June 29, 2022

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

करवाचौथः दिल्ली में प्रदूषण ने गायब किया चांद, जहां दिखा वहां भी हुआ इंतजार, विदेशों में भी मनाया त्योहार

1 min read

हिंदू धर्म में पति की लंबी उम्र की कामना को लेकर सुबह से शुरू किया गया सुहागिनों का करवाचौथ का व्रत शाम को चांद का दीदार करने के साथ समाप्त हो गया। महिलाओं को आज चांद के दीदार के लिए लंबा इंतजार करना पड़ा। भारत में अलग अलग शहरों में चांद के दीदार का समय रात पौने आठ बजे से लेकर सवा आठ के करीब थी, लेकिन हर जगह चांद ने इंतजार कराया। देहरादून में आठ बजकर 16 मिनट पर चांद के दर्शन का समय था।

फोटोः नोएडा।

वहीं, चांद के दीदार देरी से आधा घंटा देरी से हुए। महिलाएं छत पर खड़ी होकर चांद का इंतजार करती रही। इसके बाद सुहागिनों ने छलनी से चांद का दीदार किया। साथ ही चंद्रमा को अर्घ्‍य देकर और पति की आरती उतारकर व्रत का खोला। चांद निकलने के बाद महिलाओं ने पति को छलनी में दीपक रखकर देखा। इसके बाद पति के हाथों जल पीकर उपवास खोला। देश की राजधानी दिल्ली के साथ ही नोएडा में तो कई स्थानों पर प्रदूषण के चलते सुहागिनों को रात साढ़े नौ बजे के बाद ही चांद के दर्शन हो सके।


फोटोः गोतमबुद्ध नगर (नोएडा)

पूजन और कथा का श्रवण
इससे पहले करवाचौथ पूजन का शुभ मुहूर्त शाम 5:34 बजे से शुरू हुआ। इस दौरान महिलाओं ने करवाचौथ की कथा सुनी। कोविड के मद्देनजर जहां कई स्थानों में महिलाओं ने घरों पर ही कथा पढ़ी। वहीं मोहल्लों और कालोनियों में एक के घर महिलाएं एकत्र हुई और कथा का श्रवण किया।


फोटोः देहरादून।

श्रृंगार का महत्व
करवा चौथ के दिन व्रती स्त्रियां सोलह श्रृंगार करती हैं। इस दिन लाल रंग के वस्त्र या साड़ी पहनना शुभ माना जाता है। इसी के मद्देनजर एक दिन पहले से ही महिलाओं ने हाथों में मेहंदी रचानी शुरू कर दी थी। इसके चलते बाजारों में भीड़ भी रही। मेहंदी के स्टालों में तो दो तीन दिन से महिलाओं की भीड़ रही। आज करवाचौथ के दिन भी महिलाएं मेंहदी रचाती नजर आई।

फोटोः देहरादून।

दिल्ली में प्रदूषण ने गायब की चांद की चमक

फोटोः दिल्ली

दिल्ली में प्रदूषण और आतिशबाजी के चलते कई स्थानों में लोगों को दीदार लोगों को नहीं हो पाया। महिलाएं पति के साथ पूजा के लिए छतों पर तो पहुंच गई, लेकिन चारों तरफ प्रदूषण ही नजर आ रहा था। दिल्ली के युवक वैभव काला ने बताया कि दिल्ली में प्रदूषण के चलते कई स्थानों पर चांद नहीं दिख रहा। वहीं, लोग आतिशबाजी कर रहे हैं, इसका प्रदूषण भी चांद के दीदार को प्रभावित कर रहा है। उन्होंने बताया कि दिल्ली में चांद के दर्शन का समय रात सवा आठ बजे थे। साढ़े नौ बजे के बाद चांद नजर आया।


फोटोः देहरादून।

विदेशों में भी है क्रेज
भारत ही नहीं विदेशों में भी प्रवासियों में करवाचौथ का क्रेज है। कनाडा टोरंटो में रह रही दिल्ली की मूल निवासी मिनाक्षी नौटियाल ने बताया कि भारत में तो चांद निकल गया, लेकिन यहां चांद का दीदार करने के लिए भारतीय समयानुसार अभी इंतजार करना पड़ेगा। उन्होंने बताया कि यहां भी भारतीय सुहागिनें करवाचौथ का व्रत रखती हैं। यही नहीं हिंदुओं के सभी त्योहारों को बड़े उल्लास से मनाते हैं। पहले सामूहिक रूप से कथा श्रवण का कार्यक्रम होता था। इस बार कोविड के मद्देनजर घर पर ही कथा पढ़ी गई।


फोटोः कनाडा टोरंटो

विदेशों में चांद निकलने का समय, भारतीय समयानुसार
कनाडा टोरंटो- गुरुवार की सुबह 5.30 बजे
शिकागो-गुरुवार की सुबह 6.10 बजे।
लंदन-गुरुवार की अर्धरात्री 12 बजे। (12 AM)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page