June 29, 2022

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

फूफा के खाते से उड़ाए आठ लाख, खरीद डाला पूरा बाजार, खबर पढ़कर हैरान हो जाएंगे आप

1 min read

आप यकीन करेंगे कि एक युवक ने फूफा के बैंक खाते में ही सेंध मार दी और अपने लिए पूरा बाजार ही खरीद डाला। पुलिस ने जब युवक को गिरफ्तार कर उससे बरामद सामान की प्रदर्शनी लगाई तो उसे देख हर कोई हैरान रह जाएगा। यानी कि उसने इतना सामान खरीद लिया कि थाने में ऐसा लग रहा था जैसे कोई दुकान सजाई गई हो।
यह है मामला
यह मामला उत्तराखंड के बागेश्वर जिले का है। बागेश्वर के मजियाखेत निवासी मधन सिंह टंगणिया ने बागेश्वर कोतवाली में दिनांक 18 सितंबर 2020 तहरीर दी थी कि उनके एसबीआइ के खाते से किसी ने आठ लाख रुपये निकाल लिए हैं। उन्होंने न तो किसी को अपना एटीएम कार्ड दिया और न ही बैंक से संबंधित जानकारी किसी को शेयर की।
पुलिस ने ऐसे किया खुलासा
पुलिस अधीक्षक मणिकांत मिश्रा ने बताया कि प्रभारी साइबर सैल एवं कोतवाली बागेश्वर को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए। इस पर साइबर सैल बागेश्वर तत्काल प्रकरण उपरोक्त में आवश्यक तकनीकी जानकारी जुटानी शुरू कर दी। प्रकाश में आया कि जिस खाते में रकम ट्रांसफर की गई, वह खाता राजेन्द्र सिंह दफौटी पुत्र श्याम सिंह दफौटी निवासी ढूंगा पोस्ट माल्ता जनपद बागेश्वर का है।
इस पर राजेन्द्र सिंह से उसके खाते में हुए ट्रांजेक्शन के संबंध में सख्ती से पूछा गया। इस पर उसने बताया कि मधन सिंह टंगणिया उसके फूफा हैं। वह दिसंबर 2019 से लगभग तीन महिनें उनके घर मजियाखेत बागेश्वर में ही रहा।


उसने बताया कि फूफा अपने एटीएम कार्ड और मोबाइल घर पर ऐसे ही लापरवाही से रख देते थे। एक दिन फायदा उठाकर उसने AMAZON मे एकाउन्ट बनाया। एकाउन्ट बनाते समय जो ओटीपी आये उन्हे प्रयोग करने के बाद फूफा के मोबाइल से डिलिट कर दिए। इसके बाद उसने AMAZON से शांपिग की और Amazon pay UPI के माध्यम से अपने स्वयं का खाता (0122000000012970 नैनीताल बैंक लि0 बागेश्वर ) के साथ ही अपनी जान पहचान वालों के खाते में फूफा के खातों से रकम ट्रांसफर करनी शुरू कर दी। बाद में वह जान पहचान वालों से रकम वापस ले लेता था।


इस दौरान की जमकर खरीददारी
राजेन्द्र सिंह दफौटी ने पुलिस को बताया कि वह एमेजोन से जो भी सामान खरीदता था, वह जब उसके घर पहुंचता तो उसके परिचित लोग डिलीवरी लेकर उसके घर पर रख देते थे। यदि वह किसी से सामान मंगवाता तो वह उनके खाते में रकम लौटा देता था। बाजार से कोई सामग्री आदि लेने के उपरान्त उनके खातें में UPI के माध्यम से पैसे ट्रांसफर कर देता था।
पुलिस अधीक्षक ने बताया इस मामले में तकनीकी साक्ष्य जुटाने में साइबर सैल के प्रभारी उप निरीक्षक कुन्दन सिंह रौतेला और कांस्टेबल चन्दन राम कोहली की सराहनीय भूमिका रही।
ये सामान हुआ बराामद

  1. स्कूटी ( TVS NTORQ) कीमत- 97,000
  2. ऑटोमेटिक आटा चक्की – कीमत- 18000
  3. फ्रिज (LG)- कीमत- 14000
  4. JBL ब्लूटूथ बूफर – कीमत- 22000
  5. कैमरा (निकोन) – कीमत- 34000
  6. Wooden cutter-कीमत- 11000
  7. सोफा कम्बैड -कीमत- 5000
  8. स्टेन्ड फैन – कीमत- 2500
  9. हीट गन – 2500
  10. मोबाईल फोन (4)- 60,000
  11. नकद – कीमत- 18000
  12. अन्य सामग्री लगभग – कीमत- 40,000
    कुल कीमत – 3,24000 तीन लाख चौबीस हजार रुपये मात्र।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page