April 17, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

सल्ट में गरमाया चुनाव प्रचार, कांग्रेस उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप बोले-प्रदेश की राजनीति में दूरगामी प्रभाव डालेंगे नतीजे

1 min read
उत्तराखंड कांग्रेस के उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप ने आगामी 17 अप्रैल को होने वाले सल्ट विधानसभा के उपचुनाव के नतीजे का उत्तराखंड की राजनीति पर दूरगामी प्रभाव पढ़ने का विश्वास जताया है।

उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले में सल्ट विधानसभा के उपचुनाव में प्रत्याशियों का प्रचार गति पकड़ता जा रहा है। दूर दराज के ग्रामीण गांवों के चौक, चौबारे प्रत्याशियों के समर्थन के नारों से गूंज रहे हैं। गांवों में एक अलग सा माहौल है। जगह-जगह नुक्कड़ सभाओं के साथ ही गांव गांव में जनसंपर्क अभियान किया जा रहा है। कांग्रेस से गंगा पंचोली के प्रचार में कई नेता सल्ट क्षेत्र में पिछले कई दिनों से डेरा जमाए हुए हैं। वहीं, एक सभा में उत्तराखंड कांग्रेस के उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप ने आगामी 17 अप्रैल को होने वाले सल्ट विधानसभा के उपचुनाव के नतीजे का उत्तराखंड की राजनीति पर दूरगामी प्रभाव पढ़ने का विश्वास जताया है।
अल्मोड़ा जनपद मुख्यालय से करीब डेढ़ सौ किलोमीटर दूर गढ़वाल कुमाऊं की सीमा पर सुदूर ग्रामीण अंचल मे भितकोट क्षेत्र में एक चुनावी सभा में धीरेंद्र प्रताप ने भाजपा पर राज्य के विकास को गर्त में डालने का आरोप लगाया। उन्होंने स्थानीय लोगों से आह्वान किया कि वे 2022 के होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव में परिवर्तन की लहर को सल्ट उपचुनाव से ही बल दें। क्षेत्र के विकास को एक नया आयाम देने के लिए 17 अप्रैल को कांग्रेस प्रत्याशी गंगा पंचोली को जिताने का काम करें। इससे राज्य की भविष्य की राजनीति पर दूरगामी प्रभाव पड़ेगा।


उन्होंने कहा कि 4 साल के बाद जिस तरह से मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को हटाकर तीरथ सिंह रावत को नया मुख्यमंत्री बनाया गया है, उससे स्पष्ट हो गया है कि पिछले 4 साल के भाजपा कार्यकाल के लिए विफलता का ठीकरा त्रिवेंद्र सिंह रावत के सिर पर फोड़ दिया गया है। भाजपा ने मान लिया है कि पिछले 4 साल में जो राज्य का विकास ठप हो गया था, उससे जनता का ध्यान हट जाए। इसीलिए तीरथ सिंह रावत को नए मुख्यमंत्री के रूप में उत्तराखंड में ताजपोशी की गई है।
उन्होंने राज्य में सड़कों की बदहाल स्थिति, दिन दूनी रात चौगुनी बढ़ती बेरोजगारी, महंगाई के बुरे हाल और विकास चौपट होने के लिए भाजपा नेतृत्व को जिम्मेदार ठहराया। कहा कि अब समय आ गया है जनता 2017 में लिए गए भाजपा को सत्ता में लाने के फैसले पर पुनर्विचार करें। 17 अप्रैल को कांग्रेस प्रत्याशी को जीता कर राज्य के एक नए विकास का नया मार्ग प्रशस्त करें। उन्होंने देश में किसानों की दुर्दशा पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि जिस देश में जय जवान जय किसान का नारा लगता था, आज वहां “जय अंबानी जय अडानी” के नारे लगाए जा रहे हैं। जो देश में साठ फीसदी गरीबी और बदहाली में रहने वाले लोगों का घोर अपमान है।
इस मौके पर जिला पंचायत पौड़ी के पूर्व अध्यक्ष केसर सिंह नेगी, कांग्रेस नेता नारायण सिंह, रघुवीर बिष्ट, देवेंद्र सिंह रावत, रूप सिंह रावत, दिक्का देवी समेत तमाम नेताओं ने अपने संबोधन में भाजपा को निशाना बनाया। साथ ही राज्य की चरमराती आर्थिक स्थिति और बदहाल हालत को देखते हुए कांग्रेस की राज्य की सत्ता में वापसी का जनता से आव्हान किया। कहा कि यदि उत्तराखंड राज्य निर्माण आंदोलन के शहीदों के सपनों को पूरा करना है तो राज्य में भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकने और जनहितकारी सरकार की वापसी को सुनिश्चित करना होगा।

1 thought on “सल्ट में गरमाया चुनाव प्रचार, कांग्रेस उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप बोले-प्रदेश की राजनीति में दूरगामी प्रभाव डालेंगे नतीजे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *