June 29, 2022

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

उत्तराखंड क्रिकेटः 13 ओवर में 150 रन लुटाने वाले का नाम भी फाइनल ट्रायल की टीम में शामिल

1 min read

उत्तराखंड में क्रिकेट के नाम पर जो चल रहा है, शायद वो कुछ ठीक नहीं है। क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड में भीतरखाने चल रही खींचतान का नतीजा ये है कि बीसीसीआइ के सचिव जय शाह देहरादून में क्रिकेट मैदानों का निरीक्षण कर वापस भी चले गए और सीएयू के पदाधाकारियों को इसका पता तक नहीं चल सका। अब पुरुष सीनियर टीम के लिए किए जा रहे चयन ट्रायल पर भी सवाल उठने लगे हैं। इस संबंध में पुराने क्रिकेटरों ने उत्तराखंड क्रिकेट की एपेक्स कमेटी के सचिव ज्ञानेंद्र पांडेय से भी लिखित में शिकायत की है। आरोप हैं कि फाइन ट्रायल के लिए जो टीम बनाई गई, उसमें भी प्रदर्शन को आधार नहीं बनाया गया। ऐसे खिलाड़ियों को तो जगह मिल गई, जिनका प्रदर्शन लचर रहा। वहीं, इसमें ऐसे खिलाड़ी भी बुलाए जा रहे हैं, जिनमें एक मंडल ट्रायल में ही बाहर हो गया था। यही नहीं एक खिलाड़ी पर तो दो साल का प्रतिबंध तक बताया जा रहा है।
इस बार सीएयू ने टीम के चयन में मैच कराकर प्रदर्शन को आधार बनाया। चयन प्रक्रिया अभी भी चल रही है। वहीं, कुछ पुराने खिलाड़ियों का कैंप लगाया गया। जो सीधे फाइनल ट्रायल में में शिरकत कर रहे हैं। पुराने खिलाड़ियों की संख्या 32 है। पहले जिले के, फिर मंडल के और उसके बाद जोनल ट्रायल किए गए। जोनल ट्रायल से 40 खिलाड़ी फाइनल ट्रायल के लिए छांटे गए। कुल 72 खिलाड़ियों की छह टीमें बनाई गईं हैं। जो अब आपस में मैच खेल रही हैं। इनके प्रदर्शन के आधार पर ही उत्तराखंड पुरुष टीम का चयन होगा।
ये हैं शिकायत
शिकायककर्ताओं का कहना है कि जोनल ट्रायल में काफी कम स्कोर रहा। इसमें से 40 खिलाड़ियों को छांटा गया। इसमें खिलाड़ियों को दो दो मैच खेलने का मौका मिला। इनमें तीन खिलाड़ियों में शतक बनाए और दो ने अर्द्धशतक ठोके। शतक बनाने वाले तीनों खिलाड़ियों को सीनियर टीम में जगह पाने के लिए फाइनल ट्रायल के लिए गठित टीम में शामिल किया गया। अर्द्धशतक लगाने वाले दोनों खिलाड़ियों को अंडर-23 के लिए प्रस्तावित किया गया।
अब बचे दो मैच में कुल रन बनाने वाले। इनमें से 65 रन बनाने वाले को फाइनल ट्रायल के लिए बनाई गई टीम में शामिल किया गया। वहीं, 63 रन बनाने वाले को नजरअंदाज कर दिया गया। यही नहीं, दो मैचों में 4, 7, 13, 19, 26 व 30 रन बनाने वाले खिलाड़ियों को 40 खिलाड़ियों में शामिल किया गया। 13 ओवर में 150 रन लुटाने वाले बालर को भी मैच खेलने के लिए रख लिया गया।
दो खिलाड़ी चोटिल, बाहर से तीन बुलाए
ट्रायल मैच के दौरान दो खिलाड़ी चोटिल हो गए। उनके स्थान पर उत्तराखंड की बजाय बाहर से तीन खिलाड़ी बुलाए जा रहे हैं। शिकायतकर्ताओं की बात मानें तो इनमें एक खिलाड़ी ऐसा है जो मंडल ट्रायल में ही बाहर हो गया था। वहीं, एक खिलाड़ी जिसे ओडिशा से बुलाया जा रहा, उस पर दो साल का बैन लगा हुआ था। वहीं एक खिलाड़ी यूपी से भी आमंत्रित किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page