July 4, 2022

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

यूपी के सीएम योगी और उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत पहुंचे बदरीनाथ धाम, माणा में सेना के जवानों से मिले

1 min read

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री मंगलवार की सुबह बदरीनाथ धाम पहुंचे और उन्होंने पूजा अर्चना के बाद बदरीनाथ धाम में उत्तर प्रदेश के पर्यटक आवास गृह का शिलान्यास किया। यह पर्यटक आवास गृह गढ़वाल शैली में बनाया जाएगा। दो साल में यह तैयार हो जाएगा।
बदरीनाथ धाम में मंगलवार की सुबह मौसम सुहावना था। सुबह से ही धूप खिली रही। बदरीनाथ क्षेत्र में हुई बर्फबारी से अब रास्तों में लोगों को चलने से दिक्कत आ रही थी। ऐसे में दोनों सीएम काफी दूर तक पैदल चलकर ही बदरीनाथ मंदिर पहुंचे। जहां रावल ईश्वर प्रसाद नंबूदरी, धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल ने पूजा अर्चना कराई। इसके पश्चात उन्होंने ब्रह्मकपाल में तर्पण आदि कर्मकांड भी संपन्न कराए।
पूजा के पश्चात दोनों नेताओं ने यूपी सरकार की ओर से निर्मित होने वाले पर्यटक आवास गृह का शिलान्यास किया। इसके बाद दोनों देश के सीमांत गांव माणा पहुंचे। यहां उन्होंने सेना के जवानों से भी मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने जवानों का उत्साहवर्धन भी किया। इस दौरान योगी ने जवानों को मिठाई बांटी और खुद भी मिठाई खाई। इस मौके पर उन्होंने कहा कि राष्ट्रधर्म प्रमुख धर्म है। देश व माृभूमि की रक्षा के लिए विषम परिस्थितियों में जवान यहां रहता है। माणा गांव के भीम पुल पर भी गए।

बदरीनाथ धाम में पर्यटक आवास गृह की खास बातें
-उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग की ओर से बदरीनाथ धाम में चार हजार वर्ग मीटर क्षेत्रफल में पर्यटन आवास गृह का निर्माण किया जाएगा। इसकी लागत लगभग 11 करोड़ रुपये है। 
-बदरीनाथ में हेलीपैड व राष्ट्रीय राजमार्ग के समीप चार हजार वर्गमीटर क्षेत्रफल में उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग की ओर से पर्यटकों की सुविधा के लिए पर्यटन आवास गृह का निर्माण किया जाएगा।
-इससे उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड समेत देश-दुनिया से आने वाले पर्यटकों को बदरीनाथ धाम में ठहरने की बेहतर सुविधा मिलेगी। हालांकि, उत्तराखंड पर्यटन विभाग की ओर से भी यहां पर पर्यटन आवास गृह की सुविधा है, लेकिन यात्रा सीजन के दौरान तीर्थ यात्रियों की संख्या बढ़ने पर ठहरने की व्यवस्था कम पड़ जाती थी।
-र्यटकों को दर्शन करने के बाद वापस जोशीमठ आना पड़ता था। यूपी पर्यटन आवास गृह में पर्यटकों के लिए 40 कमरों बनाए जाएंगे। इसमें दिव्यांगों के लिए अलग से कमरों की व्यवस्था होगी।
-जिससे दिव्यांग पर्यटक आसानी से कमरे तक पहुंच सकें। भवन का निर्माण पहाड़ी शैली में होगा। जिसमें रेस्टोरेंट, कांफ्रेंस हाल, पार्किंग, डोरमेट्री होगी।

गौरतलब है कि दोनों सीएम रविवार की शाम केदारनाथ धाम पहुंचे थे। यहां दोनों ने निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया। साथ ही मंदिर में पूजा अर्चना में भी भाग लिया। सोमवार को केदारनाथ मंदिर के कपाट बंद होने के बाद दोनों को बदरीनाथ रवाना होगा था। भारी बर्फबारी के चलते उनका हेलीकॉप्टर उड़ान नहीं भर सका। ऐसे में दोनों को करीब आठ घंटे तक केदारनाथ में ही रुकना पड़ा। तब कल शाम दोनों सवा पांच बजे गौचर पहुंचे। यहीं दोनों से रात्रि विश्राम किया था। सोमवार की सुबह दोनों बदरीनाथ धाम गए। बदरीनाथ में पूजा अर्चना, शिलान्यास के बाद दोनों सीएम देहरादून की ओर चले गए। देहरादून से योगी आदित्यनाथ को लखनऊ रवाना होना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page