July 4, 2022

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

कांग्रेस प्रदेश प्रभारी ने दी नसीहत, फील्ड और कागज दोनों में मजबूत हो संगठन का काम, सरकार पर किया हमला

1 min read

उत्तराखंड कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने कांग्रेस को बूथ स्तर पर मजबूत करने की मुहीम तेज करने के लिए सभी कार्यकर्ताओं और पार्टी पदाधिकारियों को प्रेरित किया। साथ ही फील्ड और कागज दोनों में संगठन को मजबूत करने की नसीहत दी। साथ ही जोड़ा कि कोई भी पार्टी लाइन के बाहर नहीं जाएगा।
लगातार हुई कांग्रेस की जिलेवार बैठक
तीन दिवसीय दौरे पर देहरादून आए प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने आज संगठन की जिलेवार समीक्षा की। इस दौरान पहली बैठक पिथौरागढ़, बागेश्वर व डीडीहाट की हुई। जिसमें राज्य सभा सांसद प्रदीप टम्टा भी शामिल हुए।
दूसरी बैठक में चंपावत नैनीताल व हल्द्वानी जिले की बैठक व तीसरी बैठक अल्मोड़ा, रानीखेत, काशीपुर, हल्द्वानी, रुद्रपुर, उधमसिंह नगर की हुई। अंतिम बैठक में चमोली, रुद्रप्रयाग, टिहरी गढ़वाल , देवप्रयाग , पौड़ी गढ़वाल व कोटद्वार की बैठक हुई।

बनाना होगा समन्वय
इस मौके पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस को बूथ स्तर तक मजबूत करने की मुहीम, संघर्ष और संगठन का काम साथ साथ करना होगा। साथ ही सोशल मीडिया को मजबूत करने में जुटना होगा। उन्होंने कहा कि फील्ड और कागज दोनों में ही संगठन को मजबूत करना होगा। साथ ही कहा कि ब्लॉक, नगर, जिला, महानगर अध्यक्ष, पीसीसी अध्यक्ष के साथ समन्वय बनाकर आंदोलन के साथ ही संगठन की गतिविधियों को तेज करें। उन्होंने हिदायत दी कि पार्टी लाइन के बाहर कोई बात नहीं होनी चाहिए।
बैठकों में प्रदेश अध्यक्ष, पूर्व सीएम व नेता प्रतिपक्ष, एआईसीसी सचिव काजी निजामुद्दीन, सह प्रभारी राजेश धर्माणी, पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय, एआईसीसी पूर्व सचिव प्रकाश जोशी रहे उपस्थित थे ।
त्रिवेंद्र सरकार पर बोला हमला
प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में बुधवार को पार्टी के तमाम दिग्गज नेता मीडिया से मुखातिब हुए। प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने कहा कि जीरो टॉलरेंस का दावा करने वाली सरकार का असली चेहरा सामने आ गया। कांग्रेस पहले से ही सरकार की कथनी और करनी में अंतर को लेकर जनता को आगाह करती रही है। उन्होंने कहा कि 2016 में झारखंड प्रभारी रहते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के परिवार और करीबियों के खाते में धन ट्रांसफर का मामला बेहद गंभीर है। सरकार ने इन आरोपों को नकारा और आरोप लगाने वाले के खिलाफ एफआइआर दर्ज करा दी। अब हाईकोर्ट ने इस मामले में सीबीआइ जांच और दो दिन में एफआइआर दर्ज कराने के आदेश दिए हैं।
उन्होंने कहा कि राज्यपाल से अपेक्षा है कि वह न्याय के पक्ष में खड़े हों। प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि हाईकोर्ट का निर्णय एतिहासिक है। कांग्रेस लोकायुक्त, भ्रष्टाचार के अन्य मामलों को लेकर सरकार की जीरो टॉलरेंस की असलियत सदन से लेकर सड़कों पर जनता के सामने रखती रही है। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने कहा कि हाईकोर्ट के आदेश ने सरकार को कठघरे में खड़ा कर दिया है। इस मौके पर प्रदेश सहप्रभारी राजेश धर्माणी और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page