June 29, 2022

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

घर से गायब हुई नाबालिग को तलाशते रहे परिजन, देर रात लौटी वापस, घटना बताई तो दहल गए परिजन

1 min read

देहरादून के बसंत विवार थाना क्षेत्र से एक नाबालिग लड़की के गायब होने से परिवार में हड़कंप मच गया। दिन भर उसकी खोज होती रही। वापस नहीं लौटी तो परिजनों ने थाने में उसकी गुमशुदगी की सूचना दे दी। देर रात लड़की वापस घर पहुंची। परिजन उससे पूछते रहे, लेकिन वह कुछ ही बताने की स्थिति में नहीं थी। सुबह जब दोबारा पूछताछ की गई, तो बच्ची ने राज खोला। साथ ही उसने क्षेत्र के ही एक युवक को इसके लिए जिम्मेदार बताया। साथ ही आरोप है कि उसने बुरा काम किया है।
बसंत विहार पुलिस के मुताबिक 14 साल की नाबालिग बच्ची की गुमशुदगी की रिपोर्ट 26 नवंबर को थाने में दी गई थी। पुलिस ने विवेचना शुरू कर दी थी। साथ ही उसे तलाशने के लिए एक टीम भी बना दी गई थी। अगली सुबह बच्ची के परिजन थाने पहुंचे और बताया कि देर रात बच्ची घर लौट गई है। उसने रात को कुछ नहीं बताया। सुबह फिर से पूछताछ की गई तो बताया कि एक युवक उसे बाइक में बैठाकर परवल नदी की तरफ ले गया। जहां युवक ने उसके साथ गलत काम किया। इस पर पुलिस ने बच्ची को मेडिकल के लिए भेजा। साथ ही युवक की गिरफ्तारी के प्रयास शुरू किए। अंबीवाला टी स्टेट क्षेत्र से युवक को पकड़ लिया गया। पुलिस के मुताबिक युवक के परिजनों ने बताया कि वह नाबालिग है। इस पर आरोपी को बाल कल्याण पुलिस अधिकारी के समक्ष पेश किया गया। साथ ही आगे की कार्रवाई की जा रही है।

दुष्कर्म का आरोपी गिरफ्तार
सहसपुर पुलिस ने नाबालिग लड़की को बहलाकर साथ ले जाने और दुष्कर्म करने के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। 26 नवंबर को लड़की मां ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस के मुताबिक आरोपी इमरान उर्फ तोता निवासी ग्राम इंद्रीपुर लक्ष्मीपुर सहसपुर को सभावाला जाने वाले पूल से गिरफ्तार किया गया। जिसे माननीय न्यायालय पेश करने के बाद न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

पति के खिलाफ दर्ज कराया मुकदमा
कैंट थाने में एक महिला ने पति के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। उपासना एन्क्लेव निवासी सोनिका द्विवेदी नाम की महिला की शिकायत पर उसके पति कुलदीप द्विवेदी के खिलाफ मारपीट, गाली गलौच करने के साथ ही पारिवारिक खर्च न देने को लेकर विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस के मुताबिक पहले महिला हैल्पलाइन की ओर से इस मामले को आपसी सुलह के आधार पर सुलझाने का प्रयास किया गया। जब पति नहीं माना तो मुकदमा दर्ज करने की सिफारिश की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page