July 4, 2022

Lok Saakshya

Jan Jan Ki Awaj

उत्तराखंड में दो नवंबर से स्कूल तो खुलेंगे, पर नहीं होंगी ये गतिविधियां

1 min read

लॉकडाउन के बाद से बंद पड़े स्कूल दसवीं और 12 वीं के छात्रों के लिए खुलेंगे तो जरूर, लेकिन इस दौरान गाइडलाइन का पालन करना जरूरी होगा। इसकी गाइडलाइन जल्द जारी हो जाएगी। स्कूलों में न प्रार्थना सभाएं होंगी न खेलकूद होंगे। सचिवालय में हुई विभागीय अधिकारियों की बैठक में शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम की ओर से अधिकारियों को ये निर्देश दिए गए हैं।
उत्तराखंड में शिक्षा सचिव ने कहा कि स्कूलों के संबंध में जल्द ही गाइडलाइन जारी कर दी जाएगी। डे और बोर्डिंग स्कूलों के लिए इसमें अलग-अलग दिशा निर्देश जारी किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि स्कूलों को सैनिटाइज किया जाएगा। बच्चों को छह फीट की दूरी पर बैठाया जाएगा।
जिस स्थान पर बच्चे बैठेंगे, वहां दरवाजे और खिड़कियों को खुला रखा जाएगा। सभी बच्चे और शिक्षक मास्क पहनकर आएंगे। अभिभावकों की अनुमति से ही बच्चे स्कूल आएंगे। जो बच्चे स्कूल नहीं आ पाएंगे, उनके लिए ऑनलाइन क्लास जारी रहेगी।
शिक्षा सचिव ने कहा कि स्कूलों में थर्मामीटर से बच्चों के स्वास्थ्य की जांच की जाएगी। इसके अलावा पंपलेट, पोस्टर आदि के जरिये उन्हें कोविड-19 के प्रति जागरूक किया जाएगा। वहीं शिक्षकों को निर्देश दिए गए हैं कि वह स्कूलों में साफ सफाई का विशेष ध्यान रखेंगे।
स्कूल खोलने के निर्णय से पहले अभिभावकों की भी ली गई थी राय
उत्तराखंड में 2334 सरकारी माध्यमिक विद्यालय, 399 राजकीय सहायता प्राप्त विद्यालय, 84 अन्य सरकारी विद्यालय एवं और निजी विद्यालय हैं। कुल 3791 से अधिक माध्यमिक विद्यालय हैं। प्रदेश में स्कूल खोलने से पहले सरकार ने अभिभावकों और शिक्षकों से राय भी ली थी। करीब साठ फीसद लोग स्कूल खोलने के पक्ष में थे। इसी के तहत पहले चरण में स्कूल खोले जा रहे हैं।
गाइडलाइन में ये हो सकते हैं नियम
किसी भी स्कूल में बिना मास्क के छात्र-छात्रओं को एंट्री नहीं मिलेगी। इसके अलावा हर स्कूल के गेट पर थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। अगर किसी का तापमान ज्यादा पाया जाता है तो स्कूल में एंट्री नहीं दी जाएगी। संबंधित छात्र को नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र या फिर उनके अभिभावकों के पास भेज दिया जाएगा। इसके अलावा कक्षाओं में भी नियमित अंतराल पर सैनिटाइजेशन करवाया जाएगा।
बोर्डिंग स्कूल ने भी तैयारी
बोर्डिंग स्कूलों ने भी अपने स्तर से कई तैयारियां कर ली हैं। स्कूल के हॉस्टल में छात्र- छात्रओं के बीच शारीरिक दूरी बनी रहे। इसके लिए हर हॉस्टल में उनकी संख्या कम करने की तैयारी है।
कुछ स्कूल 50 फीसद छात्र बुलाने की तैयारी में
कुछ स्कूल एक दिन में किसी भी कक्षा के 50 फीसद छात्र-छात्राओं को ही स्कूल बुलाने की तैयारी कर रहे हैं। उनके रोल नंबर के हिसाब से ईवन-ऑड फार्मूला लागू किया जाएगा। शारीरिक दूरी का पूरा ध्यान रखते हुए स्कूल में एंट्री दी जाएगी।
नहीं होंगी ये गतिविधियां
केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग से जारी गाइडलाइन के अनुसार स्कूल खुलने के बाद एसेंबली, खेल समेत अन्य आयोजन बंद रखने के निर्देश हैं। देहरादून के स्कूल भी इन निर्देशों का पूरा पालन करने जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page