April 14, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

टिहरी झील में रेस्क्यू के लिए उत्तराखंड पुलिस को मिलेगी स्पीड रेस्क्यू मोटर बोट

1 min read
अतिवृष्टि, बादल फटना एवं त्वरित बाढ़ की घटनाओं में एसडीआरएफ की ओर से किये जाने वाले वाले राहत एवं बचाव कार्यों को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए पुलिस मुख्यालय ने और प्रयास शुरू कर दिए हैं।

अतिवृष्टि, बादल फटना एवं त्वरित बाढ़ की घटनाओं में एसडीआरएफ की ओर से किये जाने वाले वाले राहत एवं बचाव कार्यों को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए पुलिस मुख्यालय ने और प्रयास शुरू कर दिए हैं। इसके तहत एक स्पीड रेस्क्यू मोटर बोट और दो रेस्क्यू मोटर बोट का क्रय किया जा रहा है। इनका का प्रयोग टिहरी झील क्षेत्र में पर्यटकों एवं स्थानीय जनता की सुरक्षा, जलीय आपदाओं में, समय-समय पर आयोजित होने वाले विभिन्न स्नान पर्वों, कांवड मेला एवं कुम्भ मेले में प्रभावी प्रतिवादन के लिए किया जा सकेगा।
उत्तराखंड पुलिस के महानिदेशक अशोक कुमार ने ये जानकारी दी। बताया कि स्पीड रेस्क्यू मोटर बोट की गति लगभग 20-25 नाटिकल मील प्रति घंटा और रेस्क्यू मोटर बोट की गति लगभग 15-20 नाटिकल मील प्रति घंटा है। इनसे उत्तराखंड पुलिस की वाटर रेस्क्यू टीमों की कार्यदक्षता में निश्चित रूप से अभिवृद्वि होगी।
इसके साथ ही महत्वपूर्ण झीलों, संगम, नदियों, स्नान घाटों पर स्थानीय लोगों, पर्यटकों एवं श्रद्धालुओं की सुरक्षा व्यवस्था के दृष्टिगत तैनात उत्तराखंड पुलिस की एसडीआरएफ डीप डाइविंग टीम, जल पुलिस एवं बाढ़ राहत, पीएसी दल को अत्याधुनिक आपदा उपकरणों से लैस किया जा रहा है। इसके अन्तर्गत उक्त टीमों के लिए लाइफ जैकट, राफ्ट, पर्सनल थ्रो बैग, स्कूबा डाइविंग सूट, फ्लोटिंग रेस्क्यूअर स्टेशन, रिचार्जेबल मोबाइल रिमोट एरिया लाइटिंग सिस्टम, ड्राई बैग, ड्राई सूट, आदि उपकरण क्रय किये जा रहे हैं।
उल्लेखनीय है कि प्रदेश में जल पुलिस, एसडीआरएफ डीप डाइविंग टीम, बाढ़ राहत पीएसी दल आपदा सम्बन्धी उपकरणों सहित कुम्भ मेला क्षेत्र, टिहरी झील, मुनिकीरेती, देवप्रयाग, शिवपुरी, लक्ष्मणझूला, श्रीनगर, ऋषिकेश, विकासनगर, हरिद्वार, रूड़की, रूद्रप्रयाग, नैनीताल, भीमताल, रामनगर, काठगोदाम, नानकमत्ता, गुलरभोज, बनबसा, टनकपुर में तैनात हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *