April 14, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

उत्तराखंडः पहले सर्वे आया तो सीएम बदला, अब दूसरे सर्वे में जा रही भाजपा की सरकार, हकीकत मतदाताओं के हाथ

1 min read
चुनाव का आंकलन और नेताओं की लोकप्रियता को लेकर समय समय पर सर्वे किए जा रहे हैं। सर्वे से जिस राजनातिक दल को नुकसान होना दिखाया जाता है, उसके नेता सर्वे को मनगणंत व झूठ बताते हैं।


चुनाव का आंकलन और नेताओं की लोकप्रियता को लेकर समय समय पर सर्वे किए जा रहे हैं। सर्वे से जिस राजनातिक दल को नुकसान होना दिखाया जाता है, उसके नेता सर्वे को मनगणंत व झूठ बताते हैं। वहीं, दूसरे दलों के लोगों को हमला करने के लिए मसाला मिल जाता है। विज्ञापन लेने के लिए दबाव हो या फिर इमानदारी से किया गया सर्वे हो, लेकिन एक बार तो राजनीतिक गलियारों में हलचल तो मच ही जाती है।
पहले किया गया था मुख्यमंत्रियों की लोकप्रियता पर सर्वे
कुछ माह पूर्व एक चैनल के सर्वे में कुछ राज्यों के मुख्यमंत्रियों की लोकप्रियता पर सर्वे किया गया था। तब उत्तराखंड के तत्कालीन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का नंबर सबसे आखरी था। इस सर्वे पर भाजपा और आइटी सेल ने जबरदस्त हमले बोले, लेकिन भीतरखाने भाजपा मंथन में जुटी, ये कहना भी गलत नहीं होगा। आगामी विधानसभा चुनाव से नौ माह पहले ही मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को हटाकर उनके स्थान पर तीरथ सिंह रावत को मुख्यमंत्री बना दिया गया।
अब नए सर्वे ने बढ़ाई भाजपा की चिंता
सी-वोटर की तरफ से एबीपी न्यूज के लिए किए गए सर्वे के मुताबिक, राज्य में अगर अभी विधानसभा का चुनाव होता है तो उत्तराखंड में बीजेपी की कुर्सी खिसक सकती है। सर्वे के हिसाब से कांग्रेस को राज्य में 32 से 38 सीटें मिल सकती हैं। बीजेपी को 24 से 30 सीटें मिलने का अनुमान है। बीएसपी को 0 से 6 सीटें तो वहीं आम आदमी पार्टी को 2 से 8 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया है। वहीं अन्य के खाते में 3 सीटें आ सकती हैं।
2017 के चुनाव की स्थिति
2017 के उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में कांग्रेस सिर्फ 11 सीटों पर ही सिमट कर रही गई थी। बीजेपी ने 57 सीटों पर जीत हासिल की थी। बहुजन समाज पार्टी के खाते में 2 सीट आई थी। पिछले विधानसभा चुनाव में उत्तराखंड में कांग्रेस को 33.5 फीसदी वोट मिले थे। बीजेपी को 46.5 फीसदी वोट मिले तो वहीं बीएसपी को 7 फीसदी वोट हासिल हुए। अन्य के खाते में 13 फीसदी वोट पड़े थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *