April 17, 2021

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

दिल्ली में आयोजित सभा में वरिष्ठ पत्रकार अवतार सिंह नेगी को दी श्रद्धांजलि

1 min read
उत्तराखंड राज्य निर्माण आंदोलन के जाने-माने नेता और वरिष्ठ पत्रकार अवतार सिंह नेगी की स्मृति में शनिवार को नई दिल्ली के उत्तराखंड सदन में राज्य आंदोलनकारी, पत्रकार व प्रवासी उत्तराखंडियों की ओर से एक श्रद्धांजलि सभा आयोजित की गई।


उत्तराखंड राज्य निर्माण आंदोलन के जाने-माने नेता और वरिष्ठ पत्रकार अवतार सिंह नेगी की स्मृति में शनिवार को नई दिल्ली के उत्तराखंड सदन में राज्य आंदोलनकारी, पत्रकार व प्रवासी उत्तराखंडियों की ओर से एक श्रद्धांजलि सभा आयोजित की गई।
इस मौके पर उत्तराखंड कांग्रेस के उपाध्यक्ष व पूर्व दर्जामंत्री धीरेंद्र प्रताप के संयोजन तथा वयोवृद्ध राज्य आंदोलनकारी शशि भूषण खंडूरी की अध्यक्षता में संपन्न इस बैठक को कांग्रेस के संयुक्त सचिव हरिपाल रावत, आप पार्टी के नेता बचन सिंह धनोला, भाजपा के नेता मोहन जोशी, उत्तराखंड क्रांति दल के नेता प्रताप शाही, राष्ट्रीय लोक दल के नेता मनमोहन शाह, वरिष्ठ पत्रकार डॉ हरीश चंद्र लखेड़ा, योगेश भट्ट और सुनील नेगी ने संबोधित किया ।
सभी वक्ताओं ने एक स्वर में स्वर्गीय अवतार सिंह नेगी को उत्तराखंड राज्य निर्माण आंदोलन का महान पुरोधा बताया। इस सभा को अन्य लोगों के अलावा अनिल पंत, सुरेश रावत, प्रेमा धोनी, विक्रम सिंह अधिकारी, सुरेंद्र सिंह नेगीस विनोद ढौडियाल, रामेश्वर गोस्वामी, आतुशी नेगी, अवंतिका नेगी, कमला भट्ट, बृज मोहन सेमवाल, देवेंद्र पंत, भगत सिंह नेगी, कीरत रावत, केसर सिंह पटवाल, हुकम सिंह कंडारी, गंभीर सिंह नेगी, डॉक्टर बिहारीलाल जालंधरी, करुणा भट्ट, राजेश्वर पैन्यूली समेत अनेक लोगों ने भी संबोधित किया।
अवतार सिंह के बारे में
स्वर्गीय अवतार सिंह नेगी अपने यौवन काल से ही छात्र नेता रहे। वह ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन और वामपंथी विचारधारा से प्रभावित रहे। राज्य आंदोलन के उस वक्त के बड़े नेताओं स्वर्गीय एससी शर्मा, शशि भूषण खंडूरी, ऋषि बल्लभ सुंद्रियाल और बाद में सतपाल महाराज व अन्य नेताओं के साथ उत्तराखंड आंदोलन की लड़ाई में अग्रणी नेता के रूप में सक्रिय रहे।
उन्हें आकाशवाणी दूरदर्शन समाचार एजेंसी भाषा और कई महत्वपूर्ण प्रचार संस्थानों में उच्चतम पदों पर काम करने का अवसर मिला। वह बाद में दलगत राजनीति से दूर हो गए, लेकिन उत्तराखंड के सवालों पर आजीवन संघर्षरत रहे। हृदय गति रुकने के कारण 29 जनवरी 2021 को आवास पर ही उनका निधन हो गया था। वह पूर्वी दिल्ली स्थित कृष्णा नगर में निवास कर रहे थे। अंतिम दिनों में वे दिल्ली प्रेस क्लब के प्रमुख संगठन कर्ताओं में बने रहे।
वह उत्तराखंड पत्रकार परिषद के संस्थापक अध्यक्ष थे। उन्होंने जय उत्तराखंड वीर जो उत्तराखंड आंदोलन में महत्वपूर्ण समाचार पत्र था, उसका संपादन किया। साथ ही उत्तराखंड के सवालों पर लंबे समय तक अपनी कलम से रोशनी जगाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *