July 1, 2022

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

देहरादून के शायर दर्द गढ़वाली की गजल, रोटियां दे भाषणों से पेट कब किसका भरा

1 min read

रोटियां दे भाषणों से पेट कब किसका भरा।
बाज आ जा हरकतों से देखता होगा खुदा।।

आदमी दुश्मन बना है आदमी का आज फिर।
कर रहा है आदमी अब देखिए क्या-क्या खता।।

रोटियों के नाम पर हमको दिखाया चांद ही।
क्या कहें किससे कहें किस बात की दी है सजा।।

बोलिए कुछ आप भी कब तक रहेंगे आप चुप।
जो नहीं था आदमी भी बन गया है देवता।।

आपने तो रोटियां देने का वादा था किया।
हाकिमों वादा बताओ आपका वो क्या हुआ।।

गलतियां अपनी छिपाने को किया क्या-क्या नहीं।
मजहबों के नाम पर इस देश में क्या-क्या हुआ।

माफ कर दे ऐ खुदा बंदे सभी हैं हम तेरे।
क्या हुई ऐसी खता सुनता नहीं है क्यूं सदा।।

कुछ करो तजबीज यारों चैन से सब जी सकें।
कब तलक यूं ही चलेगा खौफ का ये सिलसिला।।

जो फसल बोई थी तुमने काटनी होगी तुम्हें।
सर झुकाओ हाथ जोड़ो या कि मांगो तुम दुआ।।

दर्द गढ़वाली का परिचय
नामः लक्ष्मी प्रसाद बडोनी
उपनामः दर्द गढ़वाली
जन्म तिथिः 23 अक्टूबर 1965
जन्म स्थानः उत्तरकाशी
मूल निवासीः भटवाड़ा, टिहरी गढ़वाल
वर्तमान पताः बडोनी भवन
देवपुरम कालोनी, लोअर तुनवाला
देहरादून, उत्तराखंड।
मोबाइलः 09455485094

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page