May 12, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

राजनीतिक दलों के नेताओं को नहीं कोरोना का खौफ, बगैर मास्क के कर रहे बैठकें

1 min read
जिस तेजी से कोरोना का हमला पूरे देश में हो रहा है, उसके बावजूद राजनीतिक दलों के लोग सबक नहीं ले रहे हैं। किसी दूसरे व्यक्ति के निकट आने पर उनके नाक और मुंह से मास्क गायब हो रहा है।


जिस तेजी से कोरोना का हमला पूरे देश में हो रहा है, उसके बावजूद राजनीतिक दलों के लोग सबक नहीं ले रहे हैं। किसी दूसरे व्यक्ति के निकट आने पर उनके नाक और मुंह से मास्क गायब हो रहा है। ऐसे में कोरोना संक्रमण से बचाव की बात करना बेमानी होगा। कोरोना से बचाव की सिर्फ तीन नियम हैं। हाथों को बार बार धोना, मुंह व नाक को मास्क से ढकना और शारीरिक दूरी का पालन करना। इसका ही राजनीतिक दलों के लोग मजाक उड़ा रहे हैं। यदि उत्तराखंड की ही बात की जाए तो यहां हर दिन कोरोना संक्रमण के रिकॉर्ड टूट रहे हैं।
उत्तराखंड में संक्रमण की स्थिति
शुक्रवार 16 अप्रैल को प्रदेश में एक दिन में अब तक के सर्वाधिक 2402 नए संक्रमित मिले। वहीं, इस साल में सर्वाधिक 17 मौत हुई। उधर, प्रदेश में अब कंटेनमेंट जोन की संख्या बढ़कर 74 हो गई है। यहां पूरी तरह लॉकडाउन है। पूरे प्रदेश में नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। वहीं, शुक्रवार को 669 केंद्र में कुल 48448 लोगों का टीकाकरण किया गया। 16 अप्रैल की शाम स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट में उत्तराखंड में 2402 नए संक्रमित मिले। वहीं, 1080 लोग स्वस्थ हुए और 13546 एक्टिव केस हो गए हैं। उत्तराखंड में अब कोरोना के कुल संक्रमितों की संख्या 118646 हो गई है। इनमें 100857 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। 1819 की अब तक कोरोना से मौत हो चुकी है। शुक्रवार को सर्वाधिक संक्रमित देहरादून में 1051 मिले। हरिद्वार में 539, नैनीताल में 296, उधमसिंह नगर में 220 नए संक्रमित मिले।
कार्यक्रम में नहीं दिखा मास्क
पौड़ी जिले में नैनीडांडा ब्लॉक कांग्रेस कमेटी की बैठक में अगले 2 महीनों में चार सम्मेलनों के आयोजन का निर्णय किया गया। यह फैसला कांग्रेस ब्लाक अध्यक्ष जंग बहादुर सिंह नेगी और प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप के लंबे विचार-विमर्श के बाद हुआ। उल्लेखनीय हैं जंग बहादुर सिंह नेगी आजकल गुजडू पट्टी के दौरे पर हैं। धीरेंद्र प्रताप ने बताया यह सम्मेलन हल्दूखाल, दिगोलीखाल, मूस्यखानंन्द और पटोहिया में आयोजित होंगे। बूथ स्तर पर होने वाले इन सम्मेलनों में विकासखंड के चारों हिस्से को कांग्रेस कार्यकर्ताओं को जन सरोकारों को लेकर सक्रिय किया जाएगा। इस बीच आज विधायक दलीप सिंह रावत कांग्रेस उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप और जंग बहादुर सिंह नेगी की उपस्थिति में गढ़वाल कुमाऊं सीमा पर जुड़े जगदेई गांव में विख्यात क्रांतिकारी जग देवी की याद में मंदिर और शहीद स्मारक का जीर्णोद्धार किया गया। धीरेंद्र प्रताप ने कहा कि जग देवी ने नेपाली गोरखा के हमले के दौरान विशिष्ट बहादुरी का परिचय दिया था और शहीद हो गई थी।
बाद में तीनों नेता कुलाई खान गए और वहां पर जनता के सहयोग से सुखदेव सिंह के नेतृत्व में बनी सड़क मार्ग जो गोली खाल से कुनाई खान तक बना है, उस के उद्घाटन के कार्यक्रम में हिस्सा लिया। बाद में जारी एक बयान में धीरेंद्र प्रताप और जंग बहादुर सिंह नेगी ने भाजपा पर क्षेत्रीय विकास की अवहेलना का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि अब जब चुनाव आ गया है 5 साल से जो बजट क्षेत्रीय विकास पर खर्च किया जाना था उसकी बंदरबांट की जा रही है।
कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष यशपाल रावत ने भी राज्य सरकार पर लैंसडाउन विधानसभा और सीमांत विकास खंडो की उपेक्षा का आरोप लगाया। धीरेंद्र प्रताप ने चुनाव प्रचार खत्म होने के बाद में सल्ट के जामिनी जखल और मीणा कोर्ट कूमी तथा कोटा चानी का दौरा कर लोगों से कांग्रेस प्रत्याशी गंगा पंचोली को जिताने का आह्वान कि। कल हरीश रावत के इस विधानसभा केदौरे को भाजपा के लिए खतरे की घंटी बताते हुए धीरेंद्र प्रताप ने कहा कि कांग्रेस के चुनाव जीत चुकी है और 2 मई के आने वाले नतीजे में कांग्रेस का दावा सत्य सिद्ध हो जाएगा।


यहां भी नहीं लगाया मास्क
उत्तराखंड कांग्रेस उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप आज गढ़वाल से जुड़े सल्ट विधानसभा के पोलिंग बूथ नंबर 34 जामणी जखल सल्ट अल्मोड़ा राजकीय प्राथमिक विद्यालय स्थित पोलिंग बूथ पर गए। इस दौरान उनकी जो फोटो आई, उसमें भी मास्क नदारद था। कांग्रेस नेता और इस क्षेत्र के बूथ प्रभारी देवेंद्र सिंह रावत न्याय पंचायत अध्यक्ष डूंगरा यशपाल सिंह रावत जिला उपाध्यक्ष कोटद्वार जिला कांग्रेस कमेटी और केशव दत्त भारद्वाज, बूथ अध्यक्ष के साथ मौके पर चुनाव तैयारियों का जायजा लिया। इस मौके पर उन्होंने प्रेसिडिंग ऑफीसर डॉ कमलेश तिवारी से भी भेंट की और निष्पक्ष व स्वतंत्र चुनाव की तैयारियां को सुनिश्चित किए जाने पर चर्चा की।

1 thought on “राजनीतिक दलों के नेताओं को नहीं कोरोना का खौफ, बगैर मास्क के कर रहे बैठकें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *