बारे में पूछताछ की और फिर वे हॉस्पिटल के सीएमएस डॉक्टर उमाशंकर कंडवाल के कक्ष में गए व उनसे बताया कि पूरे प्रेमनगर छावनी क्षेत्र के अलावा पण्डितवाड़ी भूड़ गांव, ठाकुरपुर, शुक्लापुर, शयमपुर, अम्बिवाला आर्केडिया, झाझरा,बडोवाला तक की लाखों लोगों की आबादी प्रेमनगर राजकीय चकित्सालय के भरोसे रहती है और हॉस्पिटल में केवल 200 टीके की व्यवस्था है। इसके कारण लोगों को बिना टीका लगाए घण्टों इंतजार करने के बाद वापस जाना पड़ रहा है।
डॉक्टर कंडवाल ने धस्माना को बताया कि हॉस्पिटल में जगह की कमी है। ज्यादा भीड़ करने से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो पा रहा है। धस्माना ने सीएमएस को सुझाव दिया की दो पालियों में टीकाकरण किया जाय एक पाली में पहली डोज वालों को और एक पाली में दूसरी डोज वालों को टीकाकरण किया जाय। कम से कम 400 लोगों को प्रतिदिन टीका लगे।
धस्माना ने पंजीकरण करवाने वालों व टीकाकरण के लिए आये लोगों के बैठने के लिए स्टूल व कुर्सियों के इंतजाम करने के लिए भी कहा। सीएमएस ने धस्माना को बताया कि कुम्भ में अनेक डॉक्टरों, स्टाफ की ड्यूटी हरिद्वार लगी होने के कारण स्टाफ की भी भारी किल्लत हो रही है। उन्होंने धस्माना को बताया कि आज ही उनके हॉस्पिटल में सुबह से अब तक पचास मरीज कोरोना पॉजिटिव टैस्ट हो गए हैं। धस्माना ने सीएमएस को आश्वस्त किया कि वे मुख्यमंत्री व शाशन के अधिकारियों व स्वास्थ्य महानिदेशिक को भी प्रेमनगर हॉस्पिटल की स्टाफ, अवस्थापना आदि समस्याओं के बारे में अवगत करवाएंगे व इनके समाधान की मांग करेंगे।


