July 1, 2022

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

Video: उत्तराखंड के पहाड़ों में बारिश और बर्फबारी, केदारनाथ में तीन और हर्षिल में एक फीट बर्फ, मैदानों में कड़ाके की सर्दी

1 min read

उत्तराखंड के ऊंचाई वाले इलाकों में पिछले कुछ दिन से हिमपात का सिलसिला जारी है। चारधाम सहित ऊंची चोटियों में बर्फ की चादर मोटी होती जा रही है। वहीं, कल शाम से पर्वतीय इलाकों के साथ ही मैदानी क्षेत्र में बारिश का सिलसिला सुबह तक चला। हालांकि उत्तरकाशी सहित अन्य पर्वतीय जिलों में गुरुवार को भी रुक रुक कर बारिश का दौर जारी है। इससे मैदानी इलाकों में कड़ाके की ढंड पड़ रही है। सुबह से ही समूचे उत्तराखंड में बादलों का डेरा है।


उत्तरकाशी जनपद मुख्यालय में देर रात से बारिश हो रही है। ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी का सिलसिला जारी है। इससे गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग गंगनानी, यमुनोत्री मार्ग राड़ी व हनुमान चट्टी में अवरुद्ध हो गया है। वीडियो में देखें उत्तरकाशी के मुखवा में गंगा माता के शीतकालीन पड़ाव पर बर्फबारी का नजारा-

उत्तरकाशी के हर्षिल घाटी में बुधवार की रात को सीजन का सबसे बड़ा हिमपात हुआ है। गुरुवार की सुबह तक हर्षिल घाटी में एक फीट से अधिक बर्फ की चादर जम चुकी है। गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग डबराणी से गंगोत्री तक (45 किलोमीटर क्षेत्र) बंद हो गया है, जबकि हर्षिल से मुखवा, जसपुर से पुराली को जोड़ने वाली सड़क के अलावा पैदल रास्ते भी बर्फ से ढक गए हैं। बर्फबारी ने घाटी को श्वेत कर्फ्यू के आगोश में ले लिया है।


बर्फबारी का आलम ये है कि केदारनाथ और बदरीनाथ में बर्फबारी के कारण सफेद चादर बिछ गई है। केदारनाथ में करीब तीन फीट बर्फ की परत जम गई है। इसके अलावा हेमकुंड साहिब, औली समेत आसपास की चोटियों पर भी हिमपात हुआ है। इधर, दून समेत अन्य मैदानी इलाकों में धूप न खिलने और सर्द हवा चलने के कारण कड़ाके की ठंड महसूस की जा रही है।


कुमाऊं में भी चोटियों पर हल्का हिमपात हुआ है। जबकि, कहीं-कहीं हल्की बारिश रिकॉर्ड की गई है। प्रदेश के ज्यादातर शहरों में अधिकतम तापमान में गिरावट जारी है। मौसम विभाग के अनुसार गुरुवार को भी अधिकतर क्षेत्रों में ऊंचाई वाले इलाकों में हल्की बारिश और हिमपात का दौर जारी रहेगा। इससे अधिकतम तापमान में भी गिरावट आ सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page