July 2, 2022

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

सबसे बड़ा सवाल: क्या साप्ताहिक बाजार बंदी नहीं थी लागू, फिर क्यों करने पड़े आदेश, घटाई टैस्टिंग की दर

1 min read

देश के हर प्रदेश, हर जिले में साप्ताहिक बंदी का दिन नियत होता है। कोरोनाकाल में तो इसे गंभीरता से लेना चाहिए था। प्रशासन के आदेश से तो यही लगता है कि देहरादून में साप्ताहिक बंदी हो रही नहीं रही थी। तभी तो देहरादून के जिलाधिकारी ने साप्ताहिक बंदी को सख्ती से लागू करने के आदेश दिए हैं। जिस तरह से कोरोना संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है, इसे फैलाने के लिए अब अधिकांश व्यक्तियों की लापरवाही ही है। कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं और आमजन हों या नेता, सभी कोरोना के तीन निममों का पालन करने में सिर्फ ओपचारिकता निभा रहे हैं। वहीं, बाजारों में निरंतर बढ़ रही लोगों की भीड़ चिंताजनक है। लॉकडाउन के दौरान और फिर अनलॉक के शुरूआती दिनों में जिस तरह से साप्ताहिक बंदी के दिन बाजारों में सन्नाटा छा जाता था, वो अब देखने को नहीं मिलता। अब तो बंदी के दिन पता नहीं चलता कि आज साप्ताहिक बंदी है। सामान्य दिनों की तरह ही बाजारों का नजारा नजर आता है।
साप्ताहिक बंदी को सख्ती से लागू करने के निर्देश
उत्तराखंड में कोरोना के मामले थमने का नाम नहीं रहे हैं। कल भी 12 लोगों की कोरोना से मौत हुई। वहीं, 482 नए संक्रमित मिले। इनमें देहरादून जिले से 157 नए संक्रमित मिले। देहरादून में तो ज्यादातर कोरोना संक्रमण के एक दिन में सौ से अधिक मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे में जिलाधिकारी देहरादून डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने सख्ती से साप्ताहिक बाजार बंदी के निर्देश दिए। उन्होंने स्पष्ट किया कि साप्ताहिक बंदी के दिवसों में अति आवश्यक सेवाओं यथा फल-सब्जी, दूध, पैट्रोल पम्प, गैस सर्विसेज तथा दवाईयों की दुकानों को ही खुला रखने की छूट है। आदेशों का उल्लंघन की स्थिति में महामारी अधिनियम तथा आपदा प्रबन्धन अधिनियम में वर्णित प्राविधानों के अनुसार कार्यवाही करने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि इस दिन बाजारों में सेनिटाइजेशन कराया जाए।
मास्क व सामाजिक दूरी पर जोर
जिलाधिकारी ने बाजारों, सार्वजनिक स्थानों पर मास्क ना पहनने व सामाजिक दूरी के मानकों का पालन न करने वालों पर वर्णित प्राविधानों के अन्तर्गत सख्त कार्रवाई अमल में लाएं। सैम्पलिंग लेते समय सम्बन्धित व्यक्ति का पूर्ण विवरण यथा मोबाईल नम्बर, स्पष्ट पता एवं यात्रा का विवरण भी स्पष्ट अंकन कर लिया जाए। साथ ही जिलाधिकारी ने जनमानस से अपील करते हुए कहा कि अनावश्यक भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों में जाने से तथा स्वच्छता एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के साथ ही अनिवार्यतः मास्क एवं सेनिटाइजर का उपयोग करें।
चेकपोस्ट में लिए गए सैंपल, एक मिला पॉजिटिव
दूसरे राज्यों से देहरादून में प्रवेश करने वालों के चेकपोस्ट में सैंपल लिए जा रहे हैं। जनपद की आशारोड़ी चेकपोस्ट पर कल अन्य राज्यों से आने वाले 795 व्यक्तियों के सैंपल लिए गए। इनमें से एक व्यक्ति पॉजिटिव मिला। हिमाचल की ओर से आने वालों के कुल्हाल चेक पोस्ट पर 5 व्यक्तियों के सैम्पल लिए गए, जो सभी नेगिटिव प्राप्त हुए।
घटाई टैस्टिंग की दर
उत्तराखंड में अब रैपिट एंटीजन टैस्ट की दर करीब 40 रुपये घटा दी गई है। अब 679 रुपये में किसी भी निजी लैब से टैस्ट कराया जा सकता है। इस संबंध में स्वास्थ्य सचिव अमित सिंह नेगी ने आदेश जारी किए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page