बेहतर स्वास्थ्य सेवा की मांग पर सीएम से मिले भाजपाइ
यमुनाघाटी क्षेत्र में बेहतर स्वास्थ्य सेवा की मांग को लेकर भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान के नेतृत्व में यमुनाघाटी क्षेत्र के लोगो का एक प्रतिनिधिमण्डल मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से मिला और उन्हें क्षेत्र की स्वास्थ्य समस्या से अवगत कराया।
भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने कहा कि उत्तराखंड के चारधामों में पहले धाम यमुनोत्री में लाखों श्रदालुओं व पर्यटकों का आवागमन होता है लेकिन यमुनोत्री के पहले पड़ाव नगर पालिका बड़कोट से लेकर नैनबाग पुरोला व चिन्यालीसौड़ तक पूरे क्षेत्र में स्वास्थ्य समस्या बनी हुई है।
पूरे यमुनाघाटी में कोई महिला डॉक्टर व रेडियोलॉजिस्ट तैनात न होने के कारण क्षेत्र की जनता को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि सुविधाओ के अभाव में लोगो को इलाज के लिए देहरादून की ओर रुख करना पड़ता है। उन्होंने मुख्यमंत्री से यमुनाघाटी में स्वास्थ्य समस्याओ को प्राथमिकता से हल करने की मांग की।
चौहान के नेतृत्व में मुख्यमंत्री को मिले प्रतिनिधिमण्डल ने मुख्यमंत्री को बड़कोट व चिन्यालीसौड़ हॉस्पिटलों में तत्काल एक महिला डॉक्टर रेडियोलॉजिस्ट और अल्ट्रासॉउन्ड व एक्सरे मशीन की जरुरत बताई है।
मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने समस्याओं को गंभीरता पुर्वक सुनकर सचिव स्वास्थ्य को इस बारे में तत्काल कार्यवाही के निर्देश देते हुए स्वास्थ समस्याओं के शीघ्र समाधान का भरोसा दिया। प्रतिनिधिमंडल में भाजपा के वरिष्ठ नेता पूर्व जिलाध्यक्ष गजेंद्र सिंह राणा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य भरत सिंह रावत, विनोद राणा आदि लोग शामिल रहे।
टीका महोत्सव फ्लाप फोटो शूट शुरू
प्रदेश में 11 से 14 अप्रैल तक मनाया जाने वाला टीका महोत्व तो वैक्सीन की कमी के चलते फ्लाप हो गया। कारण ये है कि पहले की अपेक्षा अब कोरोना की वैक्सीन कम है। वहीं, भाजपा कार्यकर्ता टीकाकरण केंद्र में घुसकर फोटो शूट अभियान में जुटे हैं। ऐसे में टीकाकरण कार्य भी प्रभावित हो रहा है।
ये है टीका उत्सव
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में आठ अप्रैल को विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक में टेस्टिंग और ट्रेसिंग पर जोर दिया था। वहीं, ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाने की बात कही। उन्होंने मीटिंग में मौजूद सभी मुख्यमंत्रियों से कहा था कि हम 11 अप्रैल ज्योतिबा फुले के जन्मदिवस से लेकर 14 अप्रैल, बाबा साहब आंबेडकर के जन्मदिन तक देश में ‘टीका उत्सव’ मना सकते हैं।
टीका उत्सव में वैक्सीनेशन
11 अप्रैल से 14 अप्रैल तक चलने वाले टीका उत्सव को उत्तराखंड के नजरिए से देखें तो हकीकत कुछ ओर बयां कर रही है। 11 अप्रैल को 300 केंद्र में 29719 लोगों को, 12 अप्रैल को 581 केंद्र में 49242 लोगों को, 13 अप्रैल को 620 केंद्र में 34799 लोगों को कोरोना के टीके लगाए गए। 14 अप्रैल को 533 केंद्र में 30600 लोगों को कोरोना के टीके, 15 अप्रैल को 557 केंद्र में 34552 लोगों को कोरोना के टीके लगे। प्रदेश में 15 अप्रैल तक कुल 1250787 टीके की डोज लग चुकी है।
टीका उत्सव से पहले की स्थिति
अब टीका उत्सव से पहले की स्थिति में नजर डालें तो इन दिनों से ज्यादा पहले टीके लगाए गए। सात अप्रैल को 572 केंद्र में 63470 टीके, आठ अप्रैल को 718 केंद्र में 107658 टीके, नौ अप्रैल को 697 केंद्र में 60841 को टीके, 10 अप्रैल को 519 केंद्र में 45684 को टीके लगाए गए।


भाजपा और टीका महोत्सव
टीका महोत्सव फ्लाप हुआ और अब आज यूपीएचसी कारगी में चल रहे टीकाकरण केंद्र में भाजपाई पहुंचे। वहां कुछ लोगों को शीतल पेय पिलाया। सेंटर इंचार्ज डॉक्टर रघुवीर सिंह रावत को प्रदेश प्रवक्ता विनय गोयल ने शॉल ओढ़ाया। फोटो खिंचवाई और हो गया महोत्सव। महोत्सव का सार्थकता तब रहती, जब पहले से ज्यादा केंद्र खुलते और ज्यादा टीकारण होता। इस मौके पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने सेंटर इंचार्ज डॉ रघुवीर सिंह रावत उनकी सहयोगी रागिनी मौर्य, योगिता टोलिया, सविता, सुनीता रुडोला, रंजना राणा, निर्मला बिष्ट, ममता पाल, आशा व पूनम का टीकाकरण के लिए आभार व्यक्त किया।
डॉ रघुवीर सिंह रावत ने बताया कि उनके सेंटर पर सभी धर्मों वर्गो के लोग निरंतर टीकाकरण के लिए आ रहे है। उन्होंने चार्ट दिखाते हुए बताया कि रमजान के बावजूद मुस्लिम बस्ती कारगिल कई मुस्लिम लोगों ने टीकाकरण कराया। इस दौरान भाजपा प्रदेश प्रवक्ता विनय गोयल, महानगर मीडिया प्रभारी राजीव उनियाल, कोषाध्यक्ष लच्छू गुप्ता, पार्षद आलोक कुमार, युवा मोर्चा के मंडल अध्यक्ष सरदार सोनू सिंह, आशीष बलूनी, नरेंद्र उनियाल आदि ने भाग लिया।

1 thought on “उत्तराखंडः कांग्रेस के साथ ही भाजपाइयों ने भी कहा, स्वास्थ्य सेवाओं का बुरा हाल, कहने का तरीका अलग, टीका महोत्सव फ्लाप, फोटो शूट जारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *