July 3, 2022

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

क्रिकेट को करियर बनाने वाले युवाओं के लिए अच्छी खबर, उत्तराखंड में मिलेगा अंपायर और स्कोरर का प्रशिक्षण

1 min read

यदि आपको क्रिकेट का जुनून है। आप अच्छा खेलते हैं तो आप अंपायरिंग और स्कोरर के क्षेत्र में भी भाग्य आजमा सकते हैं। क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड (सीएयू) प्रशिक्षित अंपायर और स्कोरर तैयार करने के लिए 15 दिन का कोर्स कराने जा रही है। इस कोर्स में उत्तीर्ण होने वालों को बीसीसीआइ के घरेलू सत्र में अंपायरिंग और स्कोरिंग का मौका मिल सकता है।
उत्तराखंड में क्रिकेट को मान्यता मिलने के बाद से ही यहां क्रिकेट के क्षेत्र में नित नए प्रयास हो रहे हैं। क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड महिम वर्मा ने बताया कि प्रदेश में अगले महीने पुरुष और महिला वर्ग में अंपायर व स्कोरर के लिए कोर्स कराने की तैयारी है। बीसीसीआइ के ऑफिशियल्स के निर्देशन में यह कोर्स कराए जाएंगे। जल्द ही इसका शेड्यूल जारी किया जाएगा।
उत्तराखंड में प्रशिक्षित ऑफिशियल्स की कमी
उत्तराखंड में प्रशिक्षित ऑफिशियल्स की कमी को दूर करने के लिए बीसीसीआइ के अधिकारियों के निर्देशन में यह कोर्स कराए जाएंगे। कोर्स में पास होने वाले प्रतिभागी बीसीसीआइ के घरेलू सत्र में अंपायरिंग और स्कोरिंग कर सकेंगे। इससे जहां क्रिकेट में रुचि रखने वाले लोगों को रोजगार मिलेगा तो प्रदेश में क्रिकेट को भी तकनीकी रूप से मजबूती मिलेगी। यह कोर्स नवंबर में शुरू कराने की तैयारी है।
बाहर से बुलाने की नहीं पड़ेगी जरूरत
उत्तराखंड को बीसीसीआइ से मान्यता मिलने के बाद प्रदेश की सभी वर्गों की टीमें विभिन्न प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेती आ रही है। इसके अलावा उत्तराखंड को कई मुकाबलों और प्रतियोगिताओं की मेजबानी भी मिल चुकी है। बीसीसीआइ के घरेलू सत्र में अंपायरिंग और स्कोरिंग केवल प्रशिक्षित ऑफिशियल्स ही करते हैं। उत्तराखंड में पर्याप्त संख्या में प्रशिक्षित ऑफिशियल्स नहीं हैं। इस पर बाहरी राज्यों से ऑफिशियल्स बुलाये जाते हैं। अब सीएयू प्रदेश में ही अंपायर और स्कोरर कोर्स के जरिये इस समस्या का समाधान निकालेगा।
15 दिन का होगा कोर्स
अंपायरिंग और स्कोरिंग का यह कोर्स 15 दिन का होगा। बीसीसीआइ ऑफिशियल्स इस बीच प्रतिभागियों को क्रिकेट से जुडी अहम जानकारी देंगे। रोजाना 4 से 5 घंटे इसके लिए पढ़ाई कराई जाएगी। इसके अलावा प्रैक्टिकल भी कराए जाएंगे। कोर्स के अंतिम दिन सभी प्रतिभागियों का टेस्ट कराया जाएगा। टेस्ट में उत्तीर्ण होने वाले प्रतिभागियों को बीसीसीआइ के घरेलू सत्र में अंपायरिंग और स्कोरिंग करने का अवसर मिलेगा।
एक दिन के मिलते हैं दस हजार रुपये
बीसीसीआइ के घरेलू सत्र में अंपायर और स्कोरर को 8 से दस हजार रुपये प्रतिदिन के हिसाब से मानदेय मिलता है। ऐसे में युवा अंपायरिंग और स्कोरिंग को करियर बना सकते हैं।
पूर्व क्रिकेटरों को मिलेगा मौका
इस कोर्स केवल विश्वविद्यालय या जिला लीग स्तर पर क्रिकेट खेले हुए लोग ही हिस्सा ले सकेंगे। साथ ही क्रिकेट की अच्छी जानकारी भी होनी आवश्यक है। विवि या जिला लीग स्तर पर नहीं खेलने वालों को कोर्स में शामिल नही किया जाएगा। इसमें उन पूर्व खिलाड़ियों को भी मौका मिलेगा, जो प्रदेश में बीसीसीआइ से मान्यता नहीं होने की बजह से अपनी प्रतिभा नहीं दिखा सके। उनके लिए ये यह अच्छा अवसर होगा।
उत्तराखंड में 11 अंपायर और 7 स्कोरर
उत्तराखंड में बीसीसीआइ से प्रमाणित कुल सात स्कोरर हैं। लेवल वन अंपायर की संख्या भी कुल 11 ही है। ऐसे में प्रदेश में इन कोर्स के माध्यम से उत्तराखंड क्रिकेट भी तकनीकी रूप से मजबूत होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